scorecardresearch

फिल्म के पोस्टर में मां काली के हाथ में सिगरेट, डायरेक्टर बोलीं- कुछ गलत नहीं; नुसरत जहां ने दिया ऐसा जवाब

फिल्म काली के पोस्टर को लेकर शुरू हुए विवाद पर नुसरत जहां बोलीं कि मैं कहूंगी कि धर्म को बीच में मत लाओ। इस चीज को बेचने लायक मत बनाओ।

फिल्म के पोस्टर में मां काली के हाथ में सिगरेट, डायरेक्टर बोलीं- कुछ गलत नहीं; नुसरत जहां ने दिया ऐसा जवाब
विवादित पोस्टर पर मचा बवाल Photo Credit- @LeenaManimekali Twitter Handle

साउथ फिल्ममेकर मणिमेकलई की डॉक्यूमेंटी फिल्म ‘काली’ को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाल ही में उन्होंने अपनी इस फिल्म का एक पोस्टर रिलीज किया था। जिसमें मां काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया था और उनके हाथ में LGBTQ के सपोर्ट वाला झंडा भी दिखाई दे रहा है। इस पोस्टर पर सोशल मीडिया पर खूब बवाल मचा हुआ है।

वकील विनीत जिंदल ने मणिमेकलई के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। लीना मणिमेकलई के खिलाफ ये शिकायत नॉर्थ वेस्ट दिल्ली में दर्ज हुई है। अब पूरे विवाद पर फिल्ममेकर लीना का रिएक्शन भी आया है।

लीना मणिमेकलाई ने क्या कहा? फिल्म काली की डायरेक्टर लीना ने ट्वीट करते हुए लिखा कि फिल्म उन घटनाओं के इर्द-गिर्द घूमती है जो उस शाम की है जब काली प्रकट होती हैं और टोरंटो की सड़कों पर टहलती हैं। यदि आप तस्वीर देखते हैं, तो हैशटैग “अरेस्ट लीना मणिमेकलई” न डालें और हैशटैग “लव यू लीना मणिमेकलई” डालें।

इसके साथ ही लीना ने तमिल में बीबीसी से बात करते हुए ये भी कहा, “मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं है। मैं एक ऐसी आवाज के साथ रहना चाहती हूं जो बिना किसी डर के बोले…जब तक है। अगर इसकी कीमत मेरी जान है तो मैं दे दूंगी।” लीना के इस क्लैर‍िफ‍िकेशन के बावजूद सोशल मीड‍िया यूजर्स की नाराजगी कम नहीं हुई।

नुसरत जहां ने दी प्रतिक्रिया: उधर, एक्ट्रेस नुसरत जहां ने इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2022 में इस पूरे विवाद पर कहा कि मैं कहूंगी कि धर्म को बीच में मत लाओ। हर चीज को बेचने लायक मत बनाओ। बहुत आसान होता है अपने ड्राइंग रूम में बैठकर सारी मसालेदार स्टोरी को देखना। लेकिन अगर आप मेरी राय पूछेंगे तो मैंने हमेशा क्रिएटिविटी को अलग से सपोर्ट किया है। व्यक्तित्व को अलग सपोर्ट किया है, लेकिन यह भी माना है कि धार्मिक भावनाएं आहत नहीं की जा सकतीं।

क्रिएटिविटी और धर्म को अलग रखती हूं: नुसरत ने आगे कहा कि मैं किसी की धार्मिक भावनाएं आहत नहीं कर सकती क्योंकि मैं अपने धर्म को अपने हिसाब से फॉलो करती हूं और आप अपने तरीके से। क्रिएटिवली अगर आप कुछ कर रहे हो तो उसकी जिम्मेदारी आपकी है। मैं नहीं कहूंगी कि आप सही या गलत हो।अगर आप मेरी राय पूछोगे तो मैं क्रिएटिविटी और धर्म को अलग रखती हूं।

फिल्ममेकर ने दी प्रतिक्रिया: इस विवाद पर फिल्ममेकर अशोक पंडित ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। अशोक पंडित ने लिखा कि क्या सुप्रीम कोर्ट जिसने कन्हैयालाल की हत्या के लिए नुपुर शर्माको दोषी ठहराया था, अब एक फिल्म निर्माता के इस मामले को उठाएगा जिसने हिंदुओं की देवी मां काली को गाली दी है, उसे सलाखों के पीछे डालेगा। क्या UrbanNaxal गैंग और Lutyensmedia की बेगम इसकी निंदा करेंगी।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 04-07-2022 at 08:58:29 pm
अपडेट