ताज़ा खबर
 

प्राउड इंडियन डायरेक्टर ने फिल्म पर बैन के बाद ‘पाकिस्तान में जो कोई भी इंचार्ज हो’ के नाम लिखा खुला पत्र, दी एक आम पाकिस्तानी को दिखाने की चुनौती

बॉलीवुड फिल्म 'हैप्पी भाग जाएगी' पाकिस्तानी कलाकारों ने भी काम किया है, हुई है लाहौर में भी शूटिंग।

Author Updated: August 24, 2016 8:53 PM
हैप्पी भाग जाएगी का एक दृश्य

पिछले हफ्ते रिलीज हुई फिल्म ‘हैप्पी भाग जाएगी’ पर पाकिस्तान में बैन लगा दिया गया है। फिल्म में डायना पेंटी, अभय देओल, जिमी शेरगिल, अली फ़ज़ल के अलावा पाकिस्तानी अभिनेता जावेद शेख और अभिनेत्री मोमल शेख मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म की कहानी दोनों देशों के आम लोगों के बीच प्यार-मोहब्बत भरे संबंधों के ईर्द-गिर्द घूमती है। इस फिल्म के कुछ हिस्सों की शूटिंग पाकिस्तान के लाहौर में हुई थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर दिखाने और पीयूष मिश्रा द्वारा निभाए गए पाकिस्तानी पुलिस वाले के रोल पर पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड को आपत्ति थी। मंगलवार को फिल्म के लेखक-निर्देशक मुदस्सर अज़ीज़ ने पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड को एक खुला पत्र लिखा। ये पत्र मंगलवार को द क्विंट पर प्रकाशित हुआ है।

‘पाकिस्तान में जो कोई भी इंचार्ज हो’ को संबोधित अपने पत्र की तंजिया अंदाज में शुरुआत करते हुए अज़ीज़ ने लिखा है, “मैं भारतीय फिल्म ‘हैप्पी भाग जाएगी’ का लेखक/निर्देशक हूं बोल रहा हूं!!! क्या आप सुन रहे हैं?! अरे माफ कीजिएगा, मेरा जो आखिरी अनुभव है (जब मेरी फिल्म आपके देश में रिलीज होने वाली थी) तो आप न सुनते थे, न देखते थे और न ही महसूस करते थे। इसलिए एक बार मुझे बोलने दीजिए, भले ही इस बार भी आप मेरी बात न सुनें।”

अज़ीज़ ने अपने पाकिस्तान में हुए अनुभवों को बयान करते हुए अपने खुले पत्र में लिखा है, “आपके लिए ये बहुत ही ज्ञान की जानकारी हो सकती है कि आपके देश के बारे में लोगों की “आम धारणा” ऐसे देश की है जहां कानून व्यवस्था और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता जैसी कोई चीज नहीं है।….लेकिन आपके देश जाकर जब मैं वहां के आम लोगों और मीडिया से मिला तो मुझे पता चला कि ये “आम धारणा” गलत है। दरअसल पाकिस्तान में अपार संभावनाएं हैं और रोशन और जिज्ञासु दिमाग वालों का मुल्क है।”

Read Also: ‘हैप्पी भाग जाएगी’ पर पाकिस्तान में लगा बैन, जिन्ना की तस्वीर दिखाने पर सरकार को एतराज

पाकिस्तान में अपने बहुत ही खुशुनमा अनुभवों के बाद “हैप्पी भाग जाएगी” पर बैन लगाए जाने से अज़ीज़ को बेहद दुख हुआ। अज़ीज़ लिखते हैं, “सत्तर साल पुरानी सरहद के दोनों तरफ के आम लोगों के लगाव, ईमानदारी, प्यार और छोटी-मोटी खामियों को दिखाने वाली पहली फिल्म आपको नागवार गुजरी! वाह! ”

अज़ीज़ लिखते हैं, “मैं हतप्रभ रह गया! कितने शर्म की बात है! काश की मैं आपकी ‘नापसंदगी’ का सम्मान कर सकता लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकता। मैं बताता हूं क्यों…क्योंकि ये नकली है!” अज़ीज़ ने ‘पाकिस्तान में जो कोई भी इंचार्ज हो’ को चुनौती दी है कि वो किसी एक आम पाकिस्तानी को “हैप्पी भाग जाएगी” दिखा कर देखें। एक ऐसा पाकिस्तानी जो अपने परिवार को प्यार करता हो, मेहनत से रोजी-रोटी कमाता हो, क्रिकेट को प्यार करता हो, फिल्मों से प्यार करता हो और आप द्वारा थोपी गई बकवास के तले एक आम जिंदगी जीता हो। अज़ीज़ ने अपने पत्र में वादा किया है कि अगर आम पाकिस्तानी को उनकी फिल्म नागवार गुजरी तो वो अपने खुल पत्र से लंबा माफीनामा लिखकर भेजेंगे।

अज़ीज़ ने पत्र में साफ किया है कि वो पाकिस्तान में फिल्म के बैन पर इसलिए पत्र नहीं लिख रहे कि उन्हें कारोबारी नुकसान होगा. अज़ीज़ लिखते हैं, “मैं ये पत्र एक रचनात्मक इंसान के तौर पर लिख रहा हूं जिसकी रचनात्मकता अपनी मंजिल पर पहुंचने से पहले ही ठोकर से टकरा गई।” अज़ीज़ ने अपने पत्र में पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड से पूछा है, “…आपको मुझे बताना चाहिए कि आपके वो कौन से निहित स्वार्थ हैं जो मेरी फिल्म को रोकने से पूरे होते हैं। क्या आप चाहते हैं कि दुनिया में आपके लोगों के बारे में जो राय है वो बनी रही? क्या आप लोगों के बीच निजी दोस्ती पसंद नहीं करते? क्या इसलिए कि जावेद शेख (मशहूर पाकिस्तानी अभिनेता) पर आपको फक्र नहीं है? या इसलिए कि मोमल शेख ( मेरी फिल्म में काम करने वाली पाकिस्तानी अभिनेत्र जिन्हें भारत में जमकर तारीफ मिल रही है) एक पाकिस्तानी महिला हैं जिसे आगे बढ़ने से आप रोकना चाहते हैं? या फिर इसलिए कि आपके बारे में जो कहा जाता है वो सच है? कि आप दोस्ती के बजाय नफरत में यकीन रखते हैं?” अज़ीज़ ने अपने पत्र के आखिर में लिखा है कि इन सवालों को जवाब उन्हें नहीं चाहिए बल्कि उन्हें ये जवाब आम पाकिस्तानी को देने चाहिए।

पत्र के अंत में अज़ीज़ ने खुद को एक प्राउड इंडियन बताते हुए लिखा है, ‘हैप्पी भाग जाएगी’ का लेखक-निर्देशक, “वो फिल्म जो आम पाकिस्तानी की मोहब्बत और अच्छाई को दिखाने की हिम्मत करती है। जिसे आप छिपाना चाहते हैं!”

देखें दिन भर की पांच बड़ी खबरें:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भारत में अक्टूबर में रिलीज होगी ‘क्वीन ऑफ काटवे’
2 टीवी पर भद्रकाली अवतार में दिखेंगी मदिराक्षी
3 मराठी फिल्म ‘सैराट’ की मार्केटिंग स्ट्रैटेजी कॉपी कर रहे हैं ‘बार-बार देखो’ के मेकर्स
ये पढ़ा क्‍या!
X