ताज़ा खबर
 

ताली-थाली बजवाकर ड्रामा किया, लोग बगैर ऑक्सीजन मर रहे- PM मोदी पर फूटा बॉलीवुड एक्टर का गुस्सा; सुनाई खरी-खोटी

कमाल आर खान (KRK) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खरी- खोटी सुनाते हुए एक वीडियो जारी किया है। उन्होंने कहा कि सरकार और हमारी स्वास्थ्य व्यवस्था दोनों इस महामारी से निपटने में नाकाम रही है।

कमाल आर खान कोविड महामारी को लेकर अक्सर मोदी सरकार पर हमलावर रहते हैं (File Photo)

कोविड- 19 महामारी से निपटने की नरेंद्र मोदी सरकार की रणनीति विफल साबित हुई दिखी है जिसकी कई हलकों में जोरदार आलोचना हो रही है। दुनिया के मशहूर मेडिकल जर्नल ‘द लैंसेट’ में भी भारत के प्रधानमंत्री की तीखी आलोचना हुई है। जर्नल के संपादकीय में नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए लिखा गया कि उनका ध्यान ट्विटर पर अपनी आलोचना दबाने पर अधिक और कोविड- 19 महामारी पर काबू पाने में कम था। नरेंद्र मोदी की आलोचना बॉलीवुड के कुछ कलाकार भी कर रहे हैं। एक्टर कमाल आर खान (KRK) ने भी नरेंद्र मोदी को खरी- खोटी सुनाते हुए एक वीडियो जारी किया है।

इस वीडियो में केआरके कह रहे हैं कि जब हमारे पास वक्त था तब हमने इस महामारी से निपटने की रणनीति नहीं बनाई। वो बोले, ‘जब मार्च में मोदी जी ने लॉकडाउन लगाया था तब वो एक पब्लिसिटी स्टंट था, ड्रामा था, उस वक्त लॉकडाउन की बिल्कुल जरूरत नहीं थी। उसके बाद मोदीजी ने थालियां बजवाई, दीए जलवाए, हवन करवाए, वो सब भी पब्लिसिटी स्टंट था क्योंकि उससे तो कोरोना भागने वाला नहीं था।’

केआरके ने आगे कहा, ‘मैंने उसी वक्त कहा था कि ये ड्रामा काम नहीं आएगा, आने वाले समय में देश में महामारी जरूर आएगी और उस वक्त मोदीजी को पछताना पड़ेगा। आज चारों तरफ हाहाकार मचा है, लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल रही, दवाईयां नहीं मिल रही। लोगों को हॉस्पिटल की सुविधा नहीं मिल रही। सड़क पर मर रहे हैं लोग, हॉस्पिटल के गेट पर, अपनी कार में, कोई अपनी सीढ़ियों पर बैठे- बैठे मर रहा  है।’

केआरके ने कहा कि सरकार और हमारी स्वास्थ्य व्यवस्था दोनों इस महामारी से निपटने में नाकाम रही है। केआरके ने नरेंद्र मोदी सरकार की आत्मनिर्भर भारत पर भी तंज़ कसा। उन्होंने कहा कि मोदीजी ने आत्मनिर्भर भारत में कह दिया है कि लोग अपना ख्याल खुद रखें, हॉस्पिटल खुद ढूंढे, बेड, ऑक्सीजन, दवाइयों का इंतजाम खुद करें।

 

वहीं भारत में पूर्ण लॉकडाउन लगाने की भी कई हलकों में मांग उठ रही है लेकिन सरकार की तरफ से फिलहाल सम्पूर्ण लॉकडाउन के कोई संकेत नहीं दिख रहे।

 

भारतीय चिकित्सा संघ (Indian Medical Association) ने हाल ही में केंद्र सरकार से पूर्ण लॉकडाउन की मांग की थी लेकिन प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया गया है। IMA ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार ने चिकित्सा क्षेत्र के विद्वानों की सलाह को सिरे से खारिज कर दिया और प्रस्ताव को कूड़ेदान में डाल दिया।

Next Stories
1 हम अपने चैनल पर क्या चलाएं आप तय नहीं करेंगे- संबित पात्रा और एंकर के बीच हो गई तीखी बहस; देखें
2 अमिताभ-रेखा के साथ ‘सिलसिला’ में काम नहीं करना चाहतीं थीं जया बच्चन, यश चोपड़ा ने किया ये वादा तब हुईं थीं राज़ी
3 जिम्मेदार कौन? पंजाब की नहर में कथित तौर पर मिले रेमडेसिवीर इंजेक्शन तो संबित पात्रा ने किया सवाल; मिलने लगे ऐसे जवाब
यह पढ़ा क्या?
X