scorecardresearch

कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के नए सीएम एकनाथ शिंदे को इस अंदाज में दी बधाई, फिल्ममेकर बोले- मोदी जी ने क्लीन बोल्ड कर

पंगा एक्ट्रेस कंगना रनौत ने एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) को महाराष्ट्र का नया सीएम बनने की सोशल मीडिया पर खास अंदाज में बधाई दी है।

कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के नए सीएम एकनाथ शिंदे को इस अंदाज में दी बधाई, फिल्ममेकर बोले- मोदी जी ने क्लीन बोल्ड कर
बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (फोटो क्रैडिट-इंस्टाग्राम-kanganaranaut )

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद एकनाथ शिंदे ने नए सीएम के तौर पर शपथ ले ली है, जिसके बाद अब विधानसभा में बहुमत साबित करने की तैयारी की जा रही है। इस बीच उन्हें सीएम बनने पर हर कोई शुभकामनाएं दे रहा है। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी उन्हें खास अंदाज में बधाई दी है।

कंगना ने दी एकनाथ शिंदे को बधाई: कंगना रनौत ने एकनाथ शिंदे की तस्वीर को अपने अधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर करते हुए लिखा कि सफलता की क्या बेहतरीन प्रेरक कहानी है। जीवन यापन के लिए ऑटो रिक्शा चलाने से लेकर देश में सबसे ताकतवर व्यक्ति बनने तक का सफर, बधाई हो सर।

बता दें कंगना और उद्धव सरकार के बीच रिश्ते कुछ खास नहीं रहे हैं। जिस तरह से कंगना रनौत के ऑफिस पर उद्धव सरकार ने बुल्डोजर चलाया था, उसके बाद कंगना ने उद्धव सरकार पर तीखा हमला बोला था। हाल ही में कंगना ने उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद कहा था कि 2020 में मैंने कहा था कि लोकतंत्र में विश्वास चलता है, जिन लोगों ने इस विश्वास को तोड़ा है सिर्फ लालच के लिए उनका अंत होगा। अहम का अंत होगा।

विवेक अग्निहोत्री ने किया ट्वीट: वहीं विवेक अग्निहोत्री ने ट्वीट किया है, बधाई हो एकनाथ शिंदे, डाइनैमिक लीडरशिप के लिए देवेंद्र फणनवीस को भी बधाई हो। अब हम लोग कम से म बिना खौफ के जी सकेंगे। जय महाराष्ट्र।

अशोक पंडित ने किया ट्वीट: इसी के साथ फिल्ममेकर अशोक पंडित ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि मोदी जी की गुगली ने सबको क्लीन बोल्ड कर दिया। राजनीतिक पंडित अपना सिर खुजला रहे हैं।

शिवसेना ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा: एकनाथ सरकार द्वारा बहुमत साबित करने कि तैयारी की जा रही है। लेकिन शिवसेना ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। शिवसेना की तरफ से चीफ व्हिप सुनील प्रभु ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई है कि जब तक सुप्रीम कोर्ट विधायकों की अयोग्यता पर फैसला नहीं सुना देता, तब तक विधानसभा में नई सरकार के बहुमत परीक्षण पर रोक लगाई जाए। बता दें कि राज्यपाल की तरफ से कल यानी 2 जुलाई को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है। जिसमें शिंदे गुट को अपना बहुमत साबित करना होगा

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट