हार सामने देख खलबली मची है- योगी आदित्यनाथ के बयान पर पूर्व IAS का तंज़, फिल्ममेकर ने भी साधा निशाना

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बीते दिन ट्वीट कर कहा कि राम भक्तों पर गोलियां चलाने वालों को याद रखोगे? उनके ट्वीट पर अब पूर्व आईएएस ने तंज कसा है।

CM Yogi Adityanath
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हाल ही में अपने ट्वीट को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं। दरअसल, एक ट्वीट में जहां उन्होंने मऊ दंगों को याद किया तो वहीं दूसरे ट्वीट में उन्होंने लोगों से सवाल किया कि जिन लोगों ने रामभक्तों पर गोलियां चलवाईं, क्या आप उन्हें माफ करेंगे। उनके इस ट्वीट पर अब फिल्म निर्माताओं से लेकर पूर्व आईएएस और विपक्ष के नेता भी खूब ट्वीट कर रहे हैं। पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी पर तंज कसते हुए कहा कि चुनाव आ रहा है तो खलबली मची हुई है।

सीएम योगी ने ट्वीट में लिखा था, “भाइयों-बहनों, जिन लोगों ने रामभक्तों पर गोलियां चलवाईं, क्या आप और हम उनको माफ करेंगे?” उनके ट्वीट का स्क्रीनशॉट साझा करते हुए पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने लिखा, “हताशा देखो, हार सामने खड़ी है तो खलबली मची है। कोरोना/ऑक्सीजन की कमी से हुई मौते, चिताएं, गंगा में तैरते शव, नोची गई रामनामी को भी नहीं भूलेंगे।”

सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए आगे लिखा, ” घूम फिरकर हिंदू-मुस्लिम पर ही आ जाते हैं। विकास की बात क्यों नहीं करते? बेरोजगारी, महंगाई, खेती-किसानी, भुखमरी पर भी बोलो।” वहीं दूसरे ट्वीट में सूर्य प्रताप सिंह ने सीएम योगी पर निशाना साधते हुए लिखा, “ट्विटर पर पिछले दो घंटे केवल हिंदू-मुस्लिम किया, योगी जी ने। मतलब, नींद उड़ी है।”

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के अलावा फिल्म निर्माता विनोद कापरी ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ के इस ट्वीट पर तंज कसा। फिल्म निर्माता ने लिखा, “साढ़े चार साल के कार्यकाल के बाद आदित्यनाथ 31 साल पहले मुलायम सिंह के वक्त की फायरिंग पर वोट मांग रहे हैं। इतना खोखला था रामराज्य सीएम योगी आदित्यनाथ?”

उनके अलावा सोशल मीडिया यूजर भी सीएम योगी आदित्यनाथ के ट्वीट पर खूब कमेंट कर रहे हैं। बहार नाम के यूजर ने लिखा, “भाइयों-बहनों, जिन लोगों ने लखीमपुर खीरी के किसानों पर गाड़ियां चढ़ा दीं, क्या आप और हम उनको माफ कर देंगे? जिन लोगों ने हाथरस की हमारी बहन को आधी रात में जला दिया, क्या आप और हम उनको माफ करेंगे?”

शाहिद नाम के यूजर ने सीएम योगी आदित्यनाथ के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “योगी शासन काल में कितने हजार फर्जी मुठभेड़ एनकाउंटर हुए, सबको याद हैं? सच बोलने-लिखने वालों को झूठे केस में जेल भेज दिया गया था? चुनाव में मौका सिर्फ उत्तर प्रदेश के लोगों के हाथों में रहेगा? पांच सालों से यूपी के लोग बेबस लाचारी में थे?”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
सेक्स रैकेट में गिरफ्तार हुई ‘मकड़ी’ बाल कलाकार श्वेता बसु
अपडेट