फारूक अब्दुल्ला की भी वही सोच और कल्चर- तालिबान का ज़िक्र कर J&K के पूर्व सीएम पर भड़के फिल्ममेकर

जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के ताजा बयान पर फिल्ममेकर अशोक पंडित बिफरते दिख रहे हैं।

Ashoke Pandit, Farooq Abdullah, अशोक पंडित, फारुख
J&K के पूर्व सीएम फारुख अबदुल्ला (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

फिल्ममेकर अशोक पंडित सोशल मीडिया पर अपनी बेबाक राय रखने के लिए जाने जाते हैं। हाल ही में अशोक पंडित ने एक ट्वीट किया है जिसमें वह जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के ताजा बयान पर बिफरते दिख रहे हैं। एक वीडियो शेयर कर अशोक पंडित ने फारूक अब्दुल्ला के लिए कहा कि वह तालिबान को सपोर्ट कर रहे हैं, उनकी सोच और कल्चर भी तालिबान जैसा ही है।

उन्होंने आगे कहा- ‘मैं हैरान तो बिलकुल भी नहीं हूं कि फारूक अब्दुल्ला तालिबान को सपोर्ट कर रहे हैं। क्योंकि वह इसी तालिबानी कल्चर की सोच के हैं। तालिबानी सिंपथाइजर।’ फारूक अब्दुल्ला के एक बयान से सोशल मीडिया पर उनका विरोध किया जा रहा है। बता दें, फारूक अब्दुल्ला के मुताबिक उन्हें उम्मीद है कि तालिबान सरकार अफगानिस्तान में हर शख्स के साथ इंसाफ करेगी और एक अच्छी हुकुमत चलाएगी।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और लोकसभा सदस्य डॉ फारूक अब्दुल्ला की इस बात पर बॉलीवुड एक्टर गजेंद्र चौहान ने भी एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा- ‘भारत में रहकर पाकिस्तान और तालिबान की तरफदारी करना भी आतंकवाद फैलाना है।’

ज्ञात हो, फारूक अब्दुल्ला ने मीडिया से बात करते हुए बयान दिया था कि, “अफगानिस्तान एक अलग मुल्क है। उन्हें अब मुल्क को संभालना है, मुझे उम्मीद है कि वे हर एक के साथ इंसाफ करेंगे। वे एक अच्छी हुकुमत चलाएंगे। इस्लामिक उसूलों पर एक अच्छी सरकार चलाएंगे। उन्हें कोशिश करनी चाहिए कि हर मुल्क के साथ अच्छे संबंध बनाएं।”

अशोक पंडित के इस पोस्ट पर ढेरों लोगों के रिएक्शन सामने आने लगे। अनिल खंडेलवाल नाम के शख्स ने लिखा- ‘देश को बाहर से ज़्यादा देश में फैले फारूक-गिलानी जैसी मानसिकता वाले तालिबानियों से ख़तरा है। लेकिन अफ़सोस यह है कि हमारा संविधान इन्हें अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम से संरक्षण प्रदान करता है। यही सबसे बड़ा मज़ाक़ है।’

बावुल जावड़ेकर नाम के शख्स ने कहा – ‘अफगानिस्तान घटना से एक पॉजिटिव चीज सामने आई इसने कई लोगों के ढोंग से पर्दा उठा है।’ संजीव झा ने कहा- ‘फारूक अब्दुल्ला ने इतने दिनों तक कश्मीर में तालिबान शासन चलाया।’ नवीन सिन्हा बोले- फारूक अब्दुल्ला बिलकुल तुम्हारे जैसे हैं, तुम अंग्रेज को सपोर्ट करते हो और वो तालिबान को। तो क्या दिक्कत है?

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट