बॉबी देओल के कारण धर्मेंद्र ने नौकरानी को मारा था थप्पड़, बेटे को अकेले नहीं जाने देते थे बाहर; खुद बताई थी वजह

धर्मेंद्र ने एक बार बॉबी देओल की खातिर नौकरानी को थप्पड़ मार दिया था। इतना ही नहीं, वह बेटे को भी अकेले बाहर नहीं जाने देते थे।

dharmendra, bobby deol
बॉबी देओल को अकेले बाहर नहीं जाने देते थे धर्मेंद्र (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर धर्मेंद्र ने अपनी फिल्मों और अपने अंदाज से हिंदी सिनेमा में जबरदस्त पहचान बनाई थी। धर्मेंद्र ने फिल्म ‘दिल भी तुम्हारा हम भी तुम्हारे’ से हिंदी सिनेमा में कदम रखा था और इसके बाद वह कई हिट फिल्मों में दिखाई दिए थे। धर्मेंद्र को लेकर कहा जाता है कि वह जितने अच्छे एक्टर हैं, उतने ही अच्छे पिता भी हैं। मैंसवर्ल्ड को दिये इंटरव्यू में बॉबी देओल ने पिता धर्मेंद्र के बारे में बताया था कि एक बार उन्होंने गुस्से में नौकरानी को थप्पड़ मार दिया था। इतना ही नहीं, वह अपने बेटे को दोस्तों के साथ पार्टी के लिए बाहर तक नहीं जाने देते थे।

बॉबी देओल ने इस बारे में बात करते हुए कहा था, “मेरी परवरिश बहुत ही सुरक्षा के साथ की गई है। वह मुझे कभी भी दोस्तों के साथ पार्टी करने के लिए बाह नहीं जाने देते थे। उन्हें यह पसंद नहीं था कि बच्चे बाहर जाकर घूमें। मुझे लेकर उनकी सुरक्षा मेरे साथ हुए एक हादसे के बाद कुछ ज्यादा ही बढ़ गई थी। उस हादसे के वक्त मैं केवल तीन साल का था।”

बॉबी देओल ने अपने साथ हुए हादसे के बारे में बताया, “मेरी दादी, मां और बहन पापा की एक फिल्म देखने के लिए लीडो सिनेमा में गए हुए थे। मैं पापा और एक नौकरानी के साथ घर पर अकेला था। खेलते हुए ही मैं पहली मंजिल से नीचे जा गिरा। पापा को आवाज सुनाई दी तो वह हॉल में भागे-भागे आए और उन्होंने देखा कि मेरे चारों और खून ही खून है।”

बॉबी देओल ने पिता से जुड़े किस्से को साझा करते हुए आगे कहा था, “उन्होंने गुस्से में नौकरानी को थप्पड़ मार दिया और मुझे लेकर तुरंत अस्पताल भागे। उस दिन के बाद से ही पापा को यह डर रहता था कि अगर मैं कहीं बाहर जाउंगा और मुझे चोट लग गई तो कोई भी मदद के लिए मेरे आसपास मौजूद नहीं होगा।”

अपने एक इंटरव्यू में बॉबी देओल ने बताया था कि पिता धर्मेंद्र की तरह उनके बड़े भाई सनी देओल भी उन्हें कहीं बाहर जाने नहीं देते थे। उन्होंने कहा था, “जब मैं छोटा था तो सनी भैया भी मुझे बाहर अकेले जाने नहीं देते थे। मां और पापा की अनुपस्थिति में वह मेरा ध्यान रखते थे। जब भी मैं घर से बाहर जाता, वह मुझे घर पर रहने के लिए कह देते। न वो खुद पार्टी में जाते थे और न ही मुझे जाने देते थे।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट