scorecardresearch

माध्यम बदलने के साथ और मोहक होता जा रहा सिनेमा

हिंदी सिनेमा की पहली अभिनेत्री जुबेदा बेगम धनराज गीर ने 1931 में भारतीय बोलती फिल्म आलम आरा में पहली बार अभिनय किया।

माध्यम बदलने के साथ और मोहक होता जा रहा सिनेमा
शाहरुख खान। (फाइल फोटो)

आरती सक्सेना

इसके बाद देविका रानी ने 1933 में फिल्म कर्मा में अभिनय किया। 1937 में पहली रंगीन फिल्म किसान कन्या आई, जो मोती जी गिद्वानी के निर्देशन में बनी थी। पहली रंगीन फिल्म किसान कन्या ने औसत सफलता प्राप्त की थी लेकिन इस फिल्म ने तकनीक में इतिहास रच कर भारत का नाम रोशन किया था। शुरुआत में पौराणिक फिल्में ज्यादा बनती थीं लेकिन बाद में ऐतिहासिक किरदारों, देशभक्ति, हास्य, डरावनी और जादू पर आधारित फिल्मों का निर्माण होने लगा। देखते-देखते फिल्मों के प्रति लोगों का प्यार बहुत बढ़ गया…

इसके बाद कई दिग्गज फिल्म निर्माता, कलाकार मिले, जिन्हें भुला पाना मुश्किल है। जैसे भारत भूषण, दिलीप कुमार, भगवान दादा, केएल सहगल, राजेंद्र कुमार, जानी वाकर, अशोक कुमार, किशोर कुमार, शाहरुख खान, सलमान खान, अनिल कपूर आदि कई बेहतरीन कलाकारों ने सिनेमा के जरिए अपना योगदान दिया।

मनोरंजन के लिए सिनेमा अहम माध्यम के रूप में सामने आया है। 109 साल पहले मूक चलचित्र सिनेमा की शुरुआत हुई। 1896 में पहली बार बाइस्कोप के जरिए चलती फिरती तस्वीरों वाली फिल्मों की शुरुआत हुई जो दर्शकों के लिए किसी आश्चर्य से कम नहीं था। इसके बाद 1913 में दादा साहब फाल्के थिएटर में पहली बार राजा हरिश्चंद्र ऐतिहासिक मूक फिल्म आई।

आखिरकार 1931 में मुंबई के मैजिस्टिक सिनेमा में चलती फिरती बोलती गाती फिल्म की शुरुआत हुई जो कि श्वेत-श्याम सिनेमा के नाम से जाना जाता था। इसके बाद कई दिग्गज फिल्म निर्माता, कलाकार मिले, जिन्हें भुला पाना मुश्किल है। जैसे भारत भूषण, दिलीप कुमार, भगवान दादा, केएल सहगल, राजेंद्र कुमार, जानी वाकर, अशोक कुमार, किशोर कुमार, शाहरुख खान, सलमान खान, अनिल कपूर आदि कई बेहतरीन कलाकारों ने सिनेमा के जरिए अपना योगदान दिया। अगर हीरोइनों की बात करें तो वैजयंती माला, आशा पारेख, नलिनी जयवंत, हेमा मालिनी, श्रीदेवी, नूरजहां जैसी अभिनेत्रियों ने फिल्मों में जानदार अभिनय करके कभी ना मिटने वाली छाप छोड़ दी।

फिल्म निर्माताओं की बात करें तो सत्यजीत रे, वी शांताराम, देवकी बोस, बिमल राय, गुरुदत्त, श्याम बेनेगल, ऋषिकेश मुखर्जी, गोविंद नीलामी ,यश चोपड़ा, बीआर चोपड़ा, सूरज बड़जात्या, प्रकाश झा, प्रकाश मेहरा, मनमोहन देसाई आदि सिनेमा जगत की शान रहे। ऐसे कई संगीतकार थे जिनका संगीत हमेशा के लिए अमर हो गया। लक्ष्मीकांत प्यारेलाल, कल्याणजी आनंदजी, शंकर जयकिशन, नदीम श्रवण, जतिन ललित, विशाल शेखर, सलीम सुलेमान, जैसी कई संगीतकार जोड़ियों ने सिनेमा को बेहतरीन संगीत दिया।

इसके अलावा आरडी बर्मन, एसडी बर्मन, एआर रहमान जैसे कई संगीतकारों ने यादगार गाने दिए। गीतकार साहिर लुधियानवी, आनंद बक्शी, नीरज, गुलजार, मजनू सुल्तानपुरी, शैलेंद्र आदि ने गीत में जान डाल दी। इसी तरह इन गानों को अपनी आवाज देने वाले हेमंत कुमार, मोहम्मद रफी, किशोर कुमार, लता मंगेशकर, आशा भोसले, शमशाद बेगम, नूरजहां आदि गायक गायिकाओं ने श्रोताओं के दिलों में अपना घर बना लिया। ऐसी महान हस्तियों ने 109 साल के सफर में फिल्मों को जमीन से आसमान तक पहुंचा दिया।

बाक्स आफिस बदलाव

जैसे-जैसे फिल्म निर्माण का सिलसिला प्रगति की ओर बढ़ा वैसे वैसे फिल्म निर्माण और फिल्म के प्रचार उनकी सफलता में भी काफी सारे बदलाव देखने को मिले। फिलहाल वीएफएक्स इफेक्ट के जरिए फिल्मों में वह सब कुछ दिखाया जाता है, जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते। उपग्रह आने के बाद फिल्म निर्माण में इतना बदलाव आया कि बालीवुड की तुलना हालीवुड से होने लगी।

पहले छविगृहों के बाहर लंबी लाइन लगती थी। फिल्मों के टिकट ब्लैक होते थे। पहले फिल्म रिलीज से पहले बड़े-बड़े पोस्टर दीवारों पर चिपकाए जाते थे, रिक्शे-गाड़ियों में माइक में बोल-बोल कर फिल्म का प्रचार होता था। अब रिलीज से एक महीना पहले से फिल्म का प्रचार शुरू हो जाता है।

फिल्म प्रचार के लिए करोड़ों में खर्च किए जाते हैं। अब मल्टीप्लेक्स सिनेमा का दौर है जहां दर्शक पूरी शानो शौकत के साथ फिल्म देखने का मजा लूटते हैं। मल्टीप्लेक्स सिनेमा के अलावा ओटीटी प्लेटफार्म ने भी फिल्मों के स्तर को और ऊंचा किया है। फिल्मी हस्तियां और मीडिया के बीच भी हमेशा से चोली दामन का साथ रहा है। लेकिन आजकल सोशल मीडिया आने के बाद बहिष्कार का दौर चल रहा है।

इन सभी बातों से यही निष्कर्ष निकलता है की अगर फिल्में दर्शकों के बिना अधूरी है तो दर्शक भी फिल्मों के बिना अधूरे है ऐसे में यह कहना गलत न होगा सिनेमा और दर्शक एक शरीर दो जान है लिहाजा दोनों ही एक दूसरे के बिना अधूरे है।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 06-10-2022 at 09:37:54 pm