ओवैसी ने किसान आंदोलन में साथ दिया, क्या CAA-NRC पर उनका साथ दोगे? अमिश देवगन ने पूछा राकेश टिकैत से सवाल तो मिला था ये जवाब

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत से अमिश देवगन ने एक इंटरव्यू में किसान आंदोलन को लेकर सवाल किया था। इसके जवाब में उन्होंने कुछ ऐसा कहा था।

BKU Leader Rakesh Tikait
किसान नेता राकेश टिकैत (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर, सोमवार से शुरू हो रहा है। इसी दिन तीन कृषि कानूनों को रद्द करने वाला बिल संसद की पटल पर रखा जाएगा। खुद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शनिवार को ये जानकारी दी है। ऐसे में राकेश टिकैत का एक पुराना इंटरव्यू वायरल हो रहा है। इसमें वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन ने टिकैत से कृषि कानून को लेकर कई सवाल पूछे थे। हालांकि राकेश टिकैत ने साफ कर दिया था कि जब तक सरकार के द्वारा एमएसपी पर कोई फैसला नहीं लिया जाता, तब तक वह वापस नहीं लौटेंगे।

अमिश देवगन ने सवाल पूछा था, ‘आपने रास्ता दिखा दिया। ओवैसी को आप भाईजान या चाचाजान कहते हैं। ये लोग जैसे कहते हैं कि जैसे किसान का कानून वापस लिया तो अब मुसलमान भी सड़क पर आएगा। इसलिए अब CAA-NRC को भी वापस लेना चाहिए।’ राकेश टिकैत ने इसका जवाब दिया था, ‘इसमें कोई जाति का मामला है। हमने पहले भी कहा है कि अब हिंदू-मुस्लिम और जिन्ना आएगा, लेकिन जनता को इन लोगों से संभलकर रहना है। अब जिन्न भी आएंगे।’

अमिश देवगन ने अगला सवाल किया था, ‘लेकिन ये जिन्ना तो समाजवादी पार्टी और कांग्रेस भी कर रही है।’ राकेश टिकैत जवाब देते हैं, ‘अब जो भी कह रहा है वो तो देखा ही जाएगा। लेकिन जनता को ऐसे बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता है। बीजेपी वालों अगर ऐसा करते हैं तो उन्हें परेशानी जरूर होगी। हमारा क्या मतलब इस स्थिति से। अब सरकार और आप लोग ऐसे मुद्दों को लेकर आएगी। एक साल तक आंदोलन चलने ही क्यों दिया। आप मुझे दूसरे मुद्दे के पास लेकर क्यों जाना चाहते हो। आप बनाओगे इसे मुद्दा। आप मुझसे एग्रीकल्चर पर बात करिये।’

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, ‘700 किसानों की मृत्यु भी हमारा मुद्दा है। सरकार ने घोषणा की है तो वो प्रस्ताव ला सकते हैं लेकिन MSP और 700 किसानों की मृत्यु भी हमारा मुद्दा है। इस मामले में भी सरकार को बात करनी चाहिए। सरकार अगर 26 जनवरी से पहले तक मान जाएगी तो हम अपना आंदोलन खत्म करके चले जाएंगे। वहीं चुनाव को लेकर टिकैत ने कहा कि चुनाव के विषय में हम चुनाव आचार संहिता लगने के बाद बताएंगे।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट