scorecardresearch

आर्यन खान को मिली क्लीन चिट तो मीडिया पर भड़कीं स्वरा भास्कर, लोग बोले- यासीन मलिक पर आपकी क्या राय है?

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग मामले में क्लीन चिट मिलने पर अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने मीडिया पर आपराधिक केस चलाने की बात की है।

Swara Bhaskar,bollywood, uber
एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस)

मुंबई क्रूज ड्रग केस में आर्यन खान को क्लीनचिट मिल गई। इसके बाद लोगों ने एनसीबी के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े और मीडिया के रवैये पर नाराजगी व्यक्त की है। एनसीबी ने भी माना है कि समीर वानखेड़े और उनकी टीम से गलती हुई है। वहीं दूसरी तरफ केस के सामने के बाद मीडिया के कवरेज को लेकर अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

फोटोग्राफर और फिल्म प्रोड्यूसर अतुल कासबेकर ने ट्विटर पर लिखा कि ‘अब आर्यन खान को जब क्लीन चिट मिल गई है लेकिन मुझे नहीं लगता कि इस मामले में बच्चे को सूली पर चढ़ाने वाले सभी मीडिया चैनलों से कोई माफीनामा या आत्मनिरीक्षण हो रहा है? इनसे कुछ अपेक्षा करना ही गलत है।’ इस पर अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने प्रतिक्रिया देते हुए मीडिया पर केस चलाने की बात कही है। अभिनेता कमाल आर. खान ने भी आर्यन पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि अब 26 दिनों तक आर्यन खान की पीड़ा का जिम्मेदार कौन? और उन जजों का क्या जिन्होंने एक मासूम को जमानत नहीं दी? बिना कोई अपराध किए किसी को भी जेल नहीं जाना चाहिए।

स्वरा भास्कर ने ट्विटर पर लिखा, ‘इन चैनलों पर कार्रवाई होनी चाहिए। इन्हें आपराधिक रूप से उत्तरदायी ठहराया जाना चाहिए!’ सोशल मीडिया पर आर्यन खान के केस और स्वरा भास्कर के इस ट्वीट पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। रोहन नाम के यूजर ने लिखा कि ‘देश यासिन मलिक पर साबित हुए दोष के बारे में आपके विशेष विचार को जानना चाहता है!’

दिव्या नाम की यूजर ने लिखा कि ‘मैम यासिन मलिक को उम्रकैद की सजा मिली है, इसके बारे में भी कुछ कहिए।’ एक यूजर ने लिखा, ‘मीडिया के खिलाफ शाहरुख खान को मानहानि का केस करना चाहिए। अगर शाहरुख जैसे लोग मीडिया को सबक नहीं सिखायेंगे तो इन्हें कोई नहीं रोक सकता।’ कान्हा नाम के यूजर ने लिखा कि आ’र्यन खान बिल्कुल निर्दोष हैं क्योंकि उन्हें एनसीबी से क्लीन चिट मिल गई है लेकिन कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बावजूद गुजरात दंगों के लिए पूरी तरह से मोदी जिम्मेदार हैं?’

शिवा भट्ट नाम के यूजर ने लिखा कि ‘मैम, फिर भी आपको शाहरुख खान के साथ मौका नहीं मिलेगा, आप टाइम वेस्ट मत कीजिये और धर्मनिरपेक्षता पर ही ध्यान दीजिये।’ परवेज खान ने लिखा कि ‘मीडिया के लिए भी एक लक्ष्मण रेखा खींचने की जरूरत है।’ मयंक कुमार ने लिखा कि ‘क्या आप कह रहे हैं कि उन सभी न्यूज चैनलों को दंडित किया जाना चाहिए जिन्होंने 2002 के लिए पीएम मोदी के खिलाफ खबर चलाई थी?

बता दें कि एनसीबी के डीजी एस एन प्रधान ने माना है कि इस मामले में समीर वानखेड़े और उनकी टीम से गलती हुई है। समीर वानखेड़े ही इस मामले की जांच कर रहे थे। एनसीबी की चार्जशीट में आर्यन खान, अविन साहू, गोपाल आनंद, समीर साईघन, भास्कर अरोड़ा, मानव सिंघल के नाम नहीं हैं, मतलब इन लोगों पर केस नहीं चलेगा। इनके अलावा चार्जशीट में 14 लोगों के खिलाफ आरोप तय किए गए हैं।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.