धर्मेंद्र के कहने पर भी साथ नहीं बैठते थे बॉबी देओल, पिता संग वक्त बिताने से कतराते थे एक्टर, खुद बताई थी वजह

धर्मेंद्र के बेटे और एक्टर बॉबी देओल ने बताया था कि उनके पिता कई बार उनसे साथ बैठने के लिए कहते हैं, लेकिन उन्हें अपने पिता से डर लगता है।

bbby deol, dharmendra, jansatta
बॉलीवुड के मशहूर एक्टर धर्मेंद्र और बॉबी देओल (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर धर्मेंद्र ने फिल्म ‘दिल भी तुम्हारा हम भी तुम्हारे’ से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा था। इस फिल्म के बाद वह कई हिट फिल्मों में नजर आए थे। धर्मेंद्र को लेकर यह कहा जाता है कि वह जितने अच्छे एक्टर थे, उतने ही अच्छे पिता भी हैं। बच्चों के करियर से लेकर उनकी जिंदगी में आए उतार-चढ़ाव में उन्होंने अपने बच्चों का बखूबी साथ दिया था। लेकिन अकसर सनी देओल और बॉबी देओल अपने पिता के साथ बैठने से कतराते थे। इस बात का खुलासा खुद बॉबी देओल ने फिल्मफेयर को दिए इंटरव्यू में किया था।

इंटरव्यू में बॉबी देओल ने बताया था कि उन्हें उनके पिता के साथ ज्यादा वक्त बिताने का मौका नहीं मिला था। इस बारे में बात करते हुए एक्टर ने कहा था, “जब हम बड़े हो रहे थे तो पापा मेहनत करने में लगे हुए थे। ऐसे में हमें उनके साथ वक्त बिताने का मौका नहीं मिला। मैं उनके साथ कई बार आउटडोर की शूटिंग के लिए भी जाता था। हमारे बीच पिता और बेटे का रिश्ता उस तरह का नहीं था, जैसा आज की पीढ़ी में है।”

बॉबी देओल ने पिता धर्मेंद्र के बारे में बात करते हुए आगे कहा था, “पहले के वक्त में बच्चे अपने पिता संग इतना घुलते मिलते नहीं थे। इस बात को लेकर कई बार पापा शिकायतें भी करते थे। इतना ही नहीं, पापा कई बार मुझे उनके साथ बैठने और बात करने के लिए भी कहते थे। लेकिन मैं उनसे डरता था, मुझे लगता था कि कहीं पापा मुझे डांट न दें।”

बॉबी देओल ने इस बारे में आगे बताया था, “मैं आज भी उनसे कहता हूं कि मुझे आपसे डर लगता है कि कहीं आप मुझे डांट न दो। लेकिन मैं यह डर अपने बच्चों में नहीं डालना चाहता हूं। शायद, कई हद तक मैं इस चीज में सफल भी हो गया हूं।” बता दें कि बॉबी देओल के अलावा सनी देओल भी अपने पिता से काफी डरते हैं।

सनी देओल ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि अगर मैं कभी देख भी लेता कि पापा एक कमरे में बैठे हुए हैं तो मैं उस कमरे में नहीं जाता था। वहीं धर्मेंद्र ने भी अपने एक इंटरव्यू में कहा था कि मैं चाहता हूं कि मेरे बच्चे मेरे साथ बैठें, लेकिन वह नहीं बैठते हैं। वे लोग काम में ही इतना व्यस्त रहते हैं।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट