ताज़ा खबर
 

शादी के लिए खेसारी लाल के ससुर को बेचनी पड़ी थीं भैंसे, सूट सिलवाने तक के नहीं थे पैसे

खेसारी के पिता जी उस वक्त सिर पर चना रखकर बेचा करते थे। उन्होंने खेसारी सहित सात भाईयों को गरीबी में पढ़ाए।

bhojpuri song, khesari lal, khesari lal wife chanda,खेसारी लाल यादव की साल 2006 में 11 जून को ही शादी हुई थी। उनकी पत्नी का नाम चंदा देवी है।

Khesari Lal Yadav: भोजपुरी सिंगर-एक्टर खेसारी लाल यादव बहुत संघर्षों के बाद इस मुकाम पर पहुंचे हैं। सात भाइयों में बड़े खेसारी लाल की शादी जल्दी हो गई थी। उस वक्त कीर्तन गाया करते थे। तब उनको कीर्तन गाने के 10 रुपए मिलते थे। खेसारी लाल ने बताया था कि सात भाईयों में से उनकी शादी इन्हीं गुरबत के दिनों में हुई थी। वहीं खेसारी लाल बताए थे कि बेटी की शादी के लिए ससुर को भैंस तक बेचनी पड़ गई थी।

11 हजार में हुई थी खेसारी की शादीः खेसारी लाल ने गुजरे वक्त को याद करते हुए कहा था कि उन दिनों हालात ये थे कि ‘मेरे पास सेहरा बांधने के भी पैसे नहीं थे। मैं कोई बड़ा काम नहीं करता था इसलिए मेरी शादी भी 11 हजार रुपए में तय हुई थी।’ जिस तरह खेसारी के पास शादी के लिए पैसे नहीं थे ठीक उसी तरह उनके ससुर की भी आर्थिक स्थिति कुछ ठीक नहीं थी। खेसारी ने इंटरव्यू में बताया था कि उनके ससुर ने उनका सूट सिलवाने के लिए अपनी 4 भैंसे बेच दी थी। उस दौरान ससुर ने उनसे कहा था बाबू 4 भैंस बेचें हैं तब तुम्हारा सूट सिलवाया है।

दहेज के खिलाफ थे खेसारी के पिताः  खेसारी लाल के मुताबिक उनके पिता जी दहेज के खिलाफ थे। खेसारी के पिता और उनके ससुर दोनों ही गरीब थे। खेसारी ने बताया था कि उनके सातों भाइयों की शादी में कोई दहेज नहीं लिया गया। उनकी शादी में भी दहेज नहीं लिया गया था। सिर्फ ससुर से उनके पिता ने ये जरूर कहा था कि हमारे बरातियों का स्वागत कर दीजिएगा। गौरतलब है कि खेसारी के पिता जी उस वक्त सिर पर चना रखकर बेचा करते थे। उन्होंने खेसारी सहित सात भाइयों को गरीबी में पढ़ाए। पैसे के अभाव में 2-3 भाई पढ़े भी नहीं। खेसारी भी किसी तरह थोड़ी बहुत पढ़ाई  कर पाए थे।

साल 2006 में हुई थी खेसारी लाल की शादीः खेसारी लाल यादव की साल 2006 में 11 जून को ही शादी हुई थी। उनकी पत्नी का नाम चंदा देवी है। उनकी एक बेटी कृति और एक छोटा बेटा ऋषभ है। दोनों बच्चे खेसारी के बहुत प्यारे हैं। वह कभी-कभी बेटी को अपने फिल्मों के सेट पर भी ले जाया करते हैं। खेसारी के संघर्ष में उनकी पत्नी का बहुत ही ज्यादा साथ मिला। वह खेसारी के साथ ही दिल्ली में लिट्टी-चोखा बेचने में सहयोग करती थीं। दोनों ने उस गरीबी के दिनों को पार करते हुए आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं। आज खेसारी लाल यादव भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में बहुत बड़ा नाम है। उनकी फिल्मों के साथ-साथ उनके गाने भी काफी हिट होते हैं। सोशल मीडिया पर उनके कई वीडियो सॉन्ग के व्यूज तो करोड़ों में हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लालू की ‘गरीब रथ’ नौटंकी, रामविलास ने भी पूरी नहीं की आस- जब छैला बिहारी ने इस गाने से कसा था तंज
2 शादी से पहले इस वजह से पत्नी का टूट गया था पहला रिश्ता, निरहुआ ने ससुराल से जुड़ा सुनाया था किस्सा
3 भोजपुरी क्वीन रानी चटर्जी चाहती थीं ये फेक न्यूज़ हो जाए सच, जानिए वजह
यह पढ़ा क्या?
X