बिना MSP पर कानून के जीत कैसी? छले गए अन्नदाता- किसानों की घर वापसी पर बोले पूर्व IAS, पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी किया ट्वीट

किसान आंदोलन के खत्म होने पर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने सवाल किया कि बिना एमएसपी पर कानून के यह जीत कैसी?

farmer protest chadhuni
किसान संगठनों ने आंदोलन ख़त्म करने की घोषणा की है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

कृषि कानूनों के विरोध में बीते 378 दिनों से दिल्ली के बॉर्डर पर डटे किसानों ने किसान आंदोलन को खत्म करते हुए अपने-अपने घरों को वापस लौटने का फैसला किया है। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता के मुताबिक 11 दिसंबर से ही किसान अपने घरों पर लौटना शुरू कर देंगे, साथ ही दिल्ली के बॉर्डर भी खाली होने लगेंगे। जहां एक तरफ आंदोलन के खत्म होने को किसानों ने अपनी जीत करार दी तो वहीं पूर्व आईएएस ने सवाल किया कि बिना एमएसपी पर कानून के यह कैसी जीत है। उनके अलावा पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी मामले पर ट्वीट किया है।

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने किसान आंदोलन के खत्म होने पर ट्वीट किया और सवाल करते हुए लिखा, “बिना एमएसपी पर कानून के जीत कैसी? भोले थे मन के छले गए, अन्नदाता।” दिग्गज पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने किसानों की घर वापसी पर ट्वीट किया, “किसान लौट चले घर, 378 दिनों बाद आंदोलन समाप्त।”

पत्रकार सुशांत सिन्हा ने किसान आंदोलन के खत्म होने पर लिखा, “किसान आंदोलन खत्म हो गया। ‘हम जीत गए’ की लाइन आंदोलन का हर दूसरा आदमी बोलता सुनाई दे रहा है। अब उम्मीद की जानी चाहिए कि इस जीत के बाद देश का गरीब किसान बमबम हो जाएगा, बड़े घरों में रहेगा, बच्चों को अंग्रेजी स्कूल में पढ़ाएगा और किसान की आत्महत्याएं अब हमेशा के लिए बंद हो जाएंगी।”

मशहूर पत्रकार अजित अंजुम ने किसान आंदोलन के खत्म होने पर खुशी जाहिर की और लिखा, “किसानों ने जीत ली जंग, अब जश्न के साथ घर वापसी की तैयारी।” अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, “जीत का जश्न मनाते हुए 11 दिसंबर को किसानों की घर वापसी होगी।”

बता दें कि इन दिग्गजों के अलावा किसान आंदोलन के खत्म होने पर सोशल मीडिया यूजर ने भी खूब ट्वीट किये। कुलदीप भुल्लर ने लिखा, “तीनों काले कानूनों के खिलाफ किसान जंग जीत गए। ये उन लोगों के मुंह पर तमाचा है, जो कहते थे कि कानून कभी वापस नहीं होंगे।” मानिक नाम के यूजर ने लिखा, “किसान आंदोलन उस जीत के साथ एक अंत पर आ गया है, जो कि लाखों लोगों को उम्मीद दे रही है।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट