कौए की चोंच टूट गई, लेकिन राहुल गांधी सच बोलने को तैयार नहीं- लाइव डिबेट में बोले बीजेपी प्रवक्ता, मिला ऐसा जवाब

लाइव डिबेट में बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कई बार गलत ट्वीट कर चुके हैं, एक बार फिर उन्होंने ऐसा ही किया।

supriya shrinate, gaurav bhatia, coronavirus
कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत और भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में महापंचायत के बाद बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। गौरव भाटिया ने ‘आजतक’ की लाइव डिबेट में राहुल गांधी को चीयरलीडर तक बता दिया। भाटिया ने कांग्रेस प्रवक्ता ने सवालों का जवाब देते हुए कहा, ‘राहुल गांधी नाम की चिड़िया कोविड के समय पर बाहर आती है। लेकिन अब इन्हें महापंचायत में कोविड नज़र नहीं आ रहा था। राहुल इतना झूठ बोलते हैं कि कौए की चोंच टूट गई, लेकिन राहुल सच बोलने को तैयार नहीं हैं।’

गौरव भाटिया आगे कहते हैं, ‘राहुल गांधी भारतीय राजनीति से बहुत अलग हैं। ये खुद तो कुछ कर नहीं पाएंगे, लेकिन दूसरों की पंचायत में सिर्फ शोर मचाते हैं। तथाकथित किसान ही ये प्रदर्शन कर रहे हैं। राजस्थान में किसानों का बुरा राहुल गांधी को नज़र नहीं आता। पंजाब के मोगा में 50 किसानों पर लाठी मारी है कांग्रेस की सरकार ने। मुजफ्फरनगर में दंगों के दौरान सपा सरकार ने केस तक दर्ज नहीं किया।’

राकेश टिकैत पर साधा निशाना: बीजेपी प्रवक्ता आगे कहते हैं, ‘जितनी रेहाना और मिया खलीफा किसान उतने ही किसान राकेश टिकैत और राहुल गांधी जैसे कांग्रेसी नेता हैं। कितने सांप्रदायिक लोग हैं ये जो अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगवा रहे हैं।’ कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत कहती हैं, ‘राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कभी नहीं कहा कि वो तस्वीर महापंचायत के दौरान की है। 9 महीने से किसान खड़ा है और 900 किसानों की मौत हो गई है। जनवरी से अभी तक कभी इन्होंने बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया।’

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया कहते हैं, ‘इस देश का किसान हमेशा सरकार से लड़ा है। आपको लगता है कि किसान राजनीति करके कोई गुनाह कर रहा है। गांव के नाम पर आप किसान को निशाना साधते हो, मुझे ये बताइए किसान क्यों राजनीति नहीं करेगा?’

अनुराग भदौरिया आगे कहते हैं, ‘आप लोगों को ये बुरा लगता है कि किसान आगे क्यों आ रहा है। एक तरफ गांव-गरीब की बात करते हो तो दूसरी तरफ आप ऐसी बात करते हो। इसका सीधा सा मतलब है कि आपने किसान की छवि अपने दिमाग में बना ली है। इस देश में बड़े बड़े आंदोलन किसानों ने ही किए हैं अभी तक।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट