ताज़ा खबर
 

जब गेटअप बन गया क्रूर सिंह के लिए मुसीबत, ‘चंद्रकांता’ के एक्टर ने सुनाया पूरा किस्सा

Chandrakanta, Krur singh: चंद्रकांता सीरियल में क्रूरसिंह कैरेक्टर काफी मशहूर हो चुका था। इस रोल को एक्टर अखिलेंद्र मिश्रा (Akhilendra Mishra) ने जीवंत किया था।

क्रूरसिंह कैरेक्टर को निभाने वाले एक्टर अखिलेंद्र मिश्रा

1994 से 1996 तक दूरदर्शन पर सीरियल चंद्रकांता ने दर्शकों के दिलों पर खूब राज किया। इस शो में बड़ी आंखों औऱ काली मूछों वाले ‘क्रूर सिंह’ ने लोगों का खूब मनोरंजन किया। सीरियल में क्रूरसिंह कैरेक्टर काफी मशहूर हो चुका था। इस रोल को एक्टर अखिलेंद्र मिश्रा (Akhilendra Mishra) ने जीवंत किया था।

अखिलेंद्र बताते हैं कि कैसे उन्होंने इस शो में अपनी खास जगह बनाई और शो में उन्हें ये यादगार गेटप कैसे मिला। अखिलेंद्र बताते हैं कि शो में दिखने वाला क्रूरसिंह पहले वैसा नहीं था। गेटअप को वक्त रहते बदला गया था। एक्टर ने बताया जब इस सीरियल की शूटिंग शुरू हुई तो मेरा गेटअप बिलकुल अलग था।

एक्टर ने कहा- ‘मेरा भेस बेहद खूबसूरत राजकुमार की तरह बन कर उभरा था। सुंदर राजकुमार औऱ उसके चेहरे पर पतली मूछें। मैंने अपनी टीम से कहा कि मेरा नाम क्रूर सिंह है औऱ मैं बिलकुल भी वैसा नहीं दिख रहा हूं जैसा दिखना चाहिए। तभी शो की डायरेक्टर नीरजा जी हंसने लगीं। मुझे लगता है कि शायद क्रूर सिंह का लुक उनके जहन में था। इसके बाद उन्होंने पहले शेड्यूल को निपटाया और मेरे लुक को चेंज किया। दूसरे शेड्यूल में मेरा लुक चेंज हो गया।’

अब नए लुक में एक्टर को समस्या आई कि बड़ी बड़ी मूछों में उनका चेहरा नहीं दिख रहा था जिससे वह पहचाने नहीं जा रहे थे। ऐसे में अखिलेंद्र ने चिंता जाहिर की कि उन्हें तो कोई पहचान ही नहीं पाएगा। अखिलेंद्र ने बताया- ‘उन्होंने आगे कहा कि इस लुक के साथ मैदान में उतर, पूरी दुनिया तुम्हें याद रखेगी।’ उस लुक के साथ मैं दर्शकों के सामने आया मैं चिंता में था कि कोई मुझे पहचानेगा नहीं। ऐसे में मैंने सोचा क्यों न कुछ ऐसा कुछ अलग किया जाए जिससे लोग झट से मुझे पहचान लें। तब लोगों ने मेरी आवाज से मुझे पहचानना शुरू कर दिया।’

अखिलेंद्र ने कहा- ‘जब मैं अपने सीन पढ़ता तो उसमें ‘यॉक’ की आवाज निकालता। जब मैंने इस ओर गौर किया कि मैं जब भी डायलॉग बोल रहा हूं तो ऐसी आवाज निकलती है तो मैंने इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। यह मेरे लिए एक गुड एक्सपेरिमेंट साबित हुआ। नीरजा जी को मेरा ये नयापन अच्छा लगा। उन्होंने डायलॉग नए सुने थे नए सेंटेन्स सुने थे लेकिन ऐसी आवाज नहीं। बच्चों ने इस आवाज को खूब कैच किया। और ये कैरेक्टर पॉपुलर हो गया। चंद्रकांता के बाद ही मुझे मेरी पहली फिल्म वीरगती मिली थी।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना वायरस से जंग हारे Star Wars के एक्टर Andrew Jack, 76 साल की उम्र में मौत
2 लॉक डाउन ने मिटाई दूरी, ऋतिक के पास लौटीं एक्स वाइफ सुजैन तो पिता राकेश रोशन बोले- दुनिया को एक साथ…
3 रामायण की सीता दीपिका चिलखिया की पर्दे पर वापसी, सरोजिनी नायडू की बायोपिक में आएंगी नजर