कितने किसानों की शहादत लेंगे मोदी जी? लखीमपुर खीरी की घटना पर आप नेता ने BJP को घेरा, कांग्रेस ने भी उठाए सवाल

भारतीय किसान यूनियन ने दावा किया है कि लखीमपुर खीरी हिंसा में 3 किसान मारे गए हैं। राकेश टिकैत ने कहा है कि किसान लौट रहे थे और तभी उन पर गाड़ियों से हमला किया गया।

lakhimpur khiri, farmers protest, rakesh tikait
लखीमपुर खीरी हिंसा में घायल किसान (Photo-Srinivas BV/Twitter)

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के खिलाफ प्रदर्शन में हुई हिंसा में कई किसान जख्मी हुए हैं। किसान संगठनों का कहना है कि एक कार चालक ने प्रदर्शन कर रहे किसानों के ऊपर गाडी चला दी जिसमें दो किसानों की मौत हो गई और 8 घायल हैं। वहीं भारतीय किसान यूनियन ने दावा किया है कि इस हिंसा में 3 किसान मारे गए हैं। राकेश टिकैत ने कहा है कि किसान लौट रहे थे और तभी उन पर गाड़ियों से हमला किया गया।

अपने ट्विटर हैंडल से उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, ‘किसान लौट रहे थे। लौटते हुए किसानों के ऊपर गाड़ियों से हमला किया गया, फायरिंग की गई। अभी तक जो जानकारी मिली है कि कई लोगों की मौत हो चुकी है। हम लखीमपुर के लिए निकल रहे हैं। किसानों के बीच में जाएंगे।‘

लखीमपुर खीरी की इस घटना को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा है। यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने ट्वीट किया, ‘किसान आंदोलन को नही रौंद पाये तो भाजपाइयों ने किसानों को रौंद दिया.. आज जो भी इस नरसंहार पर खामोश रहेगा वो मत भूले कि समय का कालचक्र एक दिन उन्हें भी निशाना बनाएगा। इन तस्वीरों का जिम्मेदार सीधे तौर पर मोदी जी का केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी है।’

कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मोदी जी, आपने कभी कहा था कि कार के टायर के नीचे कुत्ते का पिल्ला भी आ जाये तो दर्द होता है, आज आपके मंत्री के बेटे किसानों को अपने टायर के नीचे कुचल के मार दे रहे हैं। दर्द कब महसूस करियेगा? कुछ तो बोलिये मिस्टर प्राइम मिनिस्टर !!’

कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने भी बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘जो किसान का नहीं, वो हिंदुस्तान का नहीं ! इस घटना ने एक बात बिलकुल स्पष्ट कर दी है भाजपा किसान की नहीं है।’

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने ट्वीट किया, ‘सत्ता का ऐसा नशा न आपने कभी देखा होगा न सुना होगा। 3 आंदोलनकारी किसानों को मंत्री के बेटे ने गाड़ी से रौंदकर मार दिया। कितने किसानों की शहादत लेंगे मोदी जी? हत्यारों को गिरफ़्तार करो CBI से जांच कराओ परिवार को मुआवज़ा दो।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट