scorecardresearch

ये नया भारत है मोदी, संघ और भाजपा का- अजान के वक्त बजाया गया हनुमान चालीसा तो फिल्ममेकर ने किया ट्वीट, लोग करने लगे ऐसे कमेंट

मध्य प्रदेश के इंदौर में अजान और हनुमान चालीसा एक साथ शुरू होने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। लोग इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

New Delhi, PM Modi, Populist schemes, Sri Lanka, PMs meeting, Bureaucrats, Assembly election
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

अजान और हनुमान चालीसा को लेकर शुरू विवाद अभी खत्म नहीं हुआ है। कई शहरों से अजान के साथ हनुमान चालीस बजाए जाने की खबरें सामने आ रही हैं। अब मध्य प्रदेश के इंदौर में अजान के वक्त तेज आवाज में हनुमान चालीसा बजाए जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो पर फिल्ममेकर विनोद कापड़ी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।

पत्रकार अनुराग द्वारी ने ट्विटर पर इंदौर का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि “निमाड़ में दंगों के जख्म अभी भरे भी नहीं हैं कि लाउडस्पीकर की एंट्री हो गई है। इंदौर के इलाके में हनुमान चालीसा और अजान एक साथ सुने जा सकते हैं। हिंदवी स्वराज नाम के संगठन ने आह्वान किया है कि जितनी तेजी से अजान की आवाज आएगी, उतनी ही जोर से हनुमान चालीसा भी बजाएंगे। इससे पहले खरगौन में महिलाओं ने संकल्प लिया था कि विधर्मियों की दुकान से सामान नहीं खरीदेंगे और इस भीड़ में छोटी-छोटी बच्चियां भी हैं।”

इसी वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए विनोद कापड़ी ने ट्विटर पर लिखा कि “क्या हो रहा है ये सब?” इस पर अब लोग भी अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। शादाब नाम के यूजर ने लिखा कि ‘मुझे कोई दिक्कत नहीं है, बजाओ हनुमान चालीसा ,अगर उससे आपको शांति मिलती है तो, कम से कम झगड़े तो नहीं होंगे, वैसे भी ऐसा करने से इस्लाम धर्म खतरे में नहीं आ सकता।’

भारत नाम के यूजर ने लिखा कि ‘यही तो लोकतंत्र है, सब बराबर हैं। एक ही समय पर अजान और हनुमान चालीसा हो रहा है और कितनी विविधता चाहिए आपको?’ सुनील पारीक नाम के यूजर ने लिखा कि ‘अरे गंगा-जमुनी तहजीब है भाई, क्यों महल खराब कर रहे हैं देश का? दोनो साथ साथ चलना चाहिए तुम खुद ही तो बोल रहे थे तो अब क्या तकलीफ हो रही है?’ एक अन्य यूजर ने लिखा कि ‘ये मोदी, संघ और भाजपा का नया भारत है, इस देश में ऐसे हालात पैदा किए जा रहे हैं।’

कासिफ नाम के यूजर ने लिखा कि ‘होने दो, कोई दिक्कत नहीं है लेकिन रिकॉर्डिंग बजाने से अच्छा है कि आवाज वार्जिनल हो।’ रणधीर कुमार नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आप जैसे लोग की वजह से देश का नाम बदलाम हो रहा है। दोनों साथ में बज रहा है तो इसमें गलत क्या है?’ मोहम्मद इमरान नाम के यूजर ने लिखा कि ‘कुछ नहीं होता, अजान एक इंडिकेशन है नमाज का वक्त बताने के लिए, जो नमाजी हैं उन्हें नमाज के टाइम से मतलब है। अब अजान सुनाई दे या चालीसा, जो भी बजे टाइम से बजना चाहिए।’

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट