कभी कारखाने खुलते थे, अब ठेले लगाने की होड़ मची है- पीएम मोदी का नाम लेकर बॉलीवुड एक्टर ने मारा ताना

कमाल राशिद खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश का प्रधानमंत्री एक चाय वाला है, इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं क्योंकि देश के आधे लोग बेचने वाले ही हैं।

narendra modi, kamaal rashid khan, unemployment in india
केआरके ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है (Photo-PTI)

बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान (KRK) नरेंद्र मोदी सरकार पर अक्सर हमलावर रहते हैं। अब उन्होंने देश में बढ़ती बेरोजगारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि पहले देश में कारखाने, कंपनियां खुलती थीं लेकिन अब सड़कों पर ठेले ही ठेले नजर आते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश का प्रधानमंत्री एक चाय वाला है, इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं क्योंकि देश के आधे लोग बेचने वाले ही हैं।

केआरके ने मंगलवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में लिखा, ‘चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री है इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है, जब देश में 50% लोग बेचने वाले ही हैं।’

केआरके ने एक और ट्वीट में लिखा, ‘एक वक्त था जब देश में कारखाने, कंपनियां खुलती थीं! आज चाय के ठेले, सब्जी के ठेले, पकोड़े के ठेले, लगाने की होड़ लगी है! रोड पे जिधऱ नज़र जाएगी, ठेले ही ठेले दिखेंगे! देश ज़बर्दस्त तरक़्क़ी कर रहा है।’

एक्टर के इस ट्वीट पर यूजर्स भी अपनी राय दे रहे हैं। मिस्टर शाह नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘कुछ भी हो, आएगा तो मोदी और योगी ही।’

भास्कर नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘शोरूम और कंपनी में काम करने वाले 15, 20, 30 हजार कमाते हैं लेकिन ये चाय वाले, समोसा वाले, पकोड़ा वाले उनसे ज्यादा कमाते हैं और वो भी बिना टैक्स दिए। उनको इस नजरिए से मत देखिए। जॉब करने वालों की तुलना में उनके पास ज्यादा पैसा होता है।’

दत्ता जी नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘खान ने कहा था, अम्मी जान कहती हैं कोई धंधा छोटा नहीं होता। पहले पंक्चर की दुकान करते थे अब ठेले लगा रहे हैं और क्या विकास चाहिए।’

आवेक नाम के एक यूजर लिखते हैं, ‘वैसे इसका एक दूसरा पहलू भी है। जो लोग पानी पूरी, कचौड़ी, समोसा बेचते हैं, दिल्ली जैसे शहरों में हर दिन 2000 कमाते हैं। और वो भी मेट्रो स्टेशन के बाहर खड़े होकर। तो बस सोचने की बात है।’

नितिन नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘क्या करें सर, अब ऐसे ही गुजारा करना पड़ेगा। मैं इंग्लिश ग्रेजुएट हूं लेकिन जॉब नहीं हुआ तो यही करना पड़ेगा। उबला अंडा बेचना पड़ेगा।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट