आभासी मंच का बढ़ता दायरा

ओटीटी प्लेटफार्म पर आज दर्शक हर तरह की फिल्में देख रहे हैैं।

सांकेतिक फोटो।

आरती सक्सेना

ओटीटी प्लेटफार्म पर आज दर्शक हर तरह की फिल्में देख रहे हैैं। फिर चाहे वो हिंदी या इंग्लिश फिल्में हों या राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय फिल्में ही क्यों ना हों। दर्शकों के इस मनोरंजन के लिए सबसे ज्यादा श्रेय जाता है तीसरा पर्दा अर्थात ओटीटी प्लेटफार्म का। सलमान खान और अक्षय कुमार जैसे बड़े सितारों की फिल्में ओटीटी पर भी असफल हो गई तब से बालीवुड निर्माता भी समझ गए कि दर्शकों को अब बड़े सितारे नहीं बल्कि अच्छी कहानी चाहिए। अच्छी कहानी की तलाश में बालीवुड में क्षेत्रीय भाषायी फिल्मों की ‘रीमेक’ के साथ-साथ हालीवुड फिल्मों की ‘रीमेक’ फिल्में भी बन रही हैं। पेश है इसी सिलसिले पर एक नजर …

क्षेत्रीय भाषाई फिल्मों की भारी मांग ….
एक समय था जब लोग सिर्फ हिंदी या यूं कहिए अपनी भाषा की फिल्में देखना ही पसंद करते थे। दर्शकों के पंसदीदा सितारे उन पर इतने हावी थे कि वो अपने पसंदीदा सितारों या कई बड़ी हस्तियों वाली फिल्में ही देखते थे। फिर चाहे वो फिल्म कितनी ही घिसी-पिटी क्यों ना हो। इसके चलते फिल्मों का स्तर दिन ब दिन गिर रहा था। ऐसा लगता था जैसे अच्छी फिल्में बनना ही बंद हो गई है, लेकिन पिछले दो-तीन सालों मे ‘ओटीटी प्लेटफार्म’ की मेहरबानी से दर्शकों को अब फिल्मों और वेब सीरीज में काफी कुछ नया देखने को मिल रहा है। ओटीटी पर आज दर्शक सिर्फ हिंदी फिल्में ही नहीं देख रहे, बल्कि मराठी, मलयाली, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, भोजपुरी, कोरियन, टर्किश, चाइनीज, जापानी आदि कई भाषा की फिल्में देख रहे हैं। विभिन्न देशों की फिल्मों के जरिए दर्शकों को न सिर्फ उस देश की संस्कृति देखने का मौका मिल रहा है, बल्कि अच्छी कहानियों पर बनी फिल्में देखने का भी मौका मिल रहा है।

ओटीटी पर क्षेत्रीय फिल्मों की लोकप्रियता का अंदाजा उसकी लगातार रिलीज फिल्मों से लगाया जा सकता है। इसके चलते ओटीटी पर आज मलयालम फिल्म द ग्रेट किचन, दृश्यम 2, मिस इंडिया तेलुगु में लगातार देखी जा रही है। इसके अलावा तेलुगु फिल्म टंक जगदीश, क्रिकेटर हरभजन सिंह पर बनी तमिल फिल्म जो जी 5 पर देखी जा रही है। साइंस फैंटेसी फिल्म डिक्की लूना, डिजनी हाटस्टार पर फिल्म अंधाधुन की रीमेक मायस्ट्रो जो तेलुगु में बनी है। तापसी पन्नू की फिल्म एनाबेल सेतुपति, रिद्धीसेन अभिनीत बंगाली फिल्म सामंतरल, सोनम बावेजा की हिट पंजाबी फिल्म पुआड़ा और परमब्रत आदि फिल्में ओटीटी पर तहलका मचा रही हैं। इतना ही नहीं हाल ही में रिलीज हुई ओटीटी पर नरप्पा तेलुगु में, मालिक मलयालम में आदि कई क्षेत्रीय फिल्में 3200 से जयादा हिंदुस्तान के कई शहरों में और 150 से ज्यादा बाहरी देशों में देखी जा रही हैं। मराठी फिल्म फोटो प्रेम और वेल इन बेबी को भी दुनिया भर के दर्शकों द्वारा सराहा जा रहा है।

बालीवुड भी अच्छी कहानी की तलाश में…
आज बालीवुड भी इस बात को समझ चुका है कि अगर उनकी फिल्म की कहानी अच्छी नहीं होगी तो करोड़ोें के बजट वाली फिल्म भी पूरी तरह असफल हो जाएगी। फिर चाहे वो कितने ही बड़े बजट या बड़े सितारों की फिल्म क्यों ना हो। इसके बाद कई सारे फिल्म निर्माताओं ने ना सिर्फ साउथ फिल्मों की रीमेक बनाने की तरफ रुख किया है बल्कि मराठी फिल्म और अंतरराष्ट्रीय फिल्मों के राइट्स भी खरीदे हैं, ताकि उस पर एक बेहतरीन फिल्म बना सकें। इसी को मद्देनजर रखते हुए सलमान के जीजा आयुश शर्मा की फिल्म अंतिम द फाइनल ट्रूथ रिलीज होने जा रही है, जिसका निर्देशन किया है महेश मांजरेकर ने और ये फिल्म मराठी भाषा में बनी मराठी फिल्म मुलषी पट्टर की रीमेक है। इसी तरह कार्तिक आर्यन अभिनीत फिल्म धमाका साउथ कोरियन फिल्म द टेरर लाइव की रिमेक है।

टाइगर श्राफ अभिनीत फिल्म रैबो हालीवुड एक्टर सिल्वेस्टर स्टेलोन की आइकोनिक एक्शन फिल्म की रिमेक है। इसके अलावा दीपिका पादुकोण की बतौर निर्माता रार्बट डे नीरो और एनी हायवे की मशहूर फिल्म द इनर्टन की रिमेक बनने जा रही हैै जिसमें वो अभिनय भी करेंगी और इस फिल्म में उनके साथ होंगे अमिताभ बच्चन। आमिर खान की अति चर्चित फिल्म लाल सिंह चड्ढा हालीवुड फिल्म फारेस्ट गंप की हिंदी रिमेक है। सुनील शेट्टी के बेटे आहान शेट्टी की आने वाली फिल्म तड़प तेलुगु फिल्म आरएक्स 100 की रिमेक है।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट