ताज़ा खबर
 

पद्मावती: सेंसर बोर्ड सदस्य ने कहा- संजय लीला भंसाली पर चले राजद्रोह का केस, राजनाथ सिंह को लिखी है चिट्ठी

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती एक दिसंबर को रिलीज होने वाली है। दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर फिल्म में मुख्य भूमिका में हैं।

पद्मावती एक दिसंबर को रिलीज होने वाली है।

संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर की फिल्म पद्मावती को लेकर सेंसर बोर्ड के एक सदस्य ने विवादित बयान दिया है। बीजेपी नेता और भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के सदस्य अर्जुन गुप्ता ने कहा है कि उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर संजय लीला भंसाली पर राजद्रोह का मुकदमा चलाने की अपील की है। अर्जुन गुप्ता ने आरोप लगाया है कि भंसाली ने इतिहास को तोड़ मरोड़ को पेश किया है जिससे राष्ट्रीय भावनाएं आहत हुई हैं। वहीं संजय लीला भंसाली ने एक बयान जारी करके कहा है कि फिल्म में “राजपूतों की मान-मर्यादा” का ख्याल रखा गया है।

भंसाली ने कहा, “मैं रानी पद्मावती की कहानी से हमेशा से प्रभावित रहा हूं और यह फिल्म उनकी वीरता, उनके बलिदान को नमन करती है। पर कुछ अफवाहों की वजह से यह फिल्म विवादों का मुद्दा बन चुकी है। अफवाह यह है कि फिल्म में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच कोई ड्रीम सीक्वेंस दर्शाया गया है। मैंने पहले ही इस बात को नकारा है। लिखित प्रमाण भी दिया है इस बात का। फिर दोहरा रहा हूं कि हमारी फिल्म में ऐसा कोई सीन नहीं है जो किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाता हो।” मलिक मोहम्मद जायसी के लिखे महाकाव्य पद्मावत पर आधारित फिल्म पद्मावती के शूटिंग के दौरान भी राजस्थान के स्थानीय राजपूत संगठन ने तोड़-फोड़ और मारपीट की थी।

संजय लीला भंसाली द्वारा जारी किया गया वीडियो-

फिल्म पर आपत्ति जताने वालों में बीजेपी विधायक और जयपुर राजघराने से ताल्लुक रखने वाली दिया कुमारी भी हैं। दिया कुमारी ने मांग की है कि फिल्म को रिलीज करने से पहले उस पर आपत्ति करने वाले समहूों को दिखायी जानी चाहिए। राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा है कि राज्य सरकार एक कमेटी बना सकती है जो फिल्म की समीक्षा करेगी। इस कमेटी में इतिहासकारों को शामिल किया जा सकता है। पद्मावती एक दिंसबर को पूरे देश में रिलीज होने वाली है। केंद्रीय उमा भारती ने भी एक खुला खत लिखकर पद्मावती की आलोचना की है। भारती ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर तंज करते हुए कहा कि इसका ये मतलब नहीं होता कि कोई बहन को पत्नी और पत्नी को बहन बोले। वहीं बीजेपी सांसद चिंतामणि मालवीय ने फिल्म पर विवादित बयान देते हुए कहा कि फिल्मी दुनिया में “रोज शौहर बदलने वालों के लिए जौहर की कल्पना मुश्किल है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App