ताज़ा खबर
 

इस भोजपुरी गाने ने तोड़ डाले सारे रिकॉर्ड, 10 करोड़ से ज्यादा बार देखा जा चुका है

रितेश पांडे भोजपुरी सिनेमा में एक्टर म्यूजिक डायरेक्टर और बेहतरीन सिंगर हैं। रितेश पांडे ने भोजपुरी फिल्म 'बलमा बिहारवाला-2' से एक्टिंग में डेब्यू किया था। 14 मई, 1991 को बिहार के रोहतास जिला के सासाराम से 20 किलोमीटर दूरी पर बसे एक गांव करगहर में रितेश पांडे का जन्म हुआ था।

भोजपुरी गायक रितेश पांडे फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री अब किसी पहचान की मोहताज नहीं रह गई है। एक के बाद एक इस इंडस्ट्री ने सफलता के कई झंडे गाड़े हैं। भोजपुरी फिल्म के दर्शकों को हमेशा से ही इन फिल्मों के गाने काफी पसंद आते हैं। एक ऐसा ही भोजपुरी गाना है “पियवा से पहिले हमार रहलू”। इस गाने को अब तक की सभी भोजपुरी म्यूजिक एल्बमों से ज्यादा पसंद किया गया है। 10 करोड़ से ज्यादा बार अब तक यू-ट्यूब पर इस गाने को देखा गया है। ये म्यूजिक एल्बम है Bhojpuri singer रितेश पांडे का जिसे उन्होंने और खुशबू तिवारी ने गाया है। आशीष यादव ने इस वीडियो को निर्देशित किया है। इस गाने की धुन और पूरा म्यूजिक बाकी के गानों की तरह ही है इसके बाद भी इसे सबसे ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं।

रितेश पांडे भोजपुरी सिनेमा में एक्टर म्यूजिक डायरेक्टर और बेहतरीन सिंगर हैं। रितेश पांडे ने भोजपुरी फिल्म ‘बलमा बिहारवाला-2’ से एक्टिंग में डेब्यू किया था। 14 मई, 1991 को बिहार के रोहतास जिला के सासाराम से 20 किलोमीटर दूरी पर बसे एक गांव करगहर में रितेश पांडे का जन्म हुआ था। रितेश यूपी, बिहार और झारखंड पर आधारित गाने गाते हैं। यह गाना पिछले साल 9 सितंबर को रिलीज हुआ था।

रिलीज के बाद से ही यह गाना लोगों के जुबान पर चढ़ गया है। गाने में जो कहानी दिखाई गई है उसके मुताबिक प्रेमिका की शादी किसी और से हो जाने के बाद प्रेमी को उसकी प्रेमिका की याद सता रही है। लेकिन प्रेमिका अपने प्रेमी को कहती है कि वो अब उससे बात नहीं कर सकती क्योंकि उसकी शादी हो चुकी है। इसी कहानी के थीम पर बने इस गाने ने सारे रिकॉर्ड्स तोड़ दिये हैं।

बचपन से ही गाने के शौकीन रितेश पांडे ने इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के लिए कड़ा संघर्ष भी किया है। रितेश पांडे ने बनारस के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ युनिवर्सिटी से बी.एम (बैचलर्स ऑफ़ म्यूजिक) की डिग्री हासिल की है। बनारस के ही एक स्टूडियो से रितेश पांडे ने अपना पहला एल्बम निकाला। लेकिन इस एल्बम को कोई खास सफलता नहीं मिल पाई थी। कहा जाता है रितेश पांडे ने इस स्टूडियो में 2 साल तक काम किया है। इंडस्ट्री में मशहूर होने से पहले रितेश पांडे अपने गाये गाने को पेन ड्राइव में लेकर खुद बिहार और यूपी के प्रत्येक शहर में दूकान से दूकान तक बाइक से पहुंचाते थे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App