ताज़ा खबर
 

नहीं रहे ‘महाभारत’ के ‘इंद्र’, अंतिम सांस तक आर्थिक तंगी से संघर्ष करते रहे हिंदी पंजाबी सिनेमा के अभिनेता सतीश कौल

सतीश कौल के पास अपना मकान तक नहीं था। वे काफी समय तक वृद्धाश्रम में रहकर अपना गुजारा किए। पिछले साल फिल्मोद्योग से भी मदद की अपील की थी। हाल ही में कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे।

Author Edited By Sanjay Dubey लुधियाना | Updated: April 11, 2021 2:35 AM
Actor, Mahabharat, Indraसतीश कौल ने पंजाब के लुधियाना में अंतिम सांस ली। (फोटो: एक्सप्रेस आर्काइव)

“महाभारत” धारावाहिक समेत कई फिल्मों एवं शो में नजर आ चुके पंजाब के अभिनेता सतीश कौल का कोविड -19 संबंधित स्वास्थ्य जटिलताओं के चलते शनिवार को लुधियाना के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 74 साल के थे। जीवन की अंतिम सांस तक वे आर्थिक तंगी और मूलभूत जरूरतों की कमी से जूझते रहे। उनके पास अपना मकान तक नहीं था। वे काफी समय तक वृद्धाश्रम में रहकर अपना गुजारा किए।

कौल की बहन सत्या देवी के अनुसार छह दिन पहले बुखार होने पर उन्हें यहां एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सत्या देवी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, “अस्पताल में कोविड-19 संक्रमण के चलते आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्हें बुखार था और वे ठीक नहीं थे। हमने उन्हें बृहस्पतिवार को अस्पताल में भर्ती कराया था और उनकी जांच करवायी थी, जिसमें सामने आया था कि वह कोविड-19 से संक्रमित हैं।” कौल के परिवार में उनकी बहन हैं। वह बीआर चोपड़ा के “महाभारत” में देवराज इंद्र की भूमिका के लिए लोकप्रिय हुए थे। उन्होंने “प्यार तो होना ही था”, “आंटी नंबर वन” समेत 300 से अधिक पंजाबी एवं हिंदी फिल्मों में काम किया था। उन्होंने टीवी शो “विक्रम और बेताल” में भी काम किया था।

कौल 2011 में मुम्बई से पंजाब आ गये और उन्होंने अभिनय का एक स्कूल खोला लेकिन उनकी यह कोशिश सफल नहीं रही। 2015 में उनकी कमर की हड्डी टूट गयी थी और वह करीब ढाई साल तक बिस्तर पर पड़े रहे। बाद में वह एक वृद्धाश्रम चले गये और वहां 2019 तक रहे। फिर वह एक किराये के मकान में आकर रहने लगे। पिछले साल मई में उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा था कि वह लॉकडाउन के दौरान दवाइयों, किराना के सामान एवं मूलभूत जरूरतों के लिए संघर्ष कर रहे हैं और उन्होंने फिल्मोद्योग से मदद की अपील की थी।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने वरिष्ठ पंजाबी अभिनेता सतीश कौल के निधन पर शोक जताया। मुख्यमंत्री ने कौल (74) को बहुआयामी अभिनेता बताया, जिन्होंने पंजाबी सिनेमा, कला और संस्कृति को बढ़ावा देने की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब, पंजाबी और पंजाबियत के मुखर पैरोकार सतीश कौल को पंजाबी सिनेमा में योगदान के लिए लोग हमेशा याद रखेंगे।

शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कौल के निधन पर शोक जताया। सुखबीर ने ट्वीट किया, “कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण सतीश कौल के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। वह पंजाबी फिल्म उद्योग के पहले सुपरस्टार थे। मैं अभिनेता के निधन पर उनके परिजन से अपनी शोक संवेदना प्रकट करता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।”

Next Stories
1 ए. आर. रहमान ने एंकर के हिंदी बोलने पर दिया ऐसा रिएक्शन, स्टेज से उतर आए थे नीचे; अब सफाई में कही ये बात
2 जब जितेंद्र को देना था अपनी पहली फिल्म के लिए स्क्रीन टेस्ट, राजेश खन्ना पूरा दिन बैठाकर रटाते रहे थे डायलॉग
3 सुनील दत्त और उनके दोस्तों के फेंके अधजले सिगरेट पीते थे संजय दत्त, तंग आकर पिता ने किया था ये काम
यह पढ़ा क्या?
X