X

लव सोनिया में सेक्स वर्कर बनीं ऋचा चड्ढा को लेनी पड़ी थी सायकियाट्रिस्ट की मदद

तब्रेज नूरानी के निर्देशन में बनी इस फिल्म की कहानी ऐसी लड़कियों की है जिन्हें देश के कोने-कोने से निकाल कर ह्यूमन ट्रैफिकिंग और प्रॉस्टिट्यूशन में धकेल दिया जाता है। इस फिल्म में काम करते वक्त एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा काफी डिस्टर्ब हो गई थीं।

‘लव सोनिया’ एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा बताती हैं कि इस फिल्म में काम करने के बाद उन्हें सीधा असर उनके दिमाग पर हुआ। इसके चलते उन्हें सायकियाट्रिस्ट की मदद लेनी पड़ी। फिल्म में ऋचा एक सेक्स वर्कर की भूमिका में हैं। तब्रेज नूरानी के निर्देशन में बनी इस फिल्म की कहानी ऐसी लड़कियों की है जिन्हें देश के कोने-कोने से निकाल कर ह्यूमन ट्रैफिकिंग और प्रॉस्टिट्यूशन में धकेल दिया जाता है। इस फिल्म में काम करते वक्त एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा काफी डिस्टर्ब हो गई थीं।

‘टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक एक्ट्रेस कहती हैं- ‘इस तरह की फिल्मों के लिए सही कास्ट बहुत जरूरी है। इस फिल्म को पूरा करने के बाद मुझे सायकियाट्रिस्ट मदद लेनी पड़ी थी। इस फिल्म ने मुझे काफी प्रभावित किया था जिसका गहरा असर मुझपर पड़ा। एक इंसान दूसरे इंसान के साथ क्या कर सकता है ये जानकर मैं बहुत हैरान रह गई थी। फिल्म की रीसर्च के वक्त मैं कई लड़कियों से मिली। मैंने उनकी कहानी सुनी। ये कहानियां मेरे लिए बहुत ही शॉकिंग थीं। एक घर में 7 बच्चे थे। ऐसे में उनके माबाप ने अपनी सबसे बड़ी बेटी को 40,000 रुपए में बेच दिया। उन लोगों को लगा कि वह बच्ची शहर जाकर कोई काम काज करेगी वह इस बारे में नहीं जानते थे। कुछ लड़कियां अपने रिश्तेदारों द्वारा वहां पहुंची। उनमें से एक बच्ची की स्टोरी बहुत ही हैरान कर देने वाली थी। वह मंदिर में खेल रही थी। इस दौरान पुजारी ने उसका रेप कर दिया। इसके बाद जब वह प्रेग्नेंट हो गई तो गांव के लोगों ने उसे खूब खरीखोटी सुनाई। इसमें उसके माता पिता भी शामिल थे। उन लोगों ने यह मानने से इनकार कर दिया कि पुजारी ऐसा भी कर सकता है। इसके बाद उसका 6-7 महीने में कई बार रेप हुआ। ये सब हकीकत बहुत ही परेशान कर देने वाली थीं।’

ऋचा बताती हैं-‘पहले इस फिल्म को करने से मैंने इनकार कर दिया था। लेकिन बाद में मैं जब तब्रेज से मिली तो मुझे अहसास हुआ कि वह जेन्युअन है और यह कुछ चीप नहीं होगा। सच बताऊं प्रॉस्टिट्यूशन और ह्यूमन ट्रैफिकिंग पर बेस्ड कई स्क्रिप्ट मेरे पास आई हैं। लेकिन इस स्क्रिप्ट ने जो प्रभाव मुझपर छोड़ा मैं बयां नहीं कर सकती। आप ऐसी बच्ची को कैसे जज कर सकते हैं जो 6 साल की उम्र में ही किडनैप हो गई हो और इस दलदल में फंसा दी गई हो। आपमें थोड़ी समझ होनी चाहिए। इसके बाद मैंने इस फिल्म के लिए हां कर दिया। तब्रेज ने मुझसे कहा था- कि अगर आप इस स्क्रिप्ट को लेकर असहज हैं तो आप इसे रहने दें। इसके बाद मुझे लगा कि ये फिल्म करनी चाहिए।’


  • Tags: Richa Chadda,
  • Outbrain
    Show comments