उसने हैलो कहा, मैंने इग्नोर कर दिया- सेट पर बच्चों वाली हरकतें करते थे दिलीप कुमार-राजकुमार, एक्टर ने सुनाया किस्सा

विवेक मुशरान ने बताया कि राजकुमार खुद में ही खोए रहते थे। दिलीप जी उन्हें हैलो बोलते तब उन्हें पता ही नहीं चलता था। फिर दिलीप कुमार सुभाष घई के पास जाकर कहते थे- लल्ले, आज मैंने भी उसको इग्नोर किया जब उसने हैलो कहा।

raaj kumar, dilip kumar, subhash ghai
राज कुमार और दिलीप कुमार दशकों बाद 'सौदागर' में साथ आए थे (File Photo)

बॉलीवुड इंडस्ट्री में कलाकारों के बीच की दुश्मनी खूब चर्चे में रही है। दिलीप कुमार और राजकुमार के बीच भी कुछ ऐसा ही था। दोनों ने जब अपनी दुश्मनी भुलाकर 32 सालों बाद फ़िल्म, ‘सौदागर’ में काम किया तो लोगों को काफी आश्चर्य हुआ। दोनों को साथ लाने का ज़िम्मा उठाया था निर्देशक सुभाष घई ने। वो मनीषा कोइराला, विवेक मुशरान को लेकर फ़िल्म बना रहे थे और इसी फ़िल्म के लिए उन्होंने राज कुमार और दिलीप कुमार को किसी तरह राजी किया।

विवेक मुशरान ‘सौदागर’ से डेब्यू कर रहे थे और मनीषा कोइराला की पहली हिंदी फिल्म थी। विवेक ने हाल ही में हमारे सहयोगी वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत की। उन्होंने बताया कि सुभाष घई ने राज कुमार और दिलीप कुमार को फ़िल्म में ले तो लिया लेकिन दोनों की बच्चों वाली हरकतों से वो परेशान रहते थे।

विवेक मुशरान ने बताया, ‘राज जी (राजकुमार) खुद में ही खोए रहते थे, और ऐसा कई बार होता कि दिलीप जी उन्हें हैलो बोलते और उन्हें पता ही नहीं चलता था। फिर दिलीप कुमार सुभाष घई के पास जाकर कहते थे, “लल्ले, आज मैंने भी उसको इग्नोर किया जब उसने हैलो बोला।” वो इसी तरह की बच्चों वाली हरकतें करते थे, दोनों में दुश्मनी जैसी कोई बात नहीं थी।’

विवेक ने बताया कि दिलीप कुमार जहां लोगों के बीच रहने वाले व्यक्ति थे तो वहीं राजकुमार अंतर्मुखी थे। लेकिन विवेक के साथ बैठकर राजकुमार अक्सर उन्हें अपने उन दिनों की कहानियां सुनाया करते जब वो फौज में थे। राजकुमार ने विवेक मुशरान को बताया था कि वो 50 कैंडिडेट्स के बीच दूसरे या चौथे नंबर पर आए थे और पुलिस में उनका सिलेक्शन हुआ था।

 

विवेक ने राजकुमार के सेंस ऑफ ह्यूमर के बारे में कहा कि उनका व्यंग करने का तरीका बेहद प्यारा था। उन्होंने बताया, ‘राज जी मुझसे पूछते थे, चाय पिओगे? और तब वो अपने आदमी से कहते- चाय में दूध डालना, दूध में चाय नहीं।’

दिलीप कुमार और राजकुमार के बीच की दुश्मनी की बात करें तो, दोनों साल 1959 की फिल्म, ‘पैगाम’ में पहली बार काम कर रहे थे। राजकुमार दिलीप कुमार के बड़े भाई के रोल में थे। एक सीन में उन्हें दिलीप कुमार को थप्पड़ मारना था। वो थप्पड़ इतनी जोर से लगा कि दिलीप कुमार राजकुमार से बेहद नाराज हुए थे और उन्होंने कसम खाई कि कभी राजकुमार के साथ काम नहीं करेंगे। लेकिन बाद के वर्षों में दोनों के बीच की कड़वाहट कुछ कम हुई और 1991 की फिल्म ‘सौदागर’ के लिए दोनों मान गए थे।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

X