ताज़ा खबर
 

बेवॉच मूवी रिव्यू: प्रियंका चोपड़ा की दमदार आवाज और बेहतरीन ड्रेस भी समीक्षकों को लुभाने में रहीं नाकाम

Baywatch Movie Review: फिल्म के पोस्टर, ट्रेलर और टीजर देखने के बाद फिल्म से बेहद आशाए थीं लेकिन जैक इफरॉन, प्रियंका चोपड़ा और ड्वेन जॉनसन अभिनीत ये फिल्म फिल्म समीक्षकों को लुभाने में नाकामायब रही है।

Author नई दिल्ली | June 2, 2017 12:46 pm
फिल्म के पोस्टर, ट्रेलर और टीजर देखने के बाद फिल्म से बेहद आशाए थीं लेकिन जैक इफरॉन, प्रियंका चोपड़ा और ड्वेन जॉनसन अभिनीत ये फिल्म फिल्म समीक्षकों को लुभाने में नाकामायब रही है।

बॉलीवुड एक्टर प्रियंका चोपड़ा की हॉलीवुड में पहली फिल्म बेवॉच 25 मई को अमेरिका में रिलीज हुई थी। फिल्म को सेथ गोर्डन ने निर्देशित किया है। फिल्म के पोस्टर, ट्रेलर और टीजर देखने के बाद फिल्म से बेहद आशाए थीं लेकिन जैक इफ्रॉन, प्रियंका चोपड़ा और ड्वेन जॉनसन अभिनीत ये फिल्म फिल्म समीक्षकों को लुभाने में नाकामायब रही है। बॉलीवुड एक्टर प्रियंका भी समीक्षकों को  प्रभावित नहीं कर सकी हैं। एक फिल्म समीक्षक के अनुसार प्रियंका का फिल्म में विलेन का किरदार ब्लैक विडो के किरदार का आउटलाइन भर है। प्रियंका फिल्म में विलेन विक्टोरिया लीड्स का किरदार निभा रही हैं। भारतीय सिनेमाघरों में ये फिल्म 2 जून यानी कल रिलीज होगी। अमेरिका के अलग अलग अखबारों के नामी समीक्षकों ने किस तरह से प्रियंका के किरदार का रिव्यू किया है आइए हम आपको बताते हैं।

न्यूयार्क टाइम्स के ए ओ स्कॉट के मुताबिक– प्रियंका का किरदार फिल्म में एक ड्रग डीलर विक्टोरिया लीड्स है जो रियल स्टेट की भी मुगल है। वो बे को धमकाती है। प्रियंका के किरदार को बेहतरीन ड्रेसे और मार्टिनी ग्लासेस के जरिए उनकी दमदार आवाज और भारी भरकम आदमियों और शैंपेन की बोतलों के साथ सुपरविलेन का रोल दिया गया है। प्रियंका इस फिल्म में अन्य महिलाओें से एकदम अलग दिखीं हैं। वो बाथिंग सूट में भी नहीं दिखी हैं।

वाशिंगटन पोस्ट की स्टेफनी मैरी के अनुसार – मैरी लिखती हैं कि ये कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि फिल्म में महिलाओं के अच्छा करने के लिए कुछ भी अच्छा नहीं है। यहां तक फिल्म की मेन विलेन प्रियंका चोपड़ा तक को सीमित डॉयलॉग मिले हैं जबकि फिल्म में अधिकतर समय कैमरा उन्हीं की तरफ रहा है। क्लीवेज बैरिंग ड्रेसेसे में वो एकदम फिट नजर आ रही हैं। खराब डायलॉग बोलने से बच जाना फिल्म की एक्ट्रेसेस के लिए राहत की बात है।

यंग फॉक्स की एंड्रीया थॉम्पसन – एंड्रीया के अनुसार लोग हमेशा महिलाओं के प्रति संवेदनशील होने की बात करते हैं और एक लड़की को विलेन बनाकर ऐसा करने का प्रयास भी किया गया है लेकिन वो विलेन इतनी अयोग्य दिखती है कि उसके पिता का उसे फैमिली बिजनेस में टॉप पर न रखने का निर्णय सही मालूम पड़ता है।

मॉली फ्रीमैन स्क्रीन रैंट से – स्क्रीन रैंट के मुताबिक फिल्म को प्रोग्रेसिव दिखाने का प्रयास किया गया है। महिला खलनायक और उसकी बॉडीगार्ड्स की कॉमेडी के जरिए ऐसा करने का बखूबी प्रयास किया गया है लेकिन फिल्म में प्रियंका का किरदार ब्लैक विडो की मेन विलेन जैसा ही है जिसे बिल्कुल भी गहराई नहीं दी गई है।

 

बेवॉच’ में काम करने पर परिणीति चोपड़ा को है प्रियंका चोपड़ा पर गर्व

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App