जब हनीमून पर अकेली निकल पड़ी थीं अनिल कपूर की पत्नी सुनीता, एक प्रैंक कॉल ने बदल दी थी एक्टर की ज़िंदगी

अनिल ने सुनीता का नंबर पाने की खूब कोशिशें कीं। एक दोस्त के जरिए उन्हें सुनीता का नंबर भी मिल गया था। फिर दोनों के बीच बातें शुरू हुईं और दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई।..

Anil Kapoor, Sunita Kapoor, Love Story, Anil Kapoor Love Story, अनिल कपूर, अनिल कपूर फैमिली, Anil Kapoor Family,
अनिल कपूर और उनकी पत्नी सुनीता कपूर (फोटोसोर्स- अनिल ट्विटर ऑफीशियल)

90 के दशक के बिंदास और मस्त मौला एक्टर अनिल कपूर वक्त के साथ-साथ और भी जवां होते जा रहे हैं। एक्टर की फिटनेस को देख कर हर कोई उनसे इंस्पायर होता है। तो वहीं उनकी लव स्टोरी भी किसी फिल्मी किस्से से कम नहीं है, जिसको सुनना अपने आप में एक इंस्पिरेशन ही है। अनिल कपूर की शादी 19 मई 1984 को सुनीता कपूर से हुई थी। लेकिन इन दोनों के लिए उस वक्त शादी करने का फैसला बिलकुल भी आसान नहीं था। क्योंकि उस वक्त न ही अनिल कपूर किसी अमीर खानदान से थे और न ही वह उस वक्त एक एक्टर के तौर पर इंडस्ट्री में अपने पैर जमा पाए थे। ऐसे में भविष्य को लेकर दोनों ही चिंतित थे।

वो वक्त ऐसा था जब अनिल कपूर की जेब में पैसे भी नहीं होते थे। ऐसे में अनिल कपूर का खर्च सुनीता उठाया करती थीं। एक्ट्रेस प्रीति जिंटा के टॉक शो ‘अप क्लोज एंड पर्सनल विथ पीजे’ में अनिल कपूर ने बताया था कि उन दिनों जब वह सुनीता से मिलने जाया करते थे तो उनके जेब में किराए तक के पैसे नहीं होते थे, लेकिन उनका सारा खर्चा सुनीता उठाती थीं।

कैसे हुई इस प्यार की शुरुआत: 1980 के दशक में जब अनिल कपूर खुद को साबित करने के लिए फिल्म स्टूडियो के चक्कर काटा करते थे तभी उनकी प्रेम कहानी की शुरुआत हो गई थी। उस वक्त अनिल अपने घर से ऑडिशन के लिए निकले थे तब उनकी नजर एक लड़की पर पड़ी थी। पहली नजर में ही वह उस लड़की को दिल दे बैठे थे। वह लड़की कोई और नहीं बल्कि सुनीता ही थीं।

इसके बाद अनिल ने सुनीता का नंबर पाने की खूब कोशिशें कीं। एक दोस्त के जरिए उन्हें सुनीता का नंबर भी मिल गया था। फिर दोनों के बीच बातें शुरू हुईं और दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई। अनिल कपूर ने बताया था कि उनकी और सुनीता की लव स्टोरी एक प्रैंक कॉल के जरिए शुरू हुई थी। उन्होंने बताया था, ”मेरे एक दोस्त ने मुझे सुनीता का नंबर दिया था। उस वक्त जब मैंने पहली बार उनसे बात की मुझे उनकी आवाज से प्यार हो गया था। फिर जल्द ही हमारी मुलाकात एक पार्टी में हुई। फिर हम दोनों के बीच बातें शुरू हुई और हम दोस्त बन गए थे। मैं दूसरों से उसके बारे में बातें किया करता था कि मैं उसे पसंद करता हूं क्या वह भी मुझे पसंद करती है।”

कैसे बढ़ी आगे बात: अनिल कपूर हिंदी सिनेमा में अपनी किस्मत आजमाने का खूब ट्राय कर रहे थे। आखिरकार उनके लक ने उनका साथ देना शुरू किया और अनिल को फिल्म मिली-‘मेरी जंग’। इस फिल्म को साइन करने के बाद ही उन्होंने सुनीता को प्रपोज किया था। अनिल ने बताया था, ”मैंने उन्हें कॉल किया और कहा, चलो कल शादी कर लेते हैं और अगले दिन ही हम लोगों ने शादी कर ली।’

जब अकेले ही हनीमून पर निकल गईं सुनीता: अनिल ने आगे बताया कि ‘मैं शूट के सिलसिले में दिन तीन के बाहर था और मैडम मेरे बिना ही विदेश हनीमून के लिए चली गई थीं। लेकिन सच कहूं तो मुझे वह बहुत अच्छे से समझती हैं। हमने कई उतार-चढ़ावों को साथ देखा। तीन बच्चों की परवरिश साथ की। मुझे आज भी लगता है कि हम एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट