scorecardresearch

फिल्ममेकर ने PM मोदी को कश्मीर आने का दिया न्योता, लोग पूछने लगे- 8 साल बाद याद आई?

कश्मीरी पंडितों के शरणार्थी कैंप में पीएम मोदी के विजिट को लेकर फिल्ममेकर के ट्वीट पर लोगों ने कहा- बीजेपी के पक्ष में नफरत और विवाद पर फिल्म बनाएं और टैक्स फ्री पाएं

PM Narendra modi
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर मची सियासत थमने का नाम ही नहीं ले रही है। इस फिल्म को लेकर अक्सर कोई ना कोई विवाद छिड़ ही जाता है। चूंकि कश्मीरी पंडितों के ऊपर बनी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ के बाद से ही कश्मीरी पंडितों के ऊपर देश भर में चर्चाएं हो रही हैं। कश्मीरी पंडितों के नरसंहार और उनके जीवन यापन को लेकर समूचे देश में लोग सवाल कर रहे हैं। वहीं फिल्ममेकर अशोक पंडित ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर प्रधानमंत्री से जम्मू में बने एक रीफ्यूजी कैंप में विजिट करने के लिए आग्रह किया है।

फिल्ममेकर अशोक पंडित आए दिन कुछ न कुछ ट्वीट करते रहते हैं, अभी हाल ही में उन्होंने पत्रकार अरफा खानुम के ट्वीट पर लिखा था कि ‘वही कानून जिसके तहत उन्हें पत्थर, सोडा की बोतलें, हथगोले आदि फेंकने की अनुमति है। क्या आपने वह फुटेज देखा?’ इसके बाद लोगों ने जमकर खिंचाई की थी।

हालांकि इस बार उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि आदरणीय नरेंद्र मोदी जी, मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि अपने जम्मू यात्रा के दौरान कश्मीरी पंडितों के जगती शरणार्थी शिविर में जरूर जाएं, यह हमारे मनोबल को बढ़ाएगा। दुख की बात यह है कि हम इस शिविर में दयनीय परिस्थितियों में रह रहे हैं।

इस ट्वीट के बाद से लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी, कुछ लोग समर्थन में लिख रहे हैं तो कुछ एक का कहना है कि बड़ी जल्दी याद आ गई। एक यूजर ने लिखा कि नरेंद्र मोदी जी कृपया जरूर विजिट करें। हम अन्य राजनेताओं से ज्यादा उम्मीद नहीं कर सकते। आप एक आशा हैं। प्रकाश की एक किरण , कश्मीरी पंडितों को न्याय दिलाने के लिए आपके पास है। वहीं एक यूजर ने लिखा कि नहीं जाएंगे बीजेपी के लिए हिन्दू सिर्फ एक वोट बैंक है, इससे ज्यादा कुछ नहीं। बंगाल चुनाव के बाद कितने हिन्दू मारे गए लेकिन बीजेपी के भगवान ने एक ट्वीट तक नहीं किया।

एक कबीर नाम के एक यूजर ने डायरेक्टर विवेक अग्निहोरी को मेन्शन करते हुए लिखा कि सरजी आपकी फिल्म काश्मीर फाइल्स ने करोड़ों रुपया कमाया 1 करोड़ जागती रिफ्यूजी को दे दीजिए सरजी। जबकि उसी पर एक इंडियन फर्स्ट नाम के यूजर ने लिखा कि वह कोई करने को तैयार नहीं है, तब ये लोग फिल्ममेकर बन जाते हैं और वैसे थियेटर्स के अंदर जाकर रोने लगते हैं।

अशोक पंडित को जवाब देते हुए एक यूजर ने लिखा, “सर आपको लोग भी कुछ करो कश्मीरी पंडितों के लिए, आप लोग मुंबई में बैठकर बड़ी बड़ी बातें कर रहे हो और कुछ नहीं”। वहीं अभिनय कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा, “वाह 8 साल में एक बार भी सुध नहीं लिया।”

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X