ताज़ा खबर
 

भगवान करे कभी किसी का बेटा एक्टर न बने- धर्मेंद्र के अभिनेता बनने पर बोल पड़ीं थीं उनकी मां, इस बात से थीं परेशान

धर्मेंद्र के एक्टर बनने के बाद उनकी मां इस बात से बिल्कुल भी खुश नहीं थीं। इतना ही नहीं, वह कहती थीं कि भगवान करे, कभी किसी का भी बेटा एक्टर न बने।

धर्मेंद्र के एक्टर बनने से खुश नहीं थीं उनकी मां (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर धर्मेंद्र ने अपनी फिल्मों और सादगी से फैंस के बीच जबरदस्त पहचान बनाई है। धर्मेंद्र ने फिल्म ‘दिल भी तेरा, हम भी तेरे’ से बॉलीवुड की दुनिया में कदम रखा था। बॉलीवुड में डेब्यू के बाद उन्होंने लगातार हिट पर हिट फिल्में दीं। लेकिन धर्मेंद्र के एक्टर बनने के बाद उनकी मां इस बात से बिल्कुल भी खुश नहीं थीं। इतना ही नहीं, वह कहती थीं कि भगवान करे, कभी किसी का भी बेटा एक्टर न बने। इस बात का खुलासा धर्मेंद्र ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में किया था।

दरअसल, धर्मेंद्र से सवाल किया गया कि क्या वह इस बात को लेकर उत्साहित हैं कि देओल खानदान की पीढ़ियां फिल्मों में अपना हाथ आजमा रही हैं। इसका जवाब देते हुए एक्टर ने कहा, “जब मैंने सनी को लॉन्च किया था तो मैंने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की थी। अपने पोते करण के लिए भी, मैं हमेशा उसकी सफलताओं के लिए दुआ करता हूं।”

धर्मेंद्र ने इस बारे में आगे कहा, “इस इंडस्ट्री का हिस्सा होने के नाते मैंने बहुत कुछ सीखा है। मैं अपने पोतों को लिए एक जरिया बन सकता हूं, दुआएं दे सकता हूं। लेकिन मैं मुकद्दर नहीं लिख सकता हूं। जब मैं एक्टर बना था तो मेरी मां मुझसे अकसर कहा करती थी कि मैं दुआ करती हूं कि किसी का भी बेटा कभी एक्टर न बने।”

धर्मेंद्र ने अपनी मां के बारे में बात करते हुए आगे कहा, “मां के मुताबिक एक्टर हर फिल्मों में जीते और मरते हैं। उन्हें एक दबाव के तहत जीना पड़ता है, भले ही फिल्म बॉक्स ऑफिस पर चले या न चले। यह एक ऐसा पेशा है, जहां लोगों को संघर्ष बहुत करना पड़ता है।”

इससे इतर द ट्रिब्यून को दिए इंटरव्यू में धर्मेंद्र ने बताया था कि उनकी मां चाहती थीं कि वह पैसों को जोड़ना सीखें, साथ ही यह भी जानें कि घर का महीने का खर्च कैसे संभाला जाता है। इस बारे में उन्होंने कहा, “वह हमेशा से चाहती थीं कि मैं घर का महीने का खर्च जानूं, जिसे मैं अकसर अनदेखा कर देता था। वह हमेशा जरूरतमंदों को पैसे भेजा भी करती थीं। वह एक बहुत अच्छी इंसान थीं।”

बता दें कि धर्मेंद्र ने अपनी मां को लेकर ट्विटर पर एक पोस्ट भी साझा की थी। ट्वीट में उन्होंने मां की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, “दिल से जुदा हूं, दोस्तों कह देता हूं। छोटा था तो मां से कह बैठा कि तू कभी छोड़कर नहीं जाएगी मुझे, तू हमेशा जिंदा रहेगी। सीने से लिपटा लिया मां ने, कहने लगी, ‘तेरे नाना नानी जिंदा हैं क्या? मैं भी तो उन बिन जिंदा हूं।”

Next Stories
1 अमिताभ बच्चन ने डैनी डेन्जोंगपा को बताया दोस्त तो भड़क गईं थीं परवीन बॉबी, तोड़ लिया था रिश्ता
2 किन्नरों से मंजूरी लेने के बाद ही अपनी फ़िल्म में गाने रखते थे राज कपूर, दिलचस्प है कहानी
3 4 साल की उम्र से जगराते में गाती थीं नेहा कक्कड़, पिता बेचते थे समोसे, जानिए कितनी थी सिंगर की पहली कमाई
ये पढ़ा क्या?
X