ताज़ा खबर
 

जब गाने की पहली कैसेट पर Vinay Bihari को चप्पलों से पड़ी थी मार

विनय बिहारी ने अब तक 300 से ज्यादा फिल्मों में गीत लिख चुके हैं। वहीं 50 से अधिक फिल्मों में डायलॉग लिखे।

विनय बिहारी भोजपुरी फिल्मों में गाने लिखने से लेकर एक्टिंग तक किया है। (फोटो सोर्स-सोशल मीडिया)

Bhojpuri Lyricist Vinay Bihari: भोजपुरी के मशहूर गीतकार विनय बिहारी को बचपन से ही गाने और नाटक करने का शौक था। उनके गांव में जब भी नाटक होता वह जरूर हिस्सा लेते। इसके लिए उनको अपने पिता जी के खिलाफ जाना पड़ता था। पेशे से शिक्षक रहे विनय बिहारी के पिता जी को ये बिल्कुल भी पसंद नहीं आता था कि उनका बेटा नाटक खेले और गाने गाए। लेकिन विनय बिहारी को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता था जिसके लिए कई बार पिता से मार भी पड़ी। स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद जब उच्च शिक्षा के लिए विनय बिहारी पटना गए तो उनको अपने मन की करने की आजादी मिली। साल 1989 में विनय बिहारी ने इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास की। इसी साल उनके गाने की पहली कैसेट एसएम सीरीज से आई। एल्बम का नाम था ‘चंपारण के बाबू।’ इसमें विनय बिहारी गीत लिखने के साथ गाए भी थे।

पिता जी को इस बात का जब पता चला तो वह काफी नाराज हुए थे। इतना गुस्सा हुए थे कि विनय बिहारी की चप्पलों से पिटाई कर दी थी। इस बात को याद करते हुए विनय ने एक इंटरव्यू में कहा था- ‘पिता जो कि जब मेरे पहले कैसेट के बारे में पता चला तो उन्होंने दोनों पैरों के चप्पलों से पिटाई की थी। इतना मारे थे कि दोनों चप्पल टूट गए थे।’ उन दिनों को याद करते हुए विनय ने आगे कहा था कि पिता जी कभी भी गाने को लेकर मेरी तारीफ नहीं की। वह हमेशा खिलाफ में ही होते थे।

बता दें कि विनय बिहारी ने अब तक 300 से ज्यादा फिल्मों में गीत लिख चुके हैं। वहीं 50 से अधिक फिल्मों में डायलॉग लिखे। साथ ही 15 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय भी किया। इसके साथ ही वह एक राजनीतिज्ञ भी हैं। वह लौरिया से साल 2010 से 2015 तक विधायक भी रह चुके हैं।

(और ENTERTAINMENT NEWS पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X