नेताओं-पुलिसवालों से ज्यादा मीडिया के लोगों ने की मेरे ख़िलाफ़ साज़िश- Republic टीवी पर छलका अर्नब गोस्वामी का दर्द

रिपब्लिक भारत के दो साल पूरे होने की खुशी मे उन्होंने बताया कि इन दो सालों में अर्णब गोस्वामी ने क्या क्या नहीं झेला। उनके खिलाफ बहुत साजिशें हुईं लेकिन..

arnab goswami
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो क्रेडिट – एक्सप्रेस आर्काइव)

रिपब्लिक भारत (Republic Bharat) के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी ने कहा कि नेताओं और पुलिसवालों से ज्यादा मीडिया के लोगों ने उनके खिलाफ साजिश की। दरअसल, वे रिपब्लिक भारत के दो साल पूरे होने की खुशी में एक विशेष कार्यक्रम का संचालन कर रहे थे, इसी दौरान उन्होंने बताया कि इन दो सालों में क्या-क्या झेलना पड़ा। अर्णब ने कहा कि उनके खिलाफ बहुत साजिशें हुईं लेकिन वे फिर भी पीछे नहीं हटे। अर्णब ने कहा कि- आज निडर पत्रकारिता के दो साल पूरे हो गए। बहुत साजिशें हुईं, महाभारत काल में जैसे अर्जुन को मछली की आंख दिखाई देती थी वैसे ही हमें सच दिखा। दो साल में हमने यही किया।’

अर्णब ने आगे बताया- ‘मुश्किले बहुत आईं, साजिशे बहुत हुईं। हमें धमकियां मिलीं, अनगिनत धमकियां दी गईं हमें। मुझपर हमला हुआ, मुंबई के बीचों बीच मुझपर एसिड अटैक किए गए। सत्ता में बैठे लोग हमारी पत्रकारिता से इतने बेचैन हो गए कि मुझे जेल तक भेज दिया गया। हमारी टीम को परेशान किया गया, रिपोर्टर्स को अरेस्ट किया गया। हमसे हजारों घंटों तक पूछताछ की गई। जैसे हम कोई आतंकवादी हों।’

अर्णब आगे बोले- ‘उन्होंने सोचा था कि दूसरे बड़े बड़े नाम वालों की तरह हम भी खबरों की सौदेबाजी करेंगे, लेकिन हमारे हर एक पत्रकार की रगों में देशभक्ति का भाव है। जब पालघर के केस को दबाने की साजिश हुई तो हमने साधुओं को इंसाफ दिलाने की लड़ाई लड़ी। शाहीन बाग में रची गई साजिश का पूरा सच हम सामने लाए। टुकड़े टुकड़े गैंग ने दिल्ली में दंगे कराए तो रिपब्लिक भारत ने उन्हें बेनकाब किया। सुशांत सिंह हत्या को फाइलों में दबाने की कोशिश की गई, हमने ईमानदार जांच की शुरुआत की। हमें ये हौंसला आपके प्यार से मिलता है।’

उन्होंने आगे कहा- ‘हम आगे बढ़े तो लुटियंस के पत्रकारों में खलबली मच गई। जिन नेताओं के घर वो चाय पीने जाते थे उनकी जमीन खिसकने लगी। फिर ये लुटियन और पत्रकार मिलकर…शर्म आनी चाहिए उन्हें। ये मिलकर मेरे खिलाफ और रिपब्लिक के खिलाफ साजिश रचने लगे। रोज नई नई साजिश रोज नए नए केस लगाए गए। स्टोरीज प्लांट की गईं। लेकिन ये डरे हुए कमजोर लोग हैं याद रखिए। नेताओं और पुलिसवालों से ज्यादा मीडिया के लोगों ने मेरे खिलाफ साजिश रची है।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।