Anupama: वनराज की जिंदगी में अनुपमा को लौटता देख इंसिक्योर हुई काव्या, अब तोषू को बनाया सॉफ्ट टारगेट

काव्या जब अनुपमा को वीर के साथ हंसते हुए देखती है तो उसका तन-बदन आगबबूला हो उठता है। ऐसे में वह गुस्से में अंदर चली जाती है।

Anupama, Anupama Preview Episode, Anupama return in Vanraj's life,
शो अनुपमा में काव्या तोषू को अब अपने जाल में फंसाने की कोशिश कर रही है ताकि उसे काबू में कर सके। (फोटो सोर्स- अनुपमा फैनपेज इंस्टा)

शो अनुपमा में बा-बापूजी की 50वीं सालगिरह मनाई जाने की तैयारियां हो रही है। अनुपमा दिल खोल कर अपने पुराने परिवार के लोगों के साथ अपकमिंग इवेंट को लेकर प्लान्स शेयर कर रही है। वहीं एक्स हसबेंड वनराज भी अनुपमा की कीमत को अब समझ रहा है। वह खुश है कि उसके परिवार के लोगों के चेहरों पर फिर से स्माइल लौट रही है। अब वनराज अनुपमा से हंस-हंस कर बातें करता है, जो कि काव्या को रास नहीं आ रहा।

काव्या जब अनुपमा को वीर के साथ हंसते हुए देखती है तो उसका तन-बदन आगबबूला हो उठता है। ऐसे में वह गुस्से में अंदर चली जाती है। अब घरवालों के बीच डिसकस हो रहा होता है कि 50 साल के इस रिश्ते को दोबारा से धमाकेदार तरीके से सेलिब्रेट किया जाएगा और बा बापूजी की दोबारा शादी कराई जाएगी। तोषू और किंजल भी साथ बैठे होते हैं। तभी किंजल तोषू की जॉब को लेकर बात छेड़ देती है। ऐसे में नाराज होकर तोषू वहां से चला जाता है और गुस्से में डंबल्स उठा लेता है। किंजल तोषू के पीछे जाती है और पूछती है कि वह ऐसे क्यों उठ कर आ गया। ऐसे में वह किंजल को खरी खोटी सुनाने लगता है।

तब किंजल कहती है कि जैसे तोषू ने अनुपमा से बदतमीजी की थी उसके बाद से उसकी सभी बदतमीजियां कम लगती हैं। ये सुनकर तोषू को और गुस्सा आजाता है। इन दोंनो के बीच की बात काव्या सुन लेती है। अब काव्या अपना उल्लू सीधा करने के लिए तोषू के पास जाती है और उसे सांत्वना देती है कि उसके साथ गलत हो रहा है। ऐसे में तोषू भी काव्या की बातों में आ जाता है।

क्या काव्या इस बार कोई नया पैंतरा चलने वाली है। काव्या तोषू को अनुपमा के खिलाफ भड़का चुकी है क्या तोषू वक्त रहते संभल जाएगा या फिर काव्या की बातों में आकर अपना नुकसान करा लेगा। ये जानना बेहद दिलचस्प होने वाला है।

बता दें, इससे पहले शो में दिखाया गया था कि काव्या की वजह से शाह परिवर बंट गया था। यहां तक की पहले अनुपमा को घर से बाहर कर दिया गया था। इसके बाद बापूजी घर से चले गए थे। वहीं वनराज ने बा केमुंह पर दरवाजा दे मारा था। ऐसे में अनुपमा एक बार फिर से बा और बापूजी को घर के अंदर लाई थी।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट