उत्तर प्रदेश में तालिबान कहां से आ गया? गाने का जिक्र कर रजत शर्मा ने CM योगी आदित्यनाथ से किया सवाल, मिला ऐसा जवाब

सीएम योगी आदित्यनाथ से रजत शर्मा ने सवाल किया कि यूपी चुनाव में तालिबान कहां से आ गया। उनकी इस बात पर सीएम ने जबरदस्त जवाब दिया।

CM Yogi Adityanath
योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश (फाइल फोटो)

यूपी विधानसभा 2022 में अब ज्यादा समय नहीं रह गया है, ऐसे में सभी पार्टियों ने भी अपनी-अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। स्वतंत्र देव सिंह ने भी ऐलान किया कि यूपी में भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा योगी आदित्यनाथ होंगे। चुनाव के सिलसिले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रजत शर्मा के शो में भी शिरकत की, जहां न्यूज एंकर ने उनसे सवाल किया कि एक गाना मशहूर हो रहा है कि योगी राज में नहीं चलेगी बातें तालिबान की। लेकिन उत्तर प्रदेश के चुनाव में यह तालिबान कहां से आ गया?

रजत शर्मा कि बात का जवाब देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, “आपने देखा होगा कि काबुल में जिस दिन यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटित हुई थी, वहां के राष्ट्रपति को देश छोड़कर भागना पड़ा था। उसके बाद जो घटनाक्रम हुए हैं, बहुत सारे बयानवीरों ने तालिबान को बधाइयां देनी शुरू कर दी थीं। जब हम लोगों ने इसका संज्ञान लेते हुए सख्ति दिखाई तो लोग अपने बयानों से पलटने लगे थे।”

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बारे में बात करते हुए आगे कहा, “तालिबान बर्बर और अराजक व्यवस्था को बढ़ावा दे रहा है, महिलाओं के साथ जिस प्रकार का अत्याचार वहां हुआ है, कोई सभ्य समाज इस बात को स्वीकार नहीं कर सकता है। तालिबानीकरण का बिल्कुल भी समर्थन नहीं होना चाहिए।”

सीएम योगी आदित्यनाथ की बात पर रजत शर्मा ने कहा कि जिन लोगों ने तालिबान को बधाइयां दीं, उनका कहना है कि तालिबान बदल रहा है, वो दहशतगर्द नहीं रहे। उनकी बात का जवाब देते हुए सीएम ने कहा, “ये लोग काबुल में जाकर उसका परीक्षण करें ना, भारत में रहकर नहीं। महिलाओं और बच्चों के साथ जिस तरह से अत्याचार हो रहे हैं, क्या वह किसी से छुपा हुआ है।”

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बारे में आगे कहा, “यह पहले तो वहां के समाज के साथ बर्बरता करेंगे, फिर बाद में आपस में ही लड़कर मर जाएंगे। लेकिन इन सबको देखते हुए तमाशबीन बनकर उसका समर्थन करना, यह जघन्य अपराध है और इसे स्वीकार नहीं करना चाहिए।” सीएम की बात पर न्यूज एंकर ने सवाल किया कि क्या योगी के राज में मुसलमानों को डरकर रहना होगा।

इसपर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, “डरकर रहने की जरूरत नहीं है। यूपी में 24 करोड़ जनता की सुरक्षा, उनके सम्मान और उनके स्वावलंबन की जिम्मेदारी सरकार की है। सरकार उनके साथ खड़ी है और साढ़े चार सालों की सरकार में किसी भी मजहब का व्यक्ति यह नहीं कह सकता है कि उनके पर्व में सरकार ने बाधा डाली है।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट