बीजेपी विधायक ने कही एसडीएम को जूते मारने की बात, पूर्व IAS ने पूछा- इन पर एफ़आईआर होगी या भाजपा में हैं तो चलेगा?

सूर्य प्रताप सिंह ने पूछा है कि क्या बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी पर एफआईआर की जाएगी या ये भाजपा में हैं इसलिए सबकुछ चलता है।

bjp mla shashank trivedi, surya pratap singh, bjp mla viral video
बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी (Photo- Twitter)

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले की महोली विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वो एसडीएम पंकज प्रकाश राठौड़ को जूते मारने की बात कह रहे हैं। वीडियो में बीजेपी विधायक एसडीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की भी बात करते दिख रहे हैं। बीजेपी विधायक के वायरल वीडियो को लेकर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में पूछा है कि क्या बीजेपी विधायक पर एफआईआर की जाएगी या वो भाजपा में हैं इसलिए सबकुछ चलता है। उनका कहना है कि विधायक की ये हरकत यूपी में सत्ता के गुंडाराज का नमूना है।

सूर्य प्रताप सिंह ने पत्रकार गौरव सिंह सेंगर का एक ट्वीट रीट्वीट किया जिसमें बीजेपी विधायक का वायरल वीडियो संलग्न है। अपने ट्वीट में सिंह ने लिखा, ‘यूपी में भाजपा विधायक SDM को जूतों से मारने को कह रहा है। ये भाजपा का चाल, चरित्र व चेहरा है और यूपी में सत्ता के गुंडाराज का नमूना। इनके खिलाफ FIR दर्ज होगी, संपत्ति जब्त होगी? या फिर भाजपा में हैं इसलिए सब चलता है। दोगले लोग, दोगली बातें और दोगले सिद्धांत पर टिकी आज की सत्ता।’

वीडियो में शशांक त्रिवेदी फोन पर बात करते हुए कह रहे हैं, ‘एफआईआर लिखिए, एसडीएम का इतना दिमाग खराब हो गया है कि गरीबों का घर गिराएंगे। जूतों से मारेंगे आज उनको..सही करते हैं एसडीएम को। गरीबों का घर गिराएंगे, अपना कमा रहे हैं पैसा, बड़े-बड़े आदमी उनको नहीं दिखते हैं। एसडीएम के खिलाफ एफआईआर लिखानी है, मैं थाने आ रहा हूं।’

क्या है पूरा मामला- उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी ग्राम पंचायतों में एक पंचायत भवन बनाने का आदेश दिया है। एसडीएम लेखपाल के साथ निरीक्षण के लिए महोली तहसील के पकड़ी पांडे गांव गए थे। बताया जा रहा है कि खाली जमीन पर अवैध तरीके से छप्पर डालकर कब्जा किया गया था। एसडीएम की मौजूदगी में छप्पर को गिरा दिया गया।

जब ये सूचना बीजेपी विधायक तक पहुंची तो उन्होंने आकर पुनः छप्पर का निर्माण करा दिया। वहीं पर बीजेपी विधायक ने एसडीएम को जूतों से मारने वाली बात कही जिसका वीडियो अब वायरल है। वहीं एसडीएम पंकज प्रकाश राठौड़ का कहना है कि उन्हें मजबूरन ऐसी कार्रवाई करनी पड़ी क्योंकि व्यक्ति अवैध कब्जे को छोड़ने के लिए तैयार नहीं था। उनका कहना है कि उनके द्वारा की गई कार्रवाई जायज है।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट