ताज़ा खबर
 

ज़ायरा वसीम पर टीवी ‘दंगल’: अमीन शाह से भिड़े अशोक पंडित, कहा- आप इस्लाम के नाम पर कलंक

दंगल की हिरोइन ज़ायरा वसीम को सोशल मीडिया पर अपशब्द कहने पर हुई टीवी बहस में जम्मू-कश्मीर के मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सदस्य अमीन शाह ने कहा कि अगर ज़ायरा मुसलमान है तो उसे उसी के अनुसार रहना होगा।

दंगल के एक दृश्‍य में जायरा वसीम। (Source: Film Screenshot)

आमिर खान की फिल्म दंगल में महिला पहलवान गीता फोगाट के बचपन की भूमिका निभाने वाली कश्मीरी अभिनेत्री ज़ायरा वसीम को सोशल मीडिया पर अपशब्द कहे जाने पर एक निजी टीवी चैनल ने बहस करायी तो फिल्म निर्माता अशोक पंडित और जम्मू-कश्मीर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव पीरजादा मोहम्मद अमीन शाह ऑनस्क्रीन ही एक-दूसरे से भिड़ गये। बहस में शाह ने कह दिया कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग न था, न है” तो पंडित ने उन्हें कश्मीर की तबाही का जिम्मेदार बताते हुए “इस्लाम के नाम पर कलंक बता दिया।” आमिर खान की फिल्म दंगल महावीर सिंह फोगाट और उनकी बेटियों गीता फोगाट और बबीता फोगाट के जीवन पर आधारित है। गीता फोगाट कॉमनवेल्थ खेलों में कुश्ती में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान हैं। उनके बाद उनकी बहन बबीता फोगाट ने भी कॉमनवेल्थ खेलों में गोल्ड जीता था।

समाचार चैनल टाइम्स नाउ के कार्यक्रम में बहस के दौरान अमीन शाह ने कहा कि अगर ज़ायरा मुसलमान है और इस्लाम में यकीन रखती है तो उसे उसी के अनुसार रहना होगा। जब शाह से पूछा गया कि क्या वो ये कहना चाहते हैं कि ज़ायरा को हिजाब पहनना चाहिए तो इस सवाल से बचते हुए उन्होंने कहा कि “अगर वो मुसलमान है तो उसे कुरान की कमांडेंट फॉलो करना चाहिए…उसे मुसलमान की तरह रहना चाहिए…केवल नाम होने से कोई मुसलमान नहीं हो जाता…।”

अमीन शाह ने बहस के दौरान ज़ायरा वसीम को कश्मीरियों के लिए रोल मॉडल मानने का भी विरोध किया। शाह ने कहा, “वो रोल मॉडल नहीं है। वो जो कर रही है अपने लिए कर रही है।” बहस के दौरान शाह ने कहा आप जिन्हें रोल मॉडल बता रहे हैं उन लड़कियों के बारे में मैगज़ीन में “सेक्सी और बॉम्ब सेल लफ्ज इस्तेमाल होते हैं।”

बहस में शामिल फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने बहस के दौरान अमीन शाह की बातों पर भड़क गए। पंडित ने कहा, “पीरजादा साहब आप ही सबसे ज्यादा पढ़ते और देखते हैं ऐसी मैगज़ीन। इस्लाम के नाम पर आप कलंक हैं। आपने कश्मीर की नई पीढ़ी को खत्म किया है। बच्चों को चरस, गांजा, शराब की लत और पत्थर फेंकने में लगाया।”

शाह और पंडित के बीच हुई तू-तू-मैं-मैं के दौरान शाह ने कह दिया कि वो “खुद को गुलाम मानते हैं” जबकि पंडित ने शाह को कश्मीरी पंडितों के निर्वासन के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा, “कश्मीर को तबाह करने वाले आप हैं। आपने हिन्दुस्तान का पैसा लूटा है। हिन्दुस्तान का पैसा खाया है और हमें लेक्चर दे रहे हैं।”

ज़ायरा जब जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मिलीं तो सोशल मीडिया पर बहुत सारे लोग उनकी आलोचना करने लगे। कई सोशल मीडिया यूज़र को उन्हें कश्मीरी युवाओं का रोल मॉडल बताए जाने पर एतराज था। लोगों द्वारा की गयी आलोचना के बदा ज़ायरा ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर माफी मांगते हुए कहा कि वो “कश्मीरी युवाओं की रोल मॉडल नहीं हैं।” बाद में ज़ायरा ने उस पोस्ट को डिलीट कर दिया और एक और पोस्ट करते हुए सफायी दी। बाद में उन्होंने वो पोस्ट भी डिलीट कर दी।

वीडियो: दंगल में गीता फोगट का किरदार निभाने वाली जायरा वसीम ने मांगी माफी; सोशल मीडिया पर किया गया था ट्रॉल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App