आशा पारेख की शादी कराना चाहती थीं मां, एक्ट्रेस के लिए आए थे दो तलाकशुदा के रिश्ते; खुद सुनाया था किस्सा

आशा पारेख ने अपने एक इंटरव्यू में बताया कि उनकी मां उनकी शादी कराना चाहती थीं। ऐसे में उनके लिए दो रिश्ते भी आए थे।

asha parekh, asha parekh film
बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस आशा पारेख (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस आशा पारेख ने साल 1952 में फिल्म ‘मां’ से हिंदी सिनेमा में कदम रखा था। इस फिल्म में वह बतौर चाइल्ड एक्ट्रेस नजर आई थीं। इसके बाद आशा पारेख ने कई हिट फिल्मों में काम किया। आम लोगों के साथ-साथ कई बॉलीवुड कलाकार भी आशा पारेख के फैन थे। इन सबसे इतर आशा पारेख शादी के बंधन में नहीं बंधीं, हालांकि उनकी मां चाहती थीं कि वे शादी कर लें। यहां तक कि आशा पारेख के लिए दो बार रिश्ता भी आया था, लेकिन वे दोनों रिश्ते तलाकशुदा व्यक्तियों के थे।

आशा पारेख ने इस बात का खुलासा ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए इंटरव्यू में किया था। आशा पारेख ने इस सिलसिले में कहा था, “ऐसा नहीं था कि मेरी मां मेरी शादी नहीं करवाना चाहती थीं। मेरे लिए दो रिश्ते भी आए थे, लेकिन वह दोनों ही अपनी पत्नियों को तलाक दे चुके थे। तो सोचो फिर मेरा क्या होता। मैं जैसी हूं वैसी ही खुश हूं।”

बता दें कि आशा पारेख एक बच्चे को गोद लेना चाहती थीं, लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाई थीं। इस बारे में बात करते हुए एक्ट्रेस ने कहा था, “मैं खुश हूं कि मेरे पास कोई बच्चा नहीं है। मैं एक बच्चे को गोद लेना चाहती थी, मैंने एक छोटा बच्चा देखा भी था, जिसे मैं बहुत प्यार करती थी। मैंने उसे गोद लेना चाहती थी, लेकिन डॉक्टर ने मुझे ऐसा करने से मना कर दिया था।”

आशा पारेख ने इस सिलसिले में आगे कहा, “डॉक्टर ने मुझसे कहा कि मैं उस बच्चे को गोद नहीं ले सकती हूं, क्योंकि वह मात्र डेढ़ साल का है और उसे कुछ स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां भी हैं। उसके कुछ समय बाद मेरी मां बीमार हो गई थीं, उसके बाद पापा बीमार पड़ गए।” बता दें कि माता-पिता के निधन के बाद आशा पारेख डिप्रेशन में चली गई थीं। उनके मन में आत्महत्या जैसे ख्याल भी आने लगे थे।

आशा पारेख ने इस बारे में बात करते हुए कहा था, “मैं अपने माता-पिता की इकलौती संतान थी और मेरी मां, पापा और मौसी के निधन के बाद मैं काफी अकेली पड़ गई थी। मैं बहुत रोती थी, क्योंकि मुझे पता नहीं था कि मेरे साथ आखिर हो क्या रहा है। लेकिन बाद में मुझे एहसास हुआ कि यह डिप्रेशन नहीं था, बल्कि मेरा अकेलापन था।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट