क्रिकेट का अनाप-शनाप पैसा हर पार्टी के नेताओं के लिए दुधारू गाय है- भारत-पाक क्रिकेट मैच को लेकर बिफरे कुमार विश्वास

कुमार विश्वास ने जम्मू कश्मीर में लोगों को मारे जाने की घटना का ज़िक्र करते हुए राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधा है।

cricket team, t 20 world cup 2021, kumar vishwas
भारतीय क्रिकेट टीम 24 अक्टूबर को पाकिस्तान से टी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप में भिड़ेगी (File Photo)

टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप में 24 अक्टूबर को भारत और पाकिस्तान आमने-सामने  होंगे जिसे लेकर दर्शकों में अभी से ही उत्साह है। हालांकि इस मैच को रद्द करने के लिए कई आवाजें उठ रहीं हैं। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और वीके सिंह ने पाकिस्तान के साथ भारत के मैच को रद्द करने की मांग की है। सोशल मीडिया पर भी एक वर्ग भारत-पाक मैच के खिलाफ है जिसमें कवि कुमार विश्वास भी शामिल हैं। कुमार विश्वास ने जम्मू कश्मीर में लोगों को मारे जाने की घटना का ज़िक्र करते हुए राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधा है।

कुमार विश्वास ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में लिखा, ‘भाड़े के पाकिस्तानी पिट्ठू चाहे सेना के जवानों गोली मार दें या बिहार-उप्र के कामगारों को,लेकिन क्रिकेट का ज़िक्र आते ही हर सरकार यही कहती है “क्रिकेट और राजनीति को अलग-अलग रखिए” कारण यही है कि क्रिकेट का अनाप-शनाप पैसा हर पार्टी के नेताओं के लिए दुधारू गाय है। ग़ज़ब थेथरई है भाई।’

कुमार विश्वास की इस टिप्पणी पर ट्विटर यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। अधिकतर लोग भारत पाक मैच की वकालत करते दिख रहे हैं। शुभम यादव नाम के एक यूजर ने कुमार विश्वास को जवाब दिया, ‘बात क्रिकेट को राजनीति से अलग करने की नहीं है। अगर हम खेलने से मना करते हैं तो इसका सीधा फायदा पाकिस्तान को मिलेगा और पाकिस्तान चाहता है कि हम खेलने से मना करें क्योंकि विश्व कप में वह अभी तक एक बार हमसे नहीं जीता है और हम मना करते हैं तो वह जीता हुआ माना जाएगा।’

मयंक कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘फिर इस लॉजिक से बॉर्डर पर भी पाकिस्तान से लड़ना नहीं चाहिए। एकतरफ़ा जीतने दो। अगर पाकिस्तान को हमारी टीम हरा देती है वो ज्यादा अच्छा होगा या खुद हम उन्हें फ्री में जीत दे दें और वर्ल्ड कप से बाहर हो जाएं?’

वहीं प्रमिला नाम की एक यूजर ने कुमार विश्वास की बातों से सहमति जताते हुए उन्हें जवाब दिया, ‘राजनीति, मीडिया, बाजार सब चाहते हैं कि मैच हो। करोड़ों-अरबों का वारा न्यारा होगा। पाकिस्तान-इंडिया मैच की टीआरपी को देखते हुए अलग से अंधाधुंध विज्ञापन बनेंगे। चैनल वाले भी अपनी दूकान सजाकर बैठेंगे। हमारे और आपके लिए पैसे से ऊपर देश है। इनके लिए नहीं। ये सेना का अपमान नहीं तो क्या है?’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी को आरोपों की जांच करने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशSupreme Court, Army, Army shoot crowd, Delhi
अपडेट