ताज़ा खबर
 

Happy Birthday Amitabh bachchan: ”एक जमाना था जब मैं एक माह पहले जन्मदिन के दिन गिनता था लेकिन अब..”

Happy Birthday Amitabh bachchan: हिंदी फिल्मजगत में अपना अलग मकाम रखने वाले बिग बी को हाल ही में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है। इसलिए माना जा रहा है कि उनका यह जन्मदिन कुछ खास रहेगा। जन्मदिन को लेकर बिग बी से हुई बातचीत के प्रमुख अंश ...

Author नई दिल्ली | Updated: October 11, 2019 3:02 AM
मैंने ऐसा कभी नहीं सोचा था। शुरुआती दिनों में तो मैं अभिनेता बनूंगा, इसकी भी कोई गारंटी नहीं थी। मैं अपने आप को खुशनसीब मानता हूं जो मुझे इतने सारे लोगों का प्यार मिल रहा है उन्हीं के प्यार का ही नतीजा है कि मैं आज भी फिल्मों में सक्रिय हूं।

आरती सक्सेना
सदी के महानायक अमिताभ बच्चन 11 अक्तूबर को 77 साल के हो रहे हैं। सिनेमाजगत के साथ प्रशंसक भी उनका जन्मदिन बड़े धूम-धाम से मनाते हैं। हिंदी फिल्मजगत में अपना अलग मकाम रखने वाले बिग बी को हाल ही में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है। इसलिए माना जा रहा है कि उनका यह जन्मदिन कुछ खास रहेगा। जन्मदिन को लेकर बिग बी से हुई बातचीत के प्रमुख अंश …

सवाल : अमित जी आप अपने जन्मदिन को लेकर कितना उत्साहित रहते हैं ?
’ एक जमाना था जब मैं अपने जन्मदिन को लेकर इतना उत्साहित हुआ करता था कि एक महीने पहले से ही दिन गिनना शुरू कर देता था। उन दिनों बाबूजी, हरिवंश राय बच्चन, मेरा जन्मदिन मनाया करते थे और मैं तोहफे जमा किया करता था। अब वैसा उत्साह नहीं है लेकिन परिवार वाले और मेरे प्रशंसक उत्साहित रहते हैं, जिनकी वजह से आज भी मैं अपने आप को जवां महसूस करता हूं। इस बार भी मेरे बर्थ डे को लेकर मेरे परिवार वालों की ही प्लानिंग है मुझे इस बारे में कुछ नहीं पता।

सवाल : जन्मदिन के तोहफों को लेकर क्या कहेंगे?
’ मेरे लिए सबसे बड़ा तोहफा मेरे प्रशंसकों का प्यार है जो मुझे पिछले कई सालों से मिल रहा हैं। मेरे पास मेरे कई प्रशंसकों की मेहनत से बनाई बर्थ डे गिफ्ट यादगार के तौर पर मौजूद हैं। इसके अलावा परिवार वालों के भी अनोखे गिफ्ट मिलते हैं। एक जन्मदिन पर तो मेरी पत्नी जया ने मेरे लिए जोरदार पार्टी का आयोजन किया था। अभिषेक ऐश सभी से प्यारे-प्यारे गिफ्ट मिलते रहते हैं। मेरे नाती भी मुझे अच्छे कार्ड्स गिफ्ट करते हैं जो मैंने संभाल के रखे हैं।

सवाल : क्या आपने कभी सोचा था कि आपका जन्मदिन पूरा देश मनाएगा ?
’नहीं मैंने ऐसा कभी नहीं सोचा था। शुरुआती दिनों में तो मैं अभिनेता बनूंगा, इसकी भी कोई गारंटी नहीं थी। मैं अपने आप को खुशनसीब मानता हूं जो मुझे इतने सारे लोगों का प्यार मिल रहा है उन्हीं के प्यार का ही नतीजा है कि मैं आज भी फिल्मों में सक्रिय हूं। मेरा अपने प्रशंसकों से वादा है कि जब तक सांस है मैं अभिनय से जुड़ा रहूंगा।

सवाल : आपको दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है। इसे लेकर आप कैसा महसूस कर रहे हैं ?
’खुशी की बात है कि मुझे इस लायक समझा गया कि मुझे इतने महान पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा है। मुझे खुशी है कि मैं दादा साहेब फाल्के जैसे महान इंसान के नाम पर बने पुरस्कार से सम्मानित किया जाने वाला हूं। इस पुरस्कार के लिए मैं कृतज्ञ हूं, परिपूर्ण हूं, आभारी हूं और विनम्र हूं।

सवाल : सिनेमा के साथ आपने टीवी पर भी सफलता भी प्राप्त की है और दोनों माध्यमों में सक्रिय हैं। यह कैसे संभव हो पाता है?
’मैं बस अपना काम पूरी ईमानदारी के साथ करना पसंद करता हूं। मेरी नजर में कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं है। यही वजह है कि मुझे सफलता मिलती है।
मैं अपने किसी भी कार्य को चुनौती नहीं बल्कि अपना अगला अध्याय समझ कर स्वीकारता हूं। बाकी सब कुछ भगवान पर छोड़ देता हूं ।

सवाल :आपकी ईश्वर में श्रद्धा है। क्या आप अपने जन्मदिन पर मंदिर जाना पसंद करते हैं?
’मेरी भगवान में श्रद्धा है। मैं तिरुपति बाला जी के दर्शन करने नियमित रूप से जाता हूं। मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर में भी जाता हूं। लेकिन जहां तक जन्मदिन पर सवाल है तो उस दिन मैं अपने घर के मंदिर में पूजा करता हूं।

सवाल :ट्विटर पर आपके लिखे ब्लॉग काफी पसंद किए जाते हैं। क्या आप भविष्य में कभी बतौर लेखक कुछ करना चाहेंगे?
’मुझे नहीं लगता कि मेरे अंदर एक सक्षम लेखक है। ब्लॉग और सोशल मीडिया मैंने ऐसे ही शुरू किया था क्योंकि मैंने इसके बारे में काफी सुना था। लेकिन कुछ सालों मे दो करोड़ सत्तर लाख से ज्यादा प्रशंसकों की बदौलत अब इसकी आदत पड़ गई है। इस माध्यम पर अपने दोस्तों और प्रशंसकों को मैं अपना परिवार मानता हूं।

सवाल : आपके अब तक के करिअर में कई कलाकारों के साथ काम किया। वे कौनसे कलाकार हैं जिनके साथ काम करके आपको खुशी मिली, लगता है जैसे सपना सच हो गया?
’मैं दिलीप कुमार साहब का बहुत बड़ा फैन हूं। मेरा तो मानना है कि अगर कभी फिल्म इतिहास लिखा गया तो दिलीप साहब का नाम स्वर्ण अक्षरों से लिखा जाना चाहिए। लेकिन वो मेरी प्रेरणा रहे। मैंने उनसे अभिनय के गुर सीखे। ‘शक्ति’ में उनके साथ काम कर लगा कि जैसे भगवान ही मिल गए। यह आज भी मेरी पंसदीदा फिल्म है। इसका एक- एक सीन मेरे दिल में बसा हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 WAR के लिए बॉडी बनाने में ऋतिक रोशन की निकली चीख, Video में कहा- ‘मत बताना बॉडी कैसे बनाते हैं…’
2 चॉकलेटी बॉय से डकैत बने रणबीर कपूर, Shamshera के सेट से लीक हुई तस्वीर
3 War Box Office Collection Day 8: ऋतिक और टाइगर की फिल्म WAR ने कमाई में सलमान को पीछे छोड़ा, अगला निशाना ‘कबीर सिंह’