ताज़ा खबर
 

चीन में दंगल की कमाई देख बोले विशेषज्ञ- हॉलीवुड की जगह ले सकती हैं बॉलीवुड फिल्‍में

पिछले तीन सालों में चीन में रिलीज़ हुई आठ हिंदी फिल्मों का कारोबार महज 2784 करोड़ है जो दंगल की कमाई से कई गुना पीछे है। अमेरिका के साथ ट्रेड में चल रही तनातनी के चलते ये कयास भी लगने शुरू हुए हैं कि चीन अब हॉलीवुड फिल्मों की रिलीज़ को घटाने पर भी जोर देना शुरू करेगा

दंगल की सफलता ने चीनी मार्केट में भारतीय फिल्मों के लिए कई रास्ते खोल दिए हैं।

दो साल पहले आई आमिर खान की फिल्म ‘दंगल’ बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी। कई ट्रेड पंडित तो फिल्म को सुपरहिट करार दे ही रहे थे लेकिन जो एक बात सब लोगों के लिए हैरानी का विषय थी वो था चीन में इस फिल्म का धमाकेदार बिजनेस। दंगल ने चीन में 1000 करोड़ से भी अधिक की कमाई की और इसके बाद ही चीन के मार्केट को अचानक काफी गंभीरता से लिया जाने लगा।

चाइनीज एकेडेमी ऑफ सोशल साइंस के अस्सिटेंट रिसर्च फैलो के मुताबिक, चीन अमेरिका के बीच व्यापारिक तनातनी और भारतीय फिल्मों को लेकर चीनी लोगों के खास लगाव के चलते भारत के पास चीन में अपने मार्केट को ग्रो करने का सुनहरा मौका है। भारत के प्रोड्यूसर्स को अमेरिका और चीन के बीच संकट का फायदा उठाना चाहिए। चीन के बड़े बाज़ार और इस देश में भारतीय फिल्मों की सफलता को देखते हुए भारत चीनी मार्केट के लिए खास रणनीति बना सकता है। भारत को-प्रोडक्शन जैसी तकनीकों के सहारे चीन के मार्केट में अपनी पैठ भी बना सकता है। 2017 में चीन का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 58,800 करोड़ था जो पिछले साल के मुकाबले 13.45 प्रतिशत बढ़ गया था। इस कलेक्शन में 46 प्रतिशत हिस्सा विदेशी फिल्मों का था। अमेरिका के बाद चीन फिल्मों के मामले में सबसे बड़ा मार्केट है। चीन में फिलहाल 41000 सिनेमा स्क्रीन्स हैं जो भारत के मुकाबले लगभग दुगुना है।

दंगल आज भी चीन में सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली हिंदी फिल्म बनी हुई है।

2017 में अगर चीन की टॉप 10 फिल्मों की बात की जाए तो सिर्फ पांच फिल्में ही ऐसी थी जो चीन में प्रोड्यूस हुई थीं। जाहिर है, चीन में टॉप फिल्मों का कारोबार केवल चीनी फिल्मों तथा हॉलीवुड ब्लॉकबस्टर्स तक ही सीमित नहीं रह गया है और भारत को इस मामले में काफी फायदा पहुंच रहा है। मसलन पिछले साल भी चीन की टॉप फिल्मों में सीक्रेट सुपरस्टार और बजरंगी भाईजान का नाम शामिल था। वहीं आमिर खान की ‘दंगल’ चीन में 1300 करोड़ कमाकर सबसे लोकप्रिय हिंदी फिल्म के तौर पर शुमार हुई है। गौरतलब है कि पिछले तीन सालों में चीन में रिलीज़ हुई आठ हिंदी फिल्मों का कारोबार महज 2784 करोड़ है जो दंगल की कमाई से कई गुना पीछे है। अमेरिका के साथ ट्रेड में चल रही तनातनी के चलते ये कयास भी लगने शुरू हुए हैं कि चीन अब हॉलीवुड फिल्मों की रिलीज़ को घटाने पर भी जोर देना शुरू करेगा जिसका सीधा फायदा भारत की फिल्मों को मिलेगा। 2016 से 2018 तक भारत की 8 फिल्मों ने चीन में दस्तक दी है वहीं इस दौरान अमेरिका की 156 फिल्मों ने चीन के मार्केट में अपनी एंट्री दर्ज कराई है। नियमों के अनुसार, भारत हर साल चीनी मार्केट में पांच फिल्मों को भेज सकता है।

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App