ताज़ा खबर
 

शो करा पैसे ही नहीं देते थे प्रोग्राम ऑर्गेनाजर, लाचारी में पैदल घर आते थे निरहुआ

भोजपुरी संगीत की दुनिया में बड़े भाईयों की पहुंच थी फिर भी निरहुआ को काफी संघर्ष करना पड़ा। एक इंटरव्यू में उन संघर्ष के दिनों को याद करते हुए निरहुआ ने कहा था, गायिकी के शुरुआत दिनों में बहुत संघर्ष करना पड़ा।

भोजपुरी संगीत की दुनिया में बड़े भाईयों की पहुंच थी फिर भी निरहुआ को काफी संघर्ष करना पड़ा।

दिनेश लाल यादव ने अपना फिल्मी करियर साल 2008 में आई फिल्म निरहुआ रिक्शावाला से शुरू किया था। लेकिन नायक बनने से पहले निरहुआ की पहचान एक गायक के तौर पर थी। और गायिकी में भी नाम हासिल करने के लिए उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा था। निरहुआ के मुताबिक शुरू शुरू में जब वे गाना चालू ही किए थे तो लोग उनसे रातभर प्रोग्राम करवाते और सुबह पैसे भी नहीं देते थे। और फिर लाचार होकर घर लौटते थे।

बड़े भाई बिरहा के स्टार गायक थे फिर भी करना पड़ा संघर्षः दिनेश लाल यादव कलकत्ता से पढ़ाई पूरी कर अपने गांव लौटे तो कुछ करने को नहीं था। परिवार के लोग भोजपुरी संगीत से जुड़े थे तो दिनेश लाल ने भी कुछ करने की चाह में गायिकी में कूद पड़े। घर में उनके बड़े भाई विजय लाल यादव का बिरहा गायिकी में बड़ा नाम था। और प्यारे लाल यादव गीतकार के रूप में लोकप्रिय थे। दिनेश लाल यादव ने भी भाइयों के आगे गाने की इच्छा जाहिर की और हरी झंडी मिलने के बाद गायिकी को सहारा बना लिया।

बिना पैसों के किए कई प्रोग्रामः निरहुआ के बड़े भाईयों की भोजपुरी संगीत की दुनिया में पहुंच थी फिर भी निरहुआ को काफी संघर्ष करना पड़ा। एक इंटरव्यू में उन संघर्ष के दिनों को याद करते हुए निरहुआ ने कहा था, गायिकी के शुरुआत दिनों में बहुत संघर्ष करना पड़ा। वे आगे कहते हैं, संघर्ष इस हद तक था कि जब प्रोग्राम में गाने जाता और रातभर गाने के बाद सुबह पैसे ही नहीं मिलते थे। लोग कहते पैसे नहीं है। इसके बाद वह और उनके साथी सिर पर हारमोनियम और ढोलक रख पैदल ही घर आते थे। ये वाकया उनके साथ कई बार हुआ।

एक एल्बम ने चमकाया किस्मतः साल 2003 में निरहुआ ने भोजपुरी गाने का एक एल्बम रिलीज किया, जिसका नाम था निरहुआ सटल (Nirahua Satal Rahe) रहे। निरहुआ को उम्मीद नहीं थी कि यह एल्बम हिट होगा क्योंकि इससे पहले उनके दो गाने के एल्बम पूरी तरह फ्लॉप हो चुके थे। आधे मन से रिलीज किए इस एल्बम ने ना सिर्फ दिनेश लाल यादव को निरहुआ (Nirhua) नाम दिया बल्कि शोहरत और पैसा भी दिया।

गौरतलब है कि दिनेश लाल यादव ने अपना फिल्मी करियर साल 2008 में आई फिल्म निरहुआ रिक्शावाला से शुरू किया था। इस फिल्म के बाद उनको एक्टर की पहचान मिली। दिनेश लाल यादव का एक ही साल में 5 हिट फिल्में देने का रिकॉर्ड है जिसमें पटना से पाकिस्ता, निरहुआ रिक्सावाला 2, जिगरवाला, राजाबाबू और गुलामी फिल्म शामिल है। इंडस्ट्री में उनकी लोकप्रियता को देखते हुए उन्हे साल 2012 में बिग बॉस सीज़न 6 में बतौर प्रतिभागी बुलाया गया था।

Next Stories
1 मैंने अपने ही कई गाने करवाए डिलीट, लाखों का हुआ नुकसान; चोरी के गानों पर बोले भोजपुरी सिंगर अरविंद अकेला कल्लू
2 विदेशों में एक स्टेज शो का इतना चार्ज करते हैं पवन सिंह, भोजपुरी गानों के लिए भी लेते हैं तगड़ी फीस
3 रानी चटर्जी ने बताया- कब आ रही है ‘मस्तराम 2’, इरोटिक सब्जेक्ट को लेकर कही ये बात
आज का राशिफल
X