ताज़ा खबर
 

एकता कपूर की वजह से पहलाज निहलानी ने गवांई सेंसर बोर्ड के चीफ की सीट?

एकता कपूर ने सीबीएफसी अध्यक्ष पहलाज निहलानी की शिकायत अपनी दोस्त और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से की थी।
एकता कपूर की वजह से गई पहलाज निहलानी की सीट।

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि फिल्म इंडस्ट्री के बहुत से लोगों को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के अध्यक्ष पहलाज निहलानी से परेशानी थी। इसी वजह से शुक्रवार को जब उन्हें इस पद से हटाए जाने की खबर सामने आई तो बहुत से लोगों ने इसका स्वागत किया। अगर डेक्कन क्रॉनिकल की खबर पर विश्वास किया जाए तो सभी को एकता कपूर को इसके लिए धन्यवाद कहना चाहिए।

एक सूत्र ने डेक्कन क्रॉनिकल को बताया कि काफी लंबे संमय से एकता निहलानी के ऊंचे ओहदे के खिलाफ तैयारियां कर रही थी। सौभाग्य से एकता की पुरानी दोस्त और कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी को उसी समय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का कार्यभार मिला जब कपूर ने लिप्सटिक अंडर माई बुर्का का मार्केटिंग और डिस्ट्रीब्यूशन करना शुरू किया। जब फइल्म पर सीबीएफसी अक्ष्यक्ष ने कई हमले किए तो इसपर एकता ने अपनी नाराजगी नई सूचना एवं प्रसारण मंत्री के सामने जाहिर की। अगर आपको नहीं पता तो बता दें कि राजनेता बनने से पहले स्मृति ईरानी एक मशहूर टीवी एक्ट्रेस थीं।

स्मृति को एकता कपूर के शो क्योंकि सास भी कभी बहू थी के जरिए सफलता मिली थी। यह शो आठ सालों तक स्टार प्लस पर प्रसारित हुआ था। शो के खत्म होने के बाद भी एकता और स्मृति के बीच दोस्ताना रिश्ता कायम रहा। दोनों एक दूसरे की सोशल मीडिया पोस्ट्स पर अमूमन नजर आती रहती हैं। इसी वजह से जब कपूर ने पहलाज की शिकायत की तो ईरानी ने अपनी शक्ति का इस्तेमाल करते हुए निहलानी को बाहर का रास्ता दिखा दिया। पहलाज के जाने के बाद प्रसून जोशी को नया सीबीएफसी अध्यक्ष चुना गया है। पहलाज को कई बार फिल्मों में बेवजह या गैर जरूरी रूप से कट लगाने के चलते विवादों में भी रहना पड़ा है।

इसके अलावा कई बार पहलाज को आपत्तिजनक सीन्स वाली फिल्मों को यूए सर्टिफिकेट देने के लिए भी विवादों में रहना पड़ा है। 19 जनवरी 2015 में उन्हें सेंसर बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया था। कई फिल्मों पर मनमाने ढंग से कैंची चलाने को लेकर उनकी काफी आलोचना की जा चुकी है। इसके अलावा कई बार अपने बयानों को लेकर भी उन्हें कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है।

https://www.youtube.com/watch?v=U5Gyw-nGf1I

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.