ताज़ा खबर
 

मेरे घर में भी गन्ने की किसानी है, सुन लीजिए आप… डिबेट में किसान नेता राकेश टिकैत से भिड़ गईं बीजेपी प्रवक्ता

भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा किसान नेता राकेश टिकैत से डिबेट में भिड़ती नजर आईं। उन्होंने राकेश टिकैत पर तंज कसते हुए कहा कि मेरे घर में भी गन्ने की किसानी है।

भारतीय किसान यूनियन (BKU) नेता राकेश टिकैत। (फोटोः पीटीआई)

कृषि कानूनों को लेकर किसान लगातार दिल्ली के बॉर्डर पर डटे हुए हैं। वहीं किसान नेता राकेश टिकैत ने भी दावा किया है कि जब तक सरकार उनकी मांगों को मान नहीं लेती है, तब तक वह आंदोलन को यूं ही जारी रखेंगे। वहीं दूसरी ओर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बयान दिया है कि सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी, लेकिन किसानों से बातचीत के लिए तैयार है। इससे इतह हाल ही में भाजपा प्रवक्ता भी किसान नेता राकेश टिकैत से डिबेट में भिड़ती नजर आईं। उन्होंने राकेश टिकैत पर तंज कसते हुए कहा कि मेरे घर में भी गन्ने की किसानी है।

भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा ने डिबेट के दौरान जमकर राकेश टिकैत पर निशाना साधा। भाजपा प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा, “मेरे घर में भी गन्ने की किसानी है सुन लीजिए आप। अगर चीनी फैक्ट्री बकाया देगी, आप सरकार के ऊपर उंगली उठा रहे हैं।”

नुपुर शर्मा ने अपने बयान में आगे कहा, “गन्ने की फसल पर एमएसपी नहीं होती, एसआरपी होती है। तो आप यह क्यों नहीं बता रहे हैं कि इसी सरकार ने आपको 10 रुपये की जगह 285 रुपये प्रति क्विंटल एसआरपी दी है। आप यह तो कह रहे हैं कि ट्रैक्टर पर बैन लग गया।”


नुपुर शर्मा ने राकेश टिकैत पर गुस्सा जाहिर करते हुए आगे कहा, “अरे एनजीटी छोड़िये, सर्वोच्च न्यायालय ने आदेश दिया है कि 10 साल से ज्यादा पुराना ट्रैक्टर नहीं चला सकते। यह सरकार की नीति नहीं है। सरकार पर उंगली उठाना बहुत आसान होता है, आप जाकर कोर्ट पर उंगली उठाइये ना। क्योंकि कोर्ट ने जो कह दिया उसे पूरे देश को ही मानना पड़ेगा।”


नुपुर शर्मा ने किसान नेता से आंदोलन को लेकर सवाल किया और कहा, “जब आपने यह शुरू किया था तो आपकी तीन मांगें थीं। सबसे पहले आपको कांग्रेस नेता ने बरगलाया था कि कोर्ट नहीं जा सकते। लेकिन वह कितने बड़े झूठे हैं। इस देश में नागरिकों का मौलिक अधिकार है कि धारा 32 और 226 के तहत कोई भी व्यक्ति एसडीएम के ऑर्डर के खिलाफ न्यायालय जा सकता है।”


नुपुर शर्मा ने राकेश टिकैत को लेकर आगे कहा, “आपने एमएसपी की बात की, सरकार ने कहा कि ठीक है, हम एमएसपी की गारंटी देने को भी तैयार हैं। कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग पर भी सरकार ने आपको आश्वासन दिया। तीन छोड़िये, आपकी सात मांगें पूरी की गईं। ये कृषि कानून नहीं, ट्रेड लिस्ट के कानून हैं।” बता दें कि नुपुर शर्मा के अलावा भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी राकेश टिकैत पर तंज कसा था। हालांकि उनका जवाब देने से राकेश टिकैत भी पीछे नहीं हटे।

Next Stories
1 स्मृति ईरानी चुप्पी की क्या मजबूरी है? UP में महिला प्रस्तावकों संग हुई अभद्रता पर भड़कीं कांग्रेस नेता, मिले ऐसे जवाब
2 नोट छापने की मशीन है क्या? AAP सरकार ने किया मेडल जीतने वालों को 3 करोड़ देने का ऐलान तो पुण्य प्रसून बाजपेयी ने मारा ताना
3 आंदोलन क्या गैस सिलेंडर पर शुरू हुआ था? राकेश टिकैत पर संबित पात्रा ने कसा तंज, किसान नेता से यूं मिला करारा जवाब
ये पढ़ा क्या?
X