ताज़ा खबर
 

चेतन भगत ने पूछा- कोरोना और बेरोजगारी में से किसकी ज्यादा चिंता? यूजर्स बोले- तुम्हारी बेवकूफी…

चर्चित लेखक चेतन भगत ने ट्विटर पर एक पोल किया। उन्होंने लिखा, 'कोरोना वायरस और अर्थव्यवस्था/बेरोजगारी में से आपको किसकी ज्यादा फिक्र है?'। इसके बाद वे ट्रोल्स के निशाने पर आ गए।

चेतन भगत ने भी कोरोना वायरस और इकॉनमी की हालत पर एक ट्वीट किया, जिसके बाद वे ट्रोल्स के निशाने पर आ गए।

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश में लॉक डाउन भी किया गया है। इसके अलावा दूसरे तमाम एहतियात भी बरते जा रहे हैं। हालांकि लॉक डाउन के चलते तमाम कारोबार ठप हो गए हैं। बड़े पैमाने पर लोगों की नौकरी जाने का खतरा मंडरा रहा है। एक्सपर्ट्स इकॉनमी को लेकर चिंता व्यक्त कर रहे हैं। इसी क्रम में लेखक चेतन भगत ने भी कोरोना वायरस और इकॉनमी की हालत पर एक ट्वीट किया, जिसके बाद वे ट्रोल्स के निशाने पर आ गए।

चर्चित लेखक चेतन भगत ने ट्विटर पर एक पोल किया। उन्होंने लिखा, ‘कोरोना वायरस और अर्थव्यवस्था/बेरोजगारी में से आपको किसकी ज्यादा फिक्र है?’। इस ट्वीट के बाद चेतन भगत ट्रोल्स के निशाने पर आ गए। तमाम यूजर्स ने उन्हें घेर लिया। एक यूजर ने लिखा, ‘मुझे तो चिंता उस राइटर की है, जो कभी अच्छी किताबें लिखता था, लेकिन इन दिनों ट्रोल बन गया है’। निमिश देसाई नाम के अन्य यूजर ने लिखा, ‘मुंबई के किसी क्वारंटीन सेंटर में हेल्थ वर्कर के तौर पर 7 दिन काम करें, इसके बाद हमसे हमारी प्राथमिकताओं के बारे में पूछें…’।

कुछ अन्य यूजर्स भी चेतन भगत पर निशाना साधते दिखे। एक यूजर ने लिखा कि मुझे तो कोरोना और जॉब से ज्यादा चिंता आपकी और आपकी अगली किताब की है। हालांकि तमाम यूजर्स ने चेतन भगत के पोल में हिस्सा भी लिया और अपनी बात रखते नजर आए। मुकेश नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा, जिंदगी रहेगी तो इकॉनमी भी रहेगी।

एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘हमें दोनों (कोरोना वायरस व अर्थव्यवस्था) की चिंता है। लेकिन मौजूदा परिस्थिति में हमें ज्यादा फोकस कोरोना को खत्म करने पर करना चाहिए, ताकि लोग सर्वाइव कर सकें। थोड़ा समय लगेगा, लेकिन इकॉनमी की हालत सुधर जाएगी, लेकिन अगर किसी की जान चली गई तो वापस नहीं आएगी…’।


बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते भारत में 21 दिनों के लॉक डाउन का ऐलान किया गया है, जो 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। हालांकि खबर है कि तमाम राज्य लॉक डाउन बढ़ाने के पक्ष में हैं और उन्होंने केंद्र सरकार से इसकी सिफारिश भी की है। अब अंतिम फैसला केंद्र को लेना है। गौरतलब है कि मंगलवार की शाम तक भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 4421 हो गई। जबकि, संक्रमण की चपेट में आकर मरने वालों का आंकड़ा भी 117 हो गया है।

Next Stories
1 ‘चाचू की यह हिम्मत की ताऊ बनने चले, पापा को गुस्सा आया तो…’, ट्रंप ने दी भारत को चेतावनी तो अनुराग कश्यप ने कसा तंज
2 जब विद्या बालन को होटल के कमरे में ले जाना चाहता था डायरेक्टर, एक्ट्रेस ने सिखा दिया था सबक
3 Coronavirus: पत्नी-बच्चे दुबई में, मुंबई में अकेले रामायण-महाभारत के सहारे समय काट रहे हैं संजय दत्त, नॉन वेज भी छोड़ा
ये पढ़ा क्या?
X