ताज़ा खबर
 

Chhapaak Controversy: मेघना गुलजार बोलीं- पैसे ऐंठने के लिए कहानी पर हो रहा दावा, सच्ची घटनाओं का कॉपीराइट नहीं होता

‘छपाक’ फिल्म की निदेशक मेघना गुलजार ने कहा है कि याचिकाकर्ता बेवजह प्रचार पाने के साथ ही उन पर दबाव बनाना चाहता है। उस पर यह भी आरोप लगा कि वह मेघना गुलजार की प्रतिष्ठा को आहत कर पैसे ऐंठना चाहता है।

Author मुंबई | Updated: January 8, 2020 1:06 PM
‘छपाक’ फिल्म का प्रमोशन (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

‘छपाक’ फिल्म की निदेशक मेघना गुलजार ने मुंबई उच्च न्यायालय को बताया कि सच्ची घटनाओं पर किसी का कोई कापीराइट नहीं हो सकता है। इसके साथ ही मंगलवार (07 जनवरी) को उन्होंने एक लेखक द्वारा दाखिल याचिका को खारिज किए जाने की अपील भी की है। बता दें कि लेखक का दावा है कि एसिड हमले की पीड़िता पर मूल रूप से कहानी उन्होंने ही लिखी थी जिस पर अब फिल्म बनाई गई है। लेखक राकेश भारती द्वारा दाखिल याचिका पर दायर हलफनामे में मेघना गुलजार ने यह बात कही है। इसके साथ लेखक ने फिल्म के लेखकों में अपना नाम भी शामिल किए जाने की मांग की है। गौरतलब है कि फिल्म ‘छपाक’ 10 जनवरी को रिलीज हो रही है।

सच्ची घटनाएं और तथ्य कापीराइट के अधिकारी नहींः नायक नायक एंड कंपनी के वकीलों अमित नायक तथा मधु गाडोडिया के जरिए दाखिल किए गए हलफनामे में कहा गया है कि याचिका ‘पूरी तरह गलत, मनमानीपूर्ण, कानूनी रूप से गलत है और स्वीकार किए जाने योग्य नहीं है।’ हलफनामे में कहा गया है कि याची भारती ने एसिड हमले में जिंदा बची लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर आधारित फिल्म के विचारों के सुरक्षा की मांग की है। इसमे आगे कहा गया है, सच्ची घटनाएं और तथ्य कापीराइट के अधिकारी नहीं हैं।

Hindi News Today, 8 January 2020 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

याचिकाकर्ता पर लगा बेवजह प्रचार पाने का आरोपः मामले में निदेशक ने इसमें आगे कहा है कि याचिकाकर्ता बेवजह प्रचार पाने के साथ ही मेघना गुलजार पर दबाव बनाना चाहता है। वह मेघना गुलजार की प्रतिष्ठा को आहत कर पैसा ऐंठना चाहता है। दीपिका पादुकोण अभिनीत यह फिल्म दस जनवरी को रिलीज होनी है।

‘छपाक’ फिल्म की अभिनेत्री ने किया जेएनयू का दौराः बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों पर हुए हमले के बाद छात्रों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए मंगलवार को जेएनयू पहुंची लेकिन उन्होंने वहां मौजूद लोगों को संबोधित नहीं किया है। दीपिका शाम सात बज कर 40 मिनट पर विश्वविद्यालय परिसर पहुंची और उन्होंने एक जनसभा में हिस्सा लिया। दीपिका अपनी फिल्म के प्रचार के लिए देश के कई शहरों का दौरा कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के मामले में पुलिस ने किया रवीना,फराह और भारती को तलब
2 फिल्म क्रिटिक से लेकर पार्टियों ने किया दीपिका का विरोध, जानिए क्या पड़ेगा छपाक की कमाई पर असर
3 JNU छात्रों को खटकी दीपिका पादुकोण की चुप्पी! कन्हैया कुमार बोले- अच्छा कैंपस आई थीं? आइशी ने कहा- हस्ती हैं, बोलना चाहिए था..
ये पढ़ा क्या?
X