ताज़ा खबर
 

पेट्रोल-खाने के तेल से लेकर रेल का किराया तक डेढ़ गुना हो गया- बोले पूर्व IAS, लगता है देश अमीर हो गया

पेट्रोल-खाने के तेल से लेकर रेल का किराया हर चीज के दाम बढ़ते देख रिटार्ड IAS ऑफिसर सूर्य प्रताप सिंह ने मोदी सरकार पर तंज करना शुरू कर दिया।

पूर्व IAS अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह (Photo- Twitter)

पूर्व आईएएस ऑफिसर सूर्य प्रताप सिंह ने मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि ‘लगता है देश अमीर हो गया है।’ पेट्रोल-खाने के तेल से लेकर रेल का किराया हर चीज के दाम बढ़ते देख रिटार्ड IAS ऑफिसर सूर्य प्रताप सिंह ने तंज कसते हुए कहा – ‘लगता है पूरा देश अमीर हो गया है, आजकल महंगाई छोड़ हर चीज मुद्दा है। 100 रु पेट्रोल और 150 रु खाने का तेल है, रेल से लेकर विमान तक का किराया डेढ़ गुना हो गया है। वैसे बेरोजगारी और महंगाई की दोहरी मार झेल रहे राष्ट्रहित को समर्पित सैनिक भी अब दबी जबान में दर्द-ए-दिल कहने लगे हैं।’

अपने एक अन्य पोस्ट पर सूर्य़ प्रताप सिंह ने सरकार को घेरते हुए कहा- ‘ट्विटर पर लगाम, सरकारी क़ानूनों को और सख्त बनाना, अभिव्यक्ति की आज़ादी को तार तार करना, आज तुम्हें पसंद आ रहा है। कल जब सत्ता बदलेगी और तुम पर मुक़दमे किए जाएंगे तो जिस सरकार के लिए तुम लड़ रहे हो वही बचाने नहीं आएगी। याद रखना, बोलने की आज़ादी छीन तुम खुद को गूंगा बना दोगे।’

पूर्व आईएएस के पोस्ट देख सोशल मीडिया पर ढेरों लोगों के कमेंट आने लगे। अनुराधा नाम की एक यूजर ने लिखा- ‘भारत का पैसा मोदी, अदानी, शाह, अंबानी, योगी जी और उनके परिवार के पास है। इसलिए बाकी भारत में गरीब हैं।’

विकास सिंह नाम के यूजर ने कहा- ‘क्रांति आने का प्रमुख कारण बनता जा रहा है। बस अब युवाओं को एक विचारधारा युवावाद के जरिये एक मंच पर लाना है। बस फिर होगी भारत की सबसे बड़ी क्रांति #युवावाद।’ रामचरितमानस की दो चौपाइयां सुनाओ- लाइव डिबेट में ‘चंदा चोर’ कह कांग्रेस नेता ने किया गौरव भाटिया को चैलेंज

प्रिया नाम की महिला यूजर बोलीं- ‘सर अगर आप साथ दें तो दिल्ली में असहयोग अन्दोलन शुरू किया जाये? क्योंकि मुझें नहीं लगता कोई और आरंभ करेगा। हम अपनी आवाज बुलंद करेंगे। इस समय आप एकमात्र व्यक्ति हैं जो इस तानाशाह की कमर तोड़ सकतें हैं। सर आप आगे आकर भारत की जनता का सहयोग करें। ‘ नीरज कुमार नाम के शख्स ने कहा- ‘आप में देश के लिए कुछ कर गुजरने की चाहत है।’

प्रदीप नाम के शख्स ने लिखा- ‘यह देश अंधो का देश है। यहां धर्म, जाति, वंश, लिंग, और प्रदेश के नाम पर अंधे हैं सब। यहां काम पर राजनीति नहीं होती, यहां राजनीति का मुद्दा भी धर्म होता है। यहां मूलभूत सुविधाएं और रोजगार के बारे में कोई नहीं सोचता।’

Next Stories
1 रामचरितमानस की दो चौपाइयां सुनाओ- लाइव डिबेट में ‘चंदा चोर’ कह कांग्रेस नेता ने किया गौरव भाटिया को चैलेंज
2 पुण्य प्रसून बाजपेयी ने बताया तेल से कमाई का गणित, मोदी सरकार को सुनाई खरी-खोटी
3 वरुण धवन की ‘भेड़िया’ का फिल्मांकन 26 जून से मुंबई में
ये पढ़ा क्या?
X