भारत बंद का आइडिया आपका ही था क्या? अंजना ओम कश्यप ने राकेश टिकैत से किया सवाल; BJP का नाम लेकर लेने लगे चुटकी

भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने दावा किया कि भारत बंद पूरी तरह सफल रहा। टिकैत ने कहा, कृषि मंत्री तो रटकर आते हैं। एक ही चीज पढ़कर आते हैं और वही दोहराते हैं।

rakesh tikait, bharat band, anjana om kashyap
राकेश टिकैत ने भारत बंद को सफल बताया है (Photo-Indian Express/File)

कृषि कानूनों के खिलाफ बीते कई महीने से धरने पर बैठे किसान संगठनों ने सोमवार (27 सितंबर) को भारत बंद का ऐलान किया था। तमाम राज्यों में इसका मिलाजुला असर दिखा। भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने दावा किया कि भारत बंद पूरी तरह सफल रहा। ‘आज तक’ पर एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बंद को लेकर तमाम बातें कहीं और कहा कि ये आइडिया बीजेपी से लिया था।

बातचीत के दौरान अंजना ओम कश्यप ने सवाल किया कि आप कृषि मंत्री को क्या कह रहे थे? रट्टू हैं…रट कर आ जाते हैं बातचीत करने के लिए। इस पर टिकैत ने कहा कि बिल्कुल सही है, कृषि मंत्री तो रटकर आते हैं। एक ही चीज पढ़कर आते हैं और वही दोहराते हैं। उससे आगे उनको बोलने की पावर नहीं है।

इस पर अंजना उन्हें टोकते हुए कहती हैं कि वह तो कहते हैं कि आप भी रटकर आते हैं, कहते हैं कि कानून वापसी के अलावा और कोई बात नहीं होगी। इस पर टिकैत कहते हैं कि अगर कोई बातचीत करनी है तो अंदर बताएं ना अपनी बात… ये तो सरकारी भाषा बोलते हैं, पिछले 8 महीने में एक बात से आगे नहीं बढ़े हैं।

इंटरव्यू के दौरान अंजना ओम कश्यप ने उनसे सवाल किया कि यह बताइए कि आंदोलन के बाद भारत बंद वाला आइडिया आपका ही था क्या टिकैत साहब? इस पर टिकैत ने तंज कसते हुए कहा कि यह तो बीजेपी वालों से लिया हमने, बीजेपी वाले करते थे पहले भारत बंद। हम तो यहीं से लेते हैं आइडिया। सारे आइडिया हम इन्हीं से लेते हैं। ये बहुत ज्ञानी आदमी हैं।

राकेश टिकैत ने कटाक्ष करते हुए कहा कि ये (बीजेपी वाले) लोगों का नाम रखते हैं। कौन सा कपड़ा कहां पहनना है यह तय करते हैं, आंदोलन कैसे होगा उसका आइडिया देते हैं…इन्होंने पहले भारत बंद किया था तो हमने इन्हीं से आइडिया ले लिया।

इसी इंटरव्यू के दौरान अंजना ओम कश्यप कहती हैं कि भारत बंद का असर पंजाब, हरियाणा और बिहार में तो दिखा लेकिन यूपी में कोई खास असर नहीं दिखा। यूपी चुनाव से पहले आप यहां हुंकार भर रहे हैं। आपको क्या लगता है कि सरकार पर इतना दबाव बन गया कि वो कानून वापस ले लेगी? इस पर टिकैत कहते हैं कि सरकार का तो नहीं पता कि कानून वापस लेगी या नहीं, लेकिन आंदोलन तो ठीक-ठाक रहा… सफल रहा है। यूपी में भी करीब 800 से ज्यादा जगह आंदोलन हुए।

अंजना कहती हैं कि बीजेपी वाले राकेश टिकैत पर यह आरोप लगा रहे हैं कि आंदोलन बहाना है, यूपी चुनाव पर आप का निशाना है। इसका जवाब देते हुए भारतीय किसान यूनियन के नेता ने कहा कि ये चुनाव पर क्यों लेकर जा रहे हैं इस मामले को? हमारी बात मान लो, हमारी डिमांड पूरी कर दो, चुनाव तक लेकर ही क्यों जाना।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट