ताज़ा खबर
 

मेरे पापा हैं सबसे अच्छे पापा…

फादर्स डे को लेकर एक्टर्स का क्या कहना है? इन सितारों की नजर में उनके पापा दुनिया के नंबर वन पापा क्यों है? जानने की कोशिश की फादर्स डे स्पेशल परिचर्चा के दौरान..

Author June 14, 2019 1:36 AM
अमिताभ बच्चन

आरती सक्सेना

मां की ममता का एहसास तो हर किसी को होता है लेकिन पिता का प्यार कभी खुल कर सामने नहीं आता। पिता का प्यार, कर्तव्य, फर्ज और सीख के चलते कहीं दब कर रह जाता है। लेकिन सच्चाई ये है कि अगर मां जीवन देती है तो पिता जीवन संवारता है। फादर्स डे,16 जून, पर हमने कुछ बॉलीवुड सितारों से ये जानने की कोशिश की है कि फादर्स डे को लेकर उनका क्या कहना है? इन सितारों की नजर में उनके पापा दुनिया के नंबर वन पापा क्यों है? जानने की कोशिश की फादर्स डे स्पेशल परिचर्चा के दौरान …

फादर्स डे को लेकर अमिताभ बच्चन ने कहा कि, मुझे तो लोग शायद कुछ समय बाद भूल जाएं, लेकिन बाबूजी को लोग कभी नहीं भूलेंगे। वे एक महान कवि थे जिनकी कविताएं स्कूल-कॉलेजों में पढ़ाई जाती है। बाबूजी जितने अनुभवी थे उतनी ही सादगी से जीवन जीते थे। मुझे उनकी यही बात बहुत पंसद थी। आज इतने सालों के बाद भी मैं उनकी कमी महसूस करता हूं। फादर्स डे तो एक ही दिन होता है, अपने पिता को याद करने के लिए। हमारे लिए तो हमेशा फादर्स डे है क्योंकि हम लगभग हर दिन अपने पिता को सिर्फ याद नहीं करते बल्कि उनकी पूजा करते हैं।

शाहरुख खान ने कहा कि, मेरे वालिद काफी हैडसम थे। जब वे रास्ते पर चलते थे तो लोग उनको मुड़- मुड़ कर देखते थे। बचपन में मैं उनकी उंगली पकड़ कर जब रास्ते पर चलता था और लोगों को उनकी तरफ देखते पाता था, तो मुझे ये सब देखकर अपने वालिद पर बहुत गर्व होता था। मैं काफी छोटा था जब मैंने उन्हें खो दिया था। लेकिन उनके साथ बिताई धुंधली यादें आज भी मेरे जहन में कहीं न कहीं कैद हैं। मेरे पिता अपने परिवार से बहुत प्यार करते थे, उनकी ये बात मुझे सबसे अच्छी लगती थी। उनके लिये उनका परिवार ही सब कुछ था। अपने पिता का यही गुण मेरे अंदर भी है। मैं अपने परिवार का साथ जिंदगी भर चाहता हूं।

फादर्स डे पर किसी ने सच ही कहा है अगर मां नरम दिल और सीधी सादी होती है तो पिता नारियल की तरह होते हैं। मेरे पिता, ऋषि कपूर, भी कुछ ऐसे ही हैं। वे भले ही ऊपर से सख्त हों लेकिन मुझसे बहुत प्यार करते हैं। उन्हें फिल्म ‘संजू’ में मेरी अदाकारी बहुत पसंद आई थी तो उन्होंने ट्वीट करके मेरी तारीफ की। तब मुझे बहुत खुशी हुई। खुशी इसलिए नहीं हुई कि वे मेरे पिता हैं और उन्होंने मेरी तारीफ की। बल्कि इसलिए हुई क्योंकि वे भी एक कलाकार हंै और बतौर कलाकार मैं उनकी बहुत इज्जत करता हूं। फादर्स डे के अवसर पर मैं अपने पिता के बारे में यही कहना चाहूंगा कि वे महान हैं एक कलाकार के तौर पर भी, एक पिता के तौर पर भी और एक आलोचक के तौर पर भी। मेरी ऊपर वाले से यही कामना है कि वे मेरे पापा को जल्द से जल्द ठीक कर दें। ताकि अगला फादर्स डे हम और ज्यादा धूम-धाम से एक साथ मनाएं ।

श्रद्धा कपूर ने इस खास दिन पर बताया कि, मेरे डैड ने अपने अभिनय कैरियर में सात सौ से ज्यादा फिल्में की हैं। उनकी छवि फिल्मों में विलेन की रही है बावजूद इसके वे मेरे असली हीरो हैं। फिल्मों में जो एक हीरो करता है, उसे मेरे पिता ने असल जिंदगी में कर दिखाया है। फिल्म जगत में बिना किसी सिफारिश के अपनी अलग पहचान बनाना, अपनी पत्नी के प्रति वफादार रहना, हम बच्चों को एक दोस्त की तरह पालपोसकर बड़ा करना एक असल हीरो ही कर सकता है। इसलिए मैं उन्हें दुनिया का सबसे बेस्ट पापा मानती हूं। मैं अपने डैड से बहुत प्यार करती हूं। वे मेरी जिंदगी के स्तंभ हैं।

जाह्नवी कपूर ने अपनी मां श्रीदेवी को याद करते हुए कहा कि के जाने के बाद मेरे पापा ही हैं, जिन्होंने मुझे मां और पिता दोनों का प्यार दिया है। फादर्स डे के अवसर पर मैं अपने पिता को अच्छी जिंदगी देने के लिए धन्यवाद करना चाहूंगी। और भगवान से प्रार्थना करूंगी कि वे मेरे पापा को हमेशा खुश रखें। मैंने उनको कई बार अकेले में रोता देखा है। वे मां को बहुत याद करते हैं लिहाजा मेरी और खुशी की कोशिश रहती है कि पापा कभी दुखी न हो। मैं इतनी मेहनत भी इसलिए कर रही हूं कि पापा मुझ पर गर्व कर सकें। फादर्स डे के मौके पर मैं पापा को ढेर सारा प्यार देना चाहूंगी।

छोडे पर्दे के बड़े स्टार कपिल शर्मा ने अपने पिता को याद करते हुए कहा कि, मेरे डैड ने मुझे एक ही चीज सिखाई थी, वो ये कि चाहे कितनी भी मुश्किलें आएं हमेशा हसंते रहो और हसांते रहो। मैं अपने डैड को याद करता हूं तो मुझे गर्व के साथ दुख भी होता है कि वे कैसे भयानक बीमारी में भी हमेशा हंसते रहते थे। इस मौके पर मैं यही कहना चाहूंगा कि मेरे फादर जैसा बनने के लिए अभी मुझे बहुत सब्र और जतन करना पड़ेगा। वे इतने महान थे कि मैं उनके पैरों के नाखून के बराबर भी नहीं हूं। उनके जैसा महान इंसान मैंने अपनी जिंदगी में अभी तक नहीं देखा। वे मेरे आदर्श, मेरी प्रेरणा हैं। मैं उनके जैसा अगर पचास फीसद भी बन पाया, तो मुझे लगेगा कि मेरा जीवन सफल हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X