ताज़ा खबर
 

दिग्गजों की डुगडुगी: अक्षय का नुकसान, विद्या बालन की मुश्किल, प्रियदर्शन की उम्मीद

कोरोना काल में सबसे ज्यादा नुकसान अगर किसी अभिनेता को उठाना पड़ रहा है तो वे हैं अक्षय कुमार।

(बाएं) अक्षय कुमार, विद्या बालन, प्रियदर्शन।

अक्षय का नुकसान

कोरोना काल में सबसे ज्यादा नुकसान अगर किसी अभिनेता को उठाना पड़ रहा है तो वे हैं अक्षय कुमार। सलमान, आमिर, शाहरुख या ऋत्विक रोशन तो ऐसे अभिनेता हैं जिनकी साल दो साल में एक फिल्म रिलीज होती है मगर अक्षय कुमार की साल में कम से कम तीन फिल्में रिलीज होती रही हैं। इस साल उनकी तीन फिल्में ‘सूर्यवंशी’, ‘बेल बॉटम’ और ‘पृथ्वीराज’ रिलीज के लिए तैयार हैं। ‘सूर्यवंशी’ की रिलीज तारीख तो एक साल में कई बार बदल चुकी हैं । यही हाल हो रहा है ‘बेल बॉटम’ का। हां ‘पृथ्वीराज’ जरूर दीपावली पर रिलीज होने की घोषणा हुई है। बीते साल ओटीटी पर रिलीज हुई ‘लक्ष्मी’ से अक्षय के करिअर को कोई फायदा नहीं हुआ। अगले साल उनकी ‘राम सेतु’, ‘रक्षाबंधन’, ‘बच्चन पांडे’ और ‘अतरंगी’ रिलीज होंगी। 1991 से अब तक एक भी साल ऐसा नहीं रहा है, जब अक्षय कुमार की फिल्म रिलीज नहीं हुई हो। मगर 2021 में अभी तक अक्षय कुमार की एक भी फिल्म रिलीज नहीं हो पाई है जबकि उनकी तीन-तीन फिल्में रिलीज के लिए तैयार हैं।

विद्या बालन की मुश्किल

विद्या बालन की जो मुश्किल है वह बॉलीवुड की हर दूसरी अभिनेत्री की मुश्किल है। कई हिट फिल्मों में खुद को बेहतरीन अभिनेत्री साबित करने के बावजूद उनका करिअर एक समय के बाद हाशिए पर आ जाता है। उनकी पिछली फिल्म ‘शेरनी’ ओटीटी पर रिलीज हुई। ‘कहानी’, ‘द दर्टी पिक्चर’, ‘इश्किया’, ‘पा’, ‘नो वन किल्ड जेसिका’, ‘घनचक्कर’, ‘लगे रहो मुन्नाभाई’ में विद्या बालन ने जिस तरह के तेवर दिखाए थे, उससे लगता था कि बॉलीवुड में लंबे समय तक दबदबा बनाकर रखेंगी। उनकी 32 करोड़ की ‘मिशन मंगल’ ने 300 करोड़ कमा कर दिए मगर विद्या बालन के करिअर ने उछाल नहीं मारी। सारा क्रेडिट अक्षय कुमार ले गए। विद्या बालन के सामने फिलहाल मुिश्कल यह है कि उनके पास फिल्मों का ढेर नहीं है और बॉलीवुड में उसे ही काम मिलता है जिसके पास पहले से ढेर सारा काम हो।

प्रियदर्शन की उम्मीद

मशहूर फिल्मकार प्रियदर्शन ने उम्मीद जताई है कि निकट भविष्य में स्टार सिस्टम बेमानी होगा और कहानी का प्रस्तुतिकरण महत्वपूर्ण हो जाएगा। बतौर लेखक उन्होंने अपना करिअर मलयालम फिल्म ‘तिरनोत्तम’ (1978) से शुरू किया था। उसमें कोई स्टार नहीं था। यह फिल्म अभिनेता मोहनलाल की पहली फिल्म थी, जनमें प्रियदर्शन भी थे। बदकिस्मती से यह फिल्म रिलीज ही नहीं हो पाई। फिल्म सेंसर में फंस गई। इसे रिलीज होने में 25 साल लगे। अमरीश पुरी को मुख्य भूमिका में रखकर पहली हिंदी फिल्म ‘मुस्कराहट’ या परेश रावल को केंद्रीय भूमिका में लेकर ‘मालामाल वीकली’ जैसी फिल्में प्रियदर्शन ने बनार्इं। प्रियदर्शन की ताजा फिल्म ‘हंगामा 2’ में परेश रावल, शिल्पा शेट्टी की प्रमुख भूमिकाएं हैं, जो आज डिज्नी प्लस हॉट स्टार पर रिलीज होने जा रही है।

Next Stories
1 बॉलीवुड के चमकते चेहरों के पीछे छिपी कमाई की भद्दी सोच
2 फिल्मजगत का डर, छिन जाएगी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता
3 आयकर विभाग को ही सभी अखबारों का संपादक बना दो- भास्कर पर छापे के बाद बोले रवीश कुमार, लोग कर रहे इमरजेंसी से तुलना
ये पढ़ा क्या?
X