बेरोजगार पिट रहे हैं और केशव मौर्य दूरबीन से पक्षी देख रहे हैं- डिप्टी CM पर बरसे पूर्व IAS, पूर्व IPS ने भी साधा निशाना

मौर्य की तस्वीरों पर पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने तीखी टिप्पणी की।

Ex IAS Officer Surya Pratap Singh, Surya ratap Singh Furious,
उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (फोटो सोर्स- केशव प्रसाद मौर्य ट्विटर हैंडल)

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से कुछ तस्वीरें जारी की गई हैं। इन तस्वीरों में मौर्य दूरबीन से पक्षियों को देखते नजर आ रहे हैं। दरअसल, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद उन्नाव के नवाबगंज में स्थित शहीद चंद्रशेखर आजाद पक्षी विहार पहुंचे थे।

इस दौरान उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भ्रमण किया और पक्षियों की देखरेख का जायजा लिया। मौर्य की तस्वीरों पर पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने तीखी टिप्पणी की। वहीं, पूर्व आईपीएस अधिकारी विजय शंकर सिंह ने भी मोदी सरकार को घेरा है।

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने केशव प्रसाद मौर्य के इस ट्वीट पर तंज कसते हुए कहा कि ‘ओबीसी बेरोजगार युवा लाठी डंडों से पिट रहे हैं और केशव मौर्य दूरबीन से उन्नाव में पंछी देख रहे हैं। सही नाम दिया है, स्टूल मंत्री।’

तो वहीं, पूर्व आईपीएस अधिकारी विजय शंकर सिंह ने भी मोदी सरकार पर बिफरते हुए कहा- ‘किसानों की नाराजगी पूरी तरह खत्म न होने के दो प्रमुख कारण हैं- लखीमपुर खीरी की घटना और मोदी सरकार के कानूनों के खिलाफ साल भर तक जारी रहे आंदोलन के दौरान कथित तौर पर 700 से अधिक किसानों की मौत।’

सूर्य प्रताप सिंह द्वारा केशव प्रसाद मौर्य पर किए गए कटाक्ष पर ढेरों लोगों के कमेंट भी आने लगे। जीतेंद्र वालिया नाम के एक यूजर ने पूछा- ‘सर, केशव मौर्य साहब को स्टूल मंत्री क्यों कहते है?’ रितेश पांडे नाम के यूजर बोले- ‘बेरोजगार सिर्फ ओबीसी वर्ग के ही नहीं हैं।’

तुषार नाम के शख्स ने लिखा- ‘एक मंत्री दूरबीन से कुछ और देखता है और दूसरा पक्षियों को देखता है। गजब के हैं दोनों मंत्री, लेकिन दोनों को Covid-19 के समय कितनी मौतें हुईं थीं, उत्तर प्रदेश में वो दिखाई नहीं दी थीं। ना ही किसानों पर चढ़ी गाड़ी दिखाई दी थी। पता नहीं कौन सा चश्मा और दूरबीन लगा कर देखते हैं।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
MP: धर्मगुरु का आरोप- धर्मांतरण विरोधी कानून का इस्‍तेमाल करके ईसाइयों पर फर्जी केस थोप रही शिवराज सरकारArchbishop, Archbishop bhopal, conversion in mp, conversion of hindus, shivraj government, shivraj singh chauhan, latest news in hindi