ताज़ा खबर
 

फिल्ममेकर हंसल मेहता ने इस एक्टर के खिलाफ चलाया कैंपेन, अमिताभ बच्चन से की अनफॉलो करने की अपील

केआरके को अनफॉलो करने को लेकर पेटीशन में लिखा गया है कि यह बहुत विचलित करता है कि अमिताभ बच्चन जैसे एक्टर इसे फॉलो करते हैं।

hansal mehta, krk, amitabh bachchan,फिल्ममेकर हंसल मेहता ने अमिताभ बच्चन से कमाल राशिद खान को सोशल मीडिया पर अनफॉलो करने की अपील की है।

बॉलीवुड फिल्ममेकर हंसल मेहता सोशल मीडिया पर केआरके यानी कमाल राशिद खान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। हाल ही में कमाल राशिद खान ने हंसल मेहता और एक्टर मनोज बाजपेयी को लेकर इंटरव्यू देने की बात कही थी जिसके बाद हंसल मेहता ने कमाल को चेतावनी दे डाली थी। अब फिल्ममेकर ने ट्विटर पर केआरके को अनफॉलो करने की मुहीम शुरू कर दी। इसी बाबत हंसल मेहना ने अमिताभ बच्चन से भी एक्टर को अनफॉलो करने की अपील की है।

अमिताभ बच्चन से केआरके को अनफॉलो करने को लेकर ट्विटर पर लिखा- मेरी अमिताभ बच्चन से अपील है कि वे कमाल राशिद खान को सोशल मीडिया पर अनफॉलो करें। इसके साथ ही हंसल मेहता ने केआरके के कुछ पुराने ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट भी शेयर किए हैं जिनमें उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत को ट्रोल किया था।

हंसल मेहता ने change.org पर ऑनलाइन पेटीशन भी फाइल की है। इस पेटीशन में केआरके के डायरेक्टर्स, एक्टर्स, प्रोड्यूसर के खिलाफ बर्ताव का जिक्र किया गया है। पेटीशन में केआरके पर कई आरोप लगाए गए हैं। लिखा गया है कि केआरके फिल्मों के पेड रिव्यू देते हैं और फिल्म इंडस्ट्री के कुछ सेक्शन के खिलाफ गाली गलौज करते हैं।

वहीं अमिताभ बच्चन को केआरके को अनफॉलो करने की अपील को लेकर कहा गया है कि यह बहुत विचलित करता है कि अमिताभ बच्चन जैसे एक्टर इसे फॉलो करते हैं। ऐसा करना केआरके की ‘समीक्षाओं’ और गालियों भरे ट्वीट्स के माध्यम से नफरत फैलाने में अप्रत्यक्ष समर्थन मिलता है। केरआरके लोगों को ट्रोल कर, गाली देकर अपना बिजनेस चला रहे हैं।

उधर, शाहित और अलीगढ़ फिल्मों के लेखक अपूर्वा असरानी ने केआरके मामले में सेलेक्टिव ना बनने की बात कही है। अपूर्व ने लिखा है कि केआरके को सॉफ्ट टारगेट करने और अधिक शक्तिशाली ब्लाइंड आइटम के एक्सपर्ट पर चुप्पी सरासर पाखंड है। केआरके गिरा हुआ इंसान है लेकिन कम से कम उसमे अपनी राय के साथ अपने नाम के इस्तेमाल की हिम्मत है। राजीव मसांद के सुशांत सिंह के खिलाफ ब्लाइंड आइटम बहुत ही शातिर और कायर हैं। सेलेक्टिव मत बनिए।

मनोज बाजपेयी ने अपूर्व को जवाब देते हुए लिखा, चुनिंदा रूप से पत्रकारों को जिन्होंने निर्दोष प्रतिभाओं को चोट पहुंचाई है, को बाहर लाना पाखंड है। मैं आपके ट्वीट में राजीव मसंद द्वारा ब्लाइंड आइटम पढ़कर बहुत परेशान हूं। और मैं आपका समर्थन करता हूं। लेकिन केआरके जैसे जहरीले लोगों को रोकने का प्रयास भी जेनुइन है। आइए एकजुट हों।

 

Next Stories
1 सुशांत सुसाइड केसः संजय लीला भंसाली से तीन घंटे तक हुई पूछताछ, बिहार में भी दर्ज है केस
2 सपना चौधरी की राह पर चल रहीं सुनीता बेबी, रागिनी में भी आजमाया हाथ, फैंस से मिल रहे ऐसे रिएक्शन
3 रोलर कोस्टर पर श्वेता त्रिपाठी को चैतन्य ने किया था प्रपोज, 5 साल छोटे प्रेमी को 5 साल किया डेट
ये पढ़ा क्या?
X