ताज़ा खबर
 

कभी-कभी अक्ल घास चरने चली जाती है- यूपी महिला आयोग की सदस्य के बयान पर भड़के पूर्व IAS

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधों को लेकर विवादित बयान दिया है। उनके बयान को लेकर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह भी भड़के हुए नजर आए।

यूपी महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी। (फोटो- टीवी ग्रैब)

उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी अपने एक बयान को लेकर विवादों के घेरे में आ गई हैं। दरअसल, मीना कुमारी ने माता-पिता से लड़कियों को मोबाइल न देने की अपील की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मोबाइल की वजह से लड़कियां घर छोड़कर लड़कों के साथ भाग जाती हैं। मीना कुमारी ने माता-पिता से अपनी बेटियों पर नजर रखने का अनुरोध भी किया। उनके इस बयान को लेकर पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह भड़के हुए नजर आए। उन्होंने ट्वीट कर मीना कुमारी पर गुस्सा जाहिर किया और कहा कभी-कभी अक्ल घास चरने चली जाती है।

सूर्य प्रताप सिंह का मीना कुमारी को लेकर किया गया यह ट्वीट खूब सुर्खियां बटोर रहा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “यूपी में बेटी बचाओ का नया नारा- बेटी से मोबाइल छीन लो। जींस में छेद नहीं, मस्तिष्क में छिद्र है इनके। तभी तो हाथरस, उन्नाव, बदायूं, कासगंज होते हैं यहां।”

सूर्य प्रताप सिंह ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, “लड़कों के साथ उठती बैठती हैं, मोबाइल से बात करते-करते लड़कों के साथ भाग जाती हैं- मीना कुमारी, सदस्य महिला आयोग, यूपी। कभी-कभी अक्ल घास चरने चली जाती है, इसीलिए तो कहा गया है।”


पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह के इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर भी खूब कमेंट कर रहे हैं। प्रियंका सिंह नाम की एक यूजर ने लिखा, “एक महिला होते हुए भी बेटियों पर इस तरह की भाषा का प्रयोग करने में शर्म नहीं आती है इनको।” महेश नाम के एक यूजर ने मीना कुमारी को बर्खास्त करने की मांग करते हुए लिखा, “इनसे महिला आयोग की जिम्मेदारी नहीं संभल रही है।”

सूर्य प्रताप सिंह के ट्वीट पर आए कमेंट यहीं नहीं रुके। श्रुति नाम की यूजर ने लिखा, “महिला आयोग में बैठी हुई महिला की इतनी गंदी सोच। इसमें कोई शक नहीं है कि यही वे महिलाएं होती हैं, जो दुष्कर्म के बाद लड़कियों में गलतियां निकालती हैं।” लड़कियों को न दें मोबाइल, लड़कों के साथ भाग जाती हैं

बता दें कि मीना कुमारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था, “महिला अपराध पर सख्ती तो खूब हो रही है। लेकिन हम लोगों के साथ-साथ समाज को भी इसमें कार्रवाई करनी पड़ेगी। अपनी बेटियों को भी देखना होगा कि वह कहां जा रही हैं, किस लड़के के साथ बैठ रही हैं, मोबाइल को भी देखना पड़ेगा। सबसे पहले मैं सबको यही बोलती हूं कि लड़कियां मोबाइल से बातें करती रहती हैं और मैटर यहां तक पहुंच जाता है कि उसको लेकर भाग जाती हैं। शादी कर लेती हैं।”

मीना कुमारी ने अपने बयान में आगे कहा कि मैं लोगों से अपील करूंगी कि घरवाले बेटियों को मोबाइल न दें और दें तो उस पर पूरी निगाह रखें। मैं सबसे पहले मांओं से यह कहूंगी कि वह बेटियों का ध्यान रखें।

Next Stories
1 सुशांत सिंह राजपूत पर बनी फिल्म पर पिता केके सिंह ने की थी रोक लगाने की मांग, दिल्ली HC ने खारिज की याचिका
2 शो ऑफ करते हैं! पापा के लिए बोल पड़ी थीं आयरा खान, जानिए बेटी के साथ कैसा बॉन्ड शेयर करते हैं आमिर खान?
3 ये सोचना भी मत कि मैं उनके खिलाफ बोलूंगी- जब राजेश खन्ना के लिए रिपोर्टर पर बरस पड़ी थीं डिंपल कपाड़िया
ये पढ़ा क्या?
X